Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारतीय क्रिकेट के 5 अविस्मरणीय हीरो जिन्हें लोगों ने भुला दिया

Modified 02 Jan 2016
Advertisement

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट एक मायने में बड़ा ही निर्दयी भी होता है, जब किसी खिलाड़ी को उसके बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद चयनकर्ता उसे बाहर का रास्ता दिखा देते हैं। भारतीय क्रिकेट में ऐसे कई खिलाड़ी रहे हैं, जिन्होंने मैच जिताऊ प्रदर्शन किया है लेकिन उन्हें जल्द ही टीम से बाहर का रस्ता दिखा दिया गया। ऐसे तमाम अविस्मरणीय हीरो रहे हैं, जिन्हें शानदार प्रदर्शन का इनाम टीम से बाहर का रास्ता दिखाकर दिया गया है। आइये एक नजर डालते हैं, ऐसे ही 5 भुला दिए गये हीरोज पर:

#5 सदानंद विश्वनाथ

Sadanand-Vishwanath जिस तरह से धोनी ने एक ही सीरीज के बाद सफलता की सीढ़ी चढ़ गये थे, उसी तरह से वह भी 80 के दशक में काफी हिट हुए थे। किरमानी के 80 के दशक के बीच में टीम से बाहर होने के बाद किरण मोरे ने ये जिम्मेदारी 90 के दशक तक संभाली थी। उस समय चंद्रकांत पंडित भी विकेटकीपर के तौर पर आये थे जो एक विशेषज्ञ बल्लेबाज़ भी थे। लेकिन इन तीनों में जो सबसे अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज़ थे वह थे सदानंद विश्वनाथ। उनका वनडे और टेस्ट में क्रमशः 9 और 6.7 का औसत पूरी कहानी बयान कर देता है। उन्होंने 1984 में नागपुर टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 23 रन नाबाद बनाकर टीम को मैच जितवाने में अहम भूमिका निभाई थी। विश्वनाथ ने जब रवि शास्त्री का साथ दिया था, तब भारत का स्कोर 204 रन पर 7 विकेट था जबकि जीत के लिए 241 रन चाहिए थे। उन्होंने वर्ल्ड चैंपियनशिप में बहुत अच्छी विकेटकीपिंग भी की थी, जो ऑस्ट्रेलिया में 1985 में खेली गयी थी। टूर्नामेंट में भारतीय टीम की बल्लेबाज़ी अच्छी थी, जिस वजह से उन्हें बल्लेबाज़ी करने का मौका सिर्फ एक बार मिला था। लेकिन उन्होंने विकेट के पीछे 9 कैच 3 स्टंपिंग किए थे। एमसीजी में पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच में उन्होंने जिस तरह से शिवरामकृष्णन की गेंद पर जावेद मियांदाद को स्टंप किया था। वह आज भी यादगार है। गावस्कर ने "वन डे वंडर्स" में इस बात का जिक्र किया था कि अगर भारत ने वर्ल्ड चैंपियनशिप जीता था, तो उसकी वजह सदानंद विश्वनाथ का विकेट के पीछे होना था।
1 / 5 NEXT
Published 02 Jan 2016, 11:43 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now