Create
Notifications

टी-20 वर्ल्डकप के 6 सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड्स

मनोज तिवारी
visit

टी-20 वर्ल्डकप का ये भले ही छठा संस्करण हो, लेकिन इससे पहले के टूर्नामेंट में बहुत सारे यादगार रिकॉर्ड बन चुके हैं। जिसमें बहुत से ऐसे रिकार्ड्स हैं जो जिसपर खिलाड़ियों और टीमों को गर्व होता है। लेकिन कुछ ऐसे भी रिकॉर्ड हैं जिसे कोई भी नहीं पसंद नहीं करता है। ऐसे रिकार्ड्स को न तो खिलाड़ी पसंद करता है और न ही टीम, चाहे वह धीरे बल्लेबाजी या फिर महंगी गेंदबाज़ी का हो। टी-20 वर्ल्ड कप के काफी सारे शर्मनाक रिकॉर्ड्स हैं। यहाँ हम आज ऐसे ही टी-20 वर्ल्डकप से जुड़े 6 रिकार्ड्स के बारे में बता रहे हैं, जो बड़े ही शर्मनाक हैं:

#1 टीम का न्यूनतम स्कोर

t1

साल 2014 के टी-20 वर्ल्ड कप में नीदरलैंड ने श्रीलंका के खिलाफ मात्र 39 रन बनाये थे। ये स्कोर अभी तक का टी-20 वर्ल्ड कप में सबसे कम स्कोर है। श्रीलंका ने टॉस जीतकर डच टीम को बल्लेबाज़ी के लिए आमंत्रित किया था। 3.71 के औसत से डच टीम ने रन बनाए थे। जिसमें 5 खिलाड़ी जीरो पर आउट हुए थे। टॉम कूपर ही सिर्फ दोहरे अंक में पहुँच पाए थे।

#2 एक पारी में सबसे ज्यादा रन देने वाले गेंदबाज़

t2

टी-20 वर्ल्ड कप में अभी तक 4 गेंदबाजों ने 60 से अधिक रन लुटाये हैं। स्टुअर्ट ब्राड का नाम भी इसमें शामिल है। लेकिन ये रिकॉर्ड श्रीलंका के पूर्व कप्तान सनथ जयसूर्या के नाम है। साल 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ एफ ग्रुप में जयसूर्या का गेंदबाज़ी विश्लेषण 4-0-64-0 था। इस मैच में एक समय पाकिस्तान का स्कोर 49 पर 3 था। उसके बाद पाकिस्तान ने 189/6 का स्कोर खड़ा किया। यूनिस खान और मिस्बाह उल हक़ ने इस मैच में विशेष तौर पर जयसूर्या को निशाने पर रखा था।

#3 सबसे ज्यादा डक

t3

टी-20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा जीरो पर आउट होने का रिकॉर्ड दिलशान और शाहिद आफरीदी के नाम है। ये दोनों खिलाड़ी 5 बार जीरो पर आउट हुए हैं। शाहिद आफरीदी को लेकर किसी को इतना आश्चर्य नहीं होना चाहिए। क्योंकि वह जब मैदान पर जाते हैं तो वह तेज रन बनाते हैं या जीरो पर चलते बनते हैं। टी-20 वर्ल्डकप में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों में दिलशान तीसरे स्थान पर हैं। लेकिन उनके नाम 5 बार जीरो रन पर आउट होने का भी रिकॉर्ड है।

#4 एक पारी में सबसे खराब इकॉनमी रेट

t4

बीते लंबे समय से रविन्द्र जडेजा भारतीय टीम के नियमित सदस्य हैं। लेकिन साल 2010 के टी-20 वर्ल्ड कप में जडेजा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे ज्यादा इकोनोमिक गेंदबाज़ थे। भारत इस मैच में ऑस्ट्रेलिया से 49 रन से हार गया था। मैच में जब जडेजा अपना पहला ओवर करने आये तो शेन वाटसन ने उनके एक ओवर में 3 छक्के मारे थे। उसके बाद जब वह मैच का 10वां ओवर डालने आये तो डेविड वार्नर ने उन्हें 3 छक्के उड़ाए। ऐसे में जडेजा ने इस मैच में 2 ओवर में बिना विकेट लिए 38 रन लुटा दिए।

#5 सबसे महंगा ओवर

t5

टी-20 वर्ल्ड कप में सबसे महंगा ओवर अगर कोई है तो वह साल 2007 के टूर्नामेंट में स्टुअर्ट ब्राड का ओवर है। जिसमें युवराज सिंह ने सभी छह गेंदों पर छक्के जड़े थे। नए खिलाड़ियों और नए कप्तान से सजी भारतीय टीम के लिए पहले टी-20 वर्ल्ड में इस मैच से सबकुछ बदल गया था। इस मैच में जब युवराज सिंह बल्लेबाज़ी के लिए गये थे। तबतक भारत की शुरुआत काफी अच्छी हो गयी थी। लेकिन 200 का आंकड़ा छूना असंभव जैसा लग रहा था। लेकिन युवराज के 6 छक्कों ने पूरे मैच की तस्वीर ही बदल दी।

#6 किसी मैच की एक पारी में सबसे खराब स्ट्राइक रेट

t6

टी-20 ऐसा फॉर्मेट है जहाँ स्ट्राइक रेट का मतलब ही अब बदल गया है। इस प्रारूप के आने से पहले 80 का स्ट्राइक रेट अच्छा माना जाता था। लेकिन अब 100 से कम की स्ट्राइक रेट वाले खिलाड़ी को इस प्रारूप के लिए अच्छा नहीं समझा जाता है। साल 2014 के टी-20 वर्ल्डकप में अफगानिस्तान के बल्लेबाज़ सपूर जादरान के नाम सबसे खराब स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी करने का रिकॉर्ड है। बांग्लादेश के खिलाफ क्वालीफ़ायर मैच में सपूर ने 9.09 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी की थी। जो अब तक का टी-20 वर्ल्ड कप मैच में सबसे खराब रिकॉर्ड है। लेखक-श्रीहरी, अनुवादक-मनोज तिवारी

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now