Create
Notifications

खिलाड़ियों का आचरण सुधारने के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने नैतिक गुरु नियुक्त किया

Naveen Sharma

दक्षिण अफ्रीका में हुए बॉल टैम्परिंग मामले की गंभीरता को देखते हुए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने खेल संस्कृति की समीक्षा करने के लिए नैतिक गुरु की नियुक्ति की है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका में हुए घटना जैसी अन्य चीजें रोकने के लिए ऐसा किया गया है, इससे ऑस्ट्रेलिया की साख धूमिल हुई थी। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख डेविड पीवर ने कहा कि हम दर्शकों की भावनाओं को समझ सकते हैं और पूरी कोशिश करेंगे कि भविष्य में ऐसी घटनाएं न हों। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने साइमन लॉन्गस्टॉफ की नियुक्ति की है, जो मीडिया, प्रशासकों, खिलाड़ियों और प्रायोजकों से बातचीत कर सूझाव देंगे। गौरतलब है कि केपटाउन टेस्ट दौरान कैमरन बैन्क्रोफ्ट ने गेंद पर सैंड पेपर लगाकर वास्तविक स्थिति बिगाड़ने की कोशिश की थी। पकड़े जाने पर स्टीव स्मिथ ने इसे रणनीति का हिस्सा बताया था। इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्मिथ और वॉर्नर को एक साल के लिए निलंबित कर दिया था। दोनों अभी अपना प्रतिबंध झेल रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया की विश्वभर में साख खराब होने के कारण खेल को शर्मसार करने वाली घटनाओं को रोकने के लिए इस नैतिक गुरु जैसी नियुक्ति को सही ठहराया जा सकता है। क्रिकेट जगत और फैन्स में इससे एक अच्छा संदेश जाएगा।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...