Create
Notifications

क्या इस साल भारत में क्रिकेट मैचों का आयोजन हो पाएगा ?

चिन्नास्वामी स्टेडियम
चिन्नास्वामी स्टेडियम
सावन गुप्ता

भारत समेत पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना वायरस महामारी की चपेट में है। कोरोना के कारण भारत में इन दिनों लॉकडाउन चल रहा है। कोरोना वायरस के कारण आईपीएल को अनिश्चिक काल के लिए स्थगित किया जा चुका है। इसके अलावा भी दुनिया भर में सभी स्पोर्टिंग इवेंट कैंसिल हो चुके हैं। भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है और हाल-फिलहाल में हालात सामन्य होने की उम्मीद काफी कम है।

ऐसे में सवाल ये है कि क्या इस साल क्रिकेट का आयोजन हो पाएगा। भारत में आखिरी बार जनवरी में किसी क्रिकेट सीरीज का आयोजन हुआ था। श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत ने सीरीज खेली थी। उसके बाद से इस साल यहां पर एक भी सीरीज का आयोजन नहीं हुआ। दक्षिण अफ्रीका की टीम जरुर वनडे सीरीज के लिए भारत दौरे पर आई थी लेकिन पहला मुकाबला धर्मशाला में बारिश के कारण धुल गया था। उसके बाद कोरोना वायरस का प्रकोप ज्यादा बढ़ने लगा और प्रोटियाज टीम को वापस स्वदेश लौटना पड़ा। तो क्या हम मानकर चलें कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज, भारत में इस साल की आखिरी वनडे सीरीज साबित होगी ?

ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि देश में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। हर दिन 1000 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। भले ही अभी लॉकडाउन है लेकिन कोरोना के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसे में ये मानकर चला जा रहा है कि हालात पर पूरी तरह काबू पाने के लिए अभी काफी वक्त लग सकता है। अगर लॉकडाउन खत्म भी हो जाता है, तब भी किसी भी जगह पर भीड़ इकट्टा होने या फिर किसी ऐसे इवेंट की अनुमति नहीं दी जाएगी जिससे लोगों का हुजूम एक जगह जमा हो।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि क्रिकेट को भारत में कितना पसंद किया जाता है। ऐसे में अगर भारत में क्रिकेट का आयोजन किया गया तो बड़ी संख्या में फैंस उसे देखने आ सकते हैं। अगर बंद दरवाजे के पीछे भी आयोजन हो तब भी स्टेडियम के बाहर, एयरपोर्ट या होटल के बाहर लोगों के इकट्ठा होने की आशंका रहेगी। इसी वजह से सरकार इस तरह का कोई भी रिस्क नहीं उठाना चाहेगी।

बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने भी बयान दिया है कि हाल-फिलहाल में मैचों का आयोजन संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि जब लोगों की जिंदगी दांव पर लगी हो, तब क्रिकेट का सवाल ही नहीं उठता है। इसके अलावा एक और दिग्गज हरभजन सिंह ने भी इस मामले पर अपनी राय रखी है। उन्होंने कहा है कि जब भी आईपीएल की कोई टीम ट्रैवल करती है, तो एयरपोर्ट, होटल और स्टेडियम के बाहर फैंस काफी संख्या में इकट्ठे हो जाते हैं। ऐसे में आप किस तरह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर पाएंगे। हरभजन ने कहा कि जब तक कोविड-10 की वैक्सीन ना आ जाए तब तक क्रिकेट का आयोजन कराना ठीक नहीं है।

भारत में जिस तेजी से मामले बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि इसे ठीक होने में काफी वक्त लगेगा। अगर कोरोना के मामले बिल्कुल खत्म भी हो जाएं, तब भी किसी जगह पर इकट्ठा होने या फिर किसी स्पोर्टिंग इवेंट की इजाजत मिलना काफी मुश्किल है। ऐसे में हम कह सकते हैं कि शायद ही इस साल देश में क्रिकेट का आयोजन हो पाए।


Edited by सावन गुप्ता

Comments

Fetching more content...