ट्विटर पर प्रतिक्रिया के कारण डैरेन ब्रावो जिम्बाब्वे त्रिकोणीय सीरीज में वेस्टइंडीज टीम से बाहर

वेस्टइंडीज के बल्लेबाज डैरेन ब्रावो को अनुचित व अस्वीकार्य बर्ताव के कारण जिम्बाब्वे के खिलाफ होने वाली त्रिकोणीय सीरीज से पहले वापस घर भेज दिया गया है। इस त्रिकोणीय सीरीज की तीसरी टीम श्रीलंका है। ब्रावो को टीम से बाहर का रास्ता दिखाने के बाद ऑल राउंडर जेसन मोहम्मद को टीम में शामिल किया गया है। ब्रावो को वेस्टइंडीज बोर्ड से 'सी' ग्रेड अनुबंध मिला था जिसे लेने से इस खब्बू बल्लेबाज ने इन्कार कर दिया था। इंडीज बोर्ड के अध्यक्ष डेव कैमरून द्वारा ब्रावो को 'सी' ग्रेड में रखने का कारण बताने के बाद ब्रावो ने ट्विटर पर गुस्सा दिखाया। वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के अनुसार "ब्रावो को अनुचित और अस्वीकार्य बर्ताव के कारण टीम से बाहर किया गया है। यह अनुबंध के दायित्व के विपरीत है।" वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के अनुसार "आप वेस्टइंडीज क्रिकेट या उसके किसी अधिकारी के खिलाफ सोशल मीडिया, सार्वजनिक स्थान और मीडिया में किसी तरह का बयान नहीं दे सकते जिससे क्रिकेट की प्रतिष्ठा में गिरावट हो।" जैसा भी हो लेकिन कैमरून के कारण को न्यायोचित नहीं कहा जा सकता क्योंकि ब्रावो पिछले कुछ वर्षों से वेस्टइंडीज क्रिकेट के निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी रहे हैं। हाल ही में UAE दौरे पर भी ब्रेथवैट के बाद ब्रावो ही सबसे अधिक स्कोर करने वाले बल्लेबाज थे। कैमरून ने कहा कि 'ए' श्रेणी का अनुबंध निरंतर रखने से अच्छा करने की प्रेरणा कैसे मिलेगी। उन्हे 'ए' ग्रेड में रखा गया था लेकिन उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा।" ब्रावो के फॉर्म को देखते हुए कैमरुन की यह बातें न्यायोचित नजर नहीं आती। इंडीज क्रिकेट बोर्ड ने कहा कि पारिवारिक कारणों से स्पिनर सुनील नारायण के बाहर होने के बाद उनकी जगह टीम में देवेन्द्र बिशु को शामिल किया गया है। बिशु टेस्ट क्रिकेट में शानदार गेंदबाज रहे हैं तथा अब सीमित ओवर में भी विकेट लेने के लिए आतुर होंगे। जिम्बाब्वे में त्रिकोणीय सीरीज 14 नवंबर से शुरू होगी लेकिन वेस्टइंडीज अपना पहला मैच 16 नवंबर को खेलेगी।

Edited by Staff Editor