Create
Notifications

श्रीलंका में कम स्कोर वाले मैचों से डेविड वॉर्नर नाखुश

निशांत द्रविड़

5 एकदिवसीय मैचों की सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त लेने के बाद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान डेविड वॉर्नर ने श्रीलंका के पिचों की बुराई की है। उन्होंने कहा कि पिचों के कारण बल्लेबाज रन नहीं बना पा रहे हैं। श्रीलंका के खिलाफ चौथा एकदिवसीय 6 विकेट से जीतने के बाद वॉर्नर ने अपनी टीम की तारीफ़ भी की है। वॉर्नर फ़िलहाल स्टीवन स्मिथ की जगह कप्तानी कर रहे हैं। श्रीलंका को 212 रनों पर ऑल आउट करने के बाद ऑस्ट्रेलिया के लिए आरोन फिंच ने 18 गेंदों में अर्धशतक बनाकर जबरदस्त शुरुआत की। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से उन्होंने ग्लेन मैक्सवेल के सबसे तेज़ अर्धशतक बनाने के रिकॉर्ड को बराबर किया। इसके बाद जॉर्ज बेली ने 90 रन बनाकर टीम को जीत तक पहुंचा दिया। हालाँकि टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 3-0 से करारी हर का सामना पड़ा था और वॉर्नर ने कहा कि पिच एकदिवसीय क्रिकेट के लिए अनुकूल नहीं हैं। वॉर्नर ने कहा," अगर पिच ऐसी रही तो बल्लेबाजी करना मुश्किल हो जाता है। ये हमारे नज़रिए से सही नहीं हैं, क्योंकि हम इस तरह की क्रिकेट खेलना पसंद नहीं करते हैं। हम आक्रामक क्रिकेट खेलते हैं और दर्शकों को मनोरंजन प्रदान करते हैं।" वॉर्नर ने इसके अलावा अपने साथी आरोन फिंच की भी तारीफ करते हुए कहा कि फिंच जिस तरह खेलते हैं, उन्हें देखना काफी मजेदार होता है। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी इसी तरह खेलते हैं। इंग्लैंड ने तीसरे एकदिवसीय में पाकिस्तान के खिलाफ 444 रनों का विश्व रिकॉर्ड बनाया, वहीँ श्रीलंका की पिचों पर दोनों पारियों को मिलाकर इतने रन नहीं बन रहे हैं। " इंग्लैंड में जैसा मैच हुआ, क्रिकेट में मुझे वही पसंद है। जैसा माहौल बड़े स्कोर वाले मुकाबले में रहता है, उसी वजह से बचपन में मैं क्रिकेट देखता था। लेकिन जैसे मैच श्रीलंका में हो रहे हैं, उससे दर्शकों को आकर्षित करना मुश्किल होता है।" - वॉर्नर ने आगे कहा। वैसे अब ये लग रहा है कि एकदिवसीय की नंबर 1 टीम श्रीलंका के कंडीशन की आदि हो गई है और एक मैच रहते ही उन्होंने सीरीज पर कब्ज़ा कर लिया है।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...