Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

ग्लोबल टी20 कनाडा, 2018: डेविड वॉर्नर करेंगे विनिपेग हॉक्स की कप्तानी, ड्वेन ब्रावो ने बीच में छोड़ा टूर्नामेंट

SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 20:22 IST

बॉल टैंपरिंग की वजह एक साल का बैन झेल रहे ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर एक बार फिर से कप्तानी करने को तैयार हैं। उन्हें ग्लोबल कनाडा टी20 टूर्नामेंट में विनिपेग हॉक्स का कप्तान बनाया गया है। पहले वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो इस टीम के कप्तान थे लेकिन 3 मैचों के बाद उन्होंने टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया है।

ड्वेन ब्रावो की कप्तानी में विनिपेग हॉक्स ने अभी तक 3 में से 2 मैच जीते हैं लेकिन अब उनके टूर्नामेंट से हटने के बाद डेविड वॉर्नर को टीम की कमान सौंपी गई है। हॉक्स के कोच वकार यूनिस ने डेविड वॉर्नर को कप्तान बनाए जाने पर खुशी जताई और कहा कि टीम को वॉर्नर के अनुभव का पूरा फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि वॉर्नर एक जबरदस्त कप्तान हैं। वो टीम को साथ लेकर चलते हैं। मैंने उनको आईपीएल में कप्तानी करते हुए देखा है और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए उन्होंने बेहतरीन कप्तानी की। वकार ने कहा कि वॉर्नर एक अच्छे कप्तान साबित होने वाले हैं।

गौरतलब है बॉल टैंपरिंग की घटना के बाद डेविड वॉर्नर पर एक साल के लिए बैन लगा दिया गया था। साथ ही क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने ये भी कहा था कि वॉर्नर को कभी भी राष्ट्रीय टीम की कप्तानी नहीं मिलेगी। हालांकि उसके बाद उन्होंने ग्लोबल टी20 कनाडा टूर्नामेंट से क्रिकेट के मैदान पर वापसी की और अब कप्तानी की जिम्मेदारी भी उन्हें मिल गई है। टूर्नामेंट में अभी तक उनका प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं रहा है लेकिन कप्तानी मिलने के बाद वो खतरनाक खिलाड़ी साबित हो सकते हैं। 2016 के सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हीं की कप्तानी में अपना पहला आईपीएल खिताब जीता था। इसके अलावा वॉर्नर ने बल्ले से भी खूब रन बनाए थे, वो टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों में से एक थे। देखना है कि इस प्रतियोगिता में वो अपनी टीम को कहां तक ले जा पाते हैं।

Published 04 Jul 2018, 11:54 IST
Advertisement
Fetching more content...