Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

डेविड वॉर्नर ने धमाकेदार शतक लगाकर टीम को दिलाई जीत

FEATURED WRITER
न्यूज़
1.07K   //    23 Sep 2018, 14:25 IST

Enter cap

बॉल टैम्परिंग मामले में प्रतिबन्ध के बाद स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर ने पहली बार ऑस्ट्रेलियाई धरती पर क्रिकेट खेलते हुए बेहतरीन बल्लेबाजी की। प्रीमियर क्रिकेट में स्मिथ ने अपनी टीम सदरलैंड के लिए अर्धशतक जमाया। डेविड वॉर्नर ने शानदार शतक लगाते हुए 155 रनों की पारी खेली।

डेविड वॉर्नर ने शतक बनाने के बाद अपना पुराना अंदाज दिखाते हुए हवा में उछलकर दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया। न्यू साउथवेल्स के खिलाफ रेंडविक पीटरशैम के लिए बल्लेबाजी करते हुए वॉर्नर ने यह सैकड़ा जमाया। उनकी टीम 278 रनों का पीछा कर रही थी जिसे हासिल करने में इस बाएं हाथ के बल्लेबाज ने अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

स्टीव स्मिथ अपना शतक बनाने से चूक गए। एक रिपोर्ट के अनुसार जब स्मिथ बल्लेबाजी करने के लिए आए तब दर्शकों ने गर्मजोशी से तालियों की गड़गड़ाहट के बीच उनका स्वागत किया। बल्लेबाजी कर वापस पवेलियन लौटते हुए भी दर्शकों ने कुछ ऐसा ही किया।

गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच में बॉल टैम्परिंग के अपराध में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दोनों खिलाड़ियों को 1 साल के लिए निलम्बित किया है। अभी यह प्रतिबन्ध चल रहा है। यह पहला मौका है जब स्मिथ और वॉर्नर ने ऑस्ट्रेलिया के किसी घरेलू टूर्नामेंट में भाग लिया है। हालाँकि निलम्बन के बाद वे कनाडा की ती20 लीग में खेल चुके हैं।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा प्रतिबन्ध लगाए जाने के बाद इन्हें बीसीसीआई ने आईपीएल में खेलने की इजाजत भी नहीं दी थी। वॉर्नर की अनुपस्थिति में आईपीएल के दौरान सनराइजर्स हैदराबाद की कप्तानी केन विलियमसन ने संभाली थी। राजस्थान रॉयल्स का कप्तान अजिंक्य रहाणे को बनाया गया था।

अगले साल होने वाले आईसीसी विश्वकप से पहले इन दोनों ऑस्ट्रेलियाई दिग्गजों का निलंबन समाप्त हो जाएगा तब ये अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर सकेंगे। उनके आने से कंगारू टीम भी मजबूती के साथ मैदान पर दिखेगी और दावेदारी भी प्रभावशाली होगी।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...