Create
Notifications

कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी की डीआरएस को लेकर हुई चूक का भारतीय टीम ने भुगता खामियाजा

सावन गुप्ता

क्रिकेट में डीआरएस का मतलब 'डिसीजन रिव्यू सिस्टम' होता है लेकिन भारतीय क्रिकेट फैंस इसे ' धोनी रिव्यू सिस्टम' कहते आए हैं। क्योंकि बल्लेबाज आउट है या नहीं ये धोनी को अच्छे से पता होता है। उनकी अपील का मतलब होता है कि बल्लेबाज को वापस पवेलियन लौटना पड़ेगा और उन्होंने अगर अनमने या आधे-अधूरे ढंग से अपील की तो इसका मतलब ये कि बल्लेबाज आउट नहीं है। कई बार कप्तान विराट कोहली मैच के दौरान धोनी से पूछकर ही डीआरएस लेते हैं। हालांकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुवाहाटी में खेले जा रहे दूसरे टी20 मैच के दौरान धोनी जज करने में चूक गए जिसका खामियाजा भारतीय टीम को भुगतना पड़ा और टीम 8 विकेट से मैच हार गई है। 5वें ओवर में धोनी के मना करने पर कप्तान कोहली ने डीआरएस नहीं लिया और मोएसिस हेनरिक्स ने नाबाद 62 रनों की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिला दी। दरअसल 119 रनों के छोटे से लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम ने सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर और आरोन फिंच का विकेट जल्दी गंवा दिया। इससे ऑस्ट्रेलियाई टीम दबाव में आ गई। तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार अपनी बेहतरीन आउट स्विंग से नए बल्लेबाज मोएसिस हेनरिक्स को लगातार परेशान कर रहे थे। 5वें ओवर की 5वीं गेंद पर भुवनेश्वर कुमार ने हेनरिक्स को एक फुलर लेंथ की गेंद डाली जो कि ऑफ स्टंप के करीब से होकर जा रही थी। कुमार की इस खूबसूरत गेंद ने हेनरिक्स को खेलने को मजबूर कर दिया और गेंद उनके बल्ले का हल्का सा किनारा लेकर धोनी के दस्तानों में समा गई। भुवनेश्वर कुमार समेत विराट कोहली ने जोरदार अपील की लेकिन अंपायर ने नकार दिया। इसके बाद रिव्यू लेने के लिए कोहली ने धोनी की तरफ देखा तो उन्होंने इशारा किया कि उन्हे ठीक तरह से नहीं पता है कि गेंद बल्ले को लगी है या नहीं। इसके बाद कोहली ने रिव्यू नहीं लिया और हेनरिक्स ने 62 रन बनाकर टीम को मैच जिता दिया। 4916e-1507652281-800 b1aae-1507652314-800 बाद में रीप्ले में साफ दिख रहा था की गेंद बल्ले का हल्का सा किनारा लेकर गई है। अगर हेनरिक्स यहां आउट हो जाते तो ऑस्ट्रेलियाई टीम पर और दबाव आ जाता और दबाव में टीम बिखर भी सकती थी। इससे भारत के मैच जीतने के चांस बढ़ जाते।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...