5 भारतीय खिलाड़ियों के करियर पर लटकी तलवार

ज़िम्बाब्वे टूर के चुनी गई टीम में जहां विराट कोहली और रोहित शर्मा को आराम दिया गया हैं। तो वहीं टीम में कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिनका भविष्य अभी तय नहीं है। यह किसी को भी नहीं पता कि वो खिलाड़ी ड्रॉप हैं या उन्हें आराम दिया गया हैं। वर्ल्ड टी20 की चुनी गई टीम में से 6 खिलाड़ी ऐसे भी है- युवराज सिंह, हार्दिक पांड्या, आशीष नेहरा, हरभजन सिंह, सुरेश रैना और पावन नेगी जिन्हें ना ही ज़िम्बाब्वे टूर के लिए चुना गया है और ना ही वेस्ट इंडीज टूर के लिए टीम में जगह मिली हैं। आशीष नेहरा जोकि घुटने की चोट के कारण टीम से बाहर है, जिनकी हाल ही में सर्जरी हुई है और वो तेज़ी से रिकवर भी कर रहें है। नेहरा का जल्द क्रिकेट में वापसी करना मुश्किल ही लग रहा है। इस अनुभवी गेंदबाज की हालिया फॉर्म को देखे तो उनका फिट होते ही टीम में वापिस आना तय है। बाकी 5 खिलाड़ियो के बारे में बोल पाना मुश्किल हैं। बीसीसीआई सूत्रों की माने तो हार्दिक पांड्या और पवन नेगी को इस साल के आईपीएल में खराब प्रदर्शन के कारण टीम में नहीं चुना गया हैं। पांड्या जिन्होंने पिछले साल की तुलना में मुंबई इंडियंस को खासा निराश किया। वो इस साल 11 मुकाबलों में महज 44 रन और सिर्फ तीन विकटे ही ले पाये। वहीं बात करे पवन नेगी की जिसे दिल्ली डेयरडेविल्स ने इस साल नीलामी में 8.50 करोड़ में खरीदा था, उनहोंने दिल्ली की उम्मीदों पर पानी फेरते हुए इस साल सिर्फ 57 रन ही बनाए और मात्र एक विकेट अपने नाम किया। एक सूत्र का यह भी कहना है, "आईपीएल भारत का एक प्रमुख डोमेस्टिक टूर्नामेंटस में से एक हैं और 14 मैच काफी होते हैं अपना टैलंट दिखाने के लिए। इससे यह बात भी साफ हो जाती है कि अगर आप इस स्टेज पर अच्छा करते हैं तो आप टीम में चुने जा सकते और अगर आप अच्छा नहीं करते तो टीम से बाहर भी हो सकते है"। सूत्र का यह भी कहना था, "आईपीएल ही एक मात्र जरिया नहीं था ज़िम्बाब्वे टूर के लिए टीम चुने जाने का, पर हम इसे इंडिया-A के टूर के हिसाब से देख रहें है। हमने उन खिलाड़ियो को भी मौका दिया हैं जिन्होंने हाल ही में अच्छा प्रदर्शन किया हैं। फैज फज़ल और केदार जाधव उन्हीं खिलाड़ियो में से जिनका चयन आईपीएल के तर्ज़ पर नहीं बल्कि उनके घरेलू टूर्नामेंट की फॉर्म को देखते हुए किया गया हैं"। 'हार्दिक और नेगी अभी भी चयनकर्ताओं की नजर में' हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह उन दो युवा खिलाड़ियों में से जिन्होंने इस साल क्रिकेट के छोटे प्रारूप में डैब्यू किया। बुमराह जहां टीम में अपनी जगह कायम रखी वहीं। पांड्या को टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया। सूत्र ने पांड्या को टीम से बाहर करने का कारण बताते हुए कहा उन्हें अभी मानसिक रूप से और मजबूत होने की जरूरत है। "हार्दिक के पास अच्छा ऑलराउंडर बनने के सारे गुण है, पर ज़रूरत है तो बस उसपर थोड़ा काम करने की। पांड्या की फॉर्म इतना बड़ी बात नहीं जितनी बड़ी बात यह है की उसने अपने ऊपर बहुत प्रैशर ले लिया है। उसने 14 मैचों से प्ररफॉर्म नहीं किया यानि 45-50 दिन से। अगर उसे भारत के लिए खेलना है तो मानसिक तौर पर मजबूत होना ही पड़ेगा"। नेगी और पांड्या दोनों अभी युवा हैं, उम्र उनके साथ है वो अभी सिर्फ 22-23 साल के ही हैं। अभी उनके लिए टीम के दरवाजे बंद नहीं हुए है, अगर वो अच्छा करेंगे तो टीम में उनके लिए दोबारा विचार किया जाएगा। अगर आप गेम से थोड़े समय दूर रहेंगे तो खुद को बेहतर तरीके से समझ सकते है। एक बार जब आप अपने देश के लिए खेल लेते हैं तो आपका पता होता है की अच्छा करने के लिए किस चीज़ की जरूरत होती है। फ्युचर टीम की तरफ ज्यादा ध्यान इन सब में से तीन अनुभवी खिलाड़ी ऐसे भी हैं- युवराज सिंह, सुरेश रैना और हरभजन सिंह जिनके करियर पर तलवार लटक गयी हैं। इस साल आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद उनका टीम में ना चुना जाना क्या उनके करियर का अंत तो नहीं? रैना का टीम ना चुने जाने काफी चौंकाने वाला था, उनहोंने गुजरात लायंस की कप्तानी करते हुए काफी प्रभावित किया साथ तक 397 रन भी बना चुके है। रैना के बारे में सिलेक्टर्स ने कुछ भी नहीं कहा, लेकिन युवराज और हरभजन के लिए सिलेक्टर्स बुरी खबर लेकर आए हैं। इन दोनों खिलाड़ियो के करियर के अंत के बारे में पूछने पर उनहोंने कहा, सिलेक्टर्स कोई नहीं होते यह बताने वाले की कौनसा खिलाड़ी कब रिटायर होगा। हमारा काम बस प्रदर्शन के दम पर टीम चुनना हैं। हरभजन और यूवी को टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में चुना गया था। पर हम अब फ्युचर के लिए टीम बना रहें और इसका मतलब यह नहीं की यह खिलाड़ी टीम में न चुने जाए। इस बार प्रैस कॉन्फ्रेंस में एक चीज़ और अलग देखने को मिली वो थी की नए नए बीसीसीआई सेक्रेटरी बने अजय शिरके का विराट कोहली को ज़िम्बाबवे दौरे के लिए टीम न चुने के सवाल पर आक्रामक तरीके से जवाब देना। शिरके ने कहा, "इस चीज़ को किसी दूसरी तरीके से ना देखा जाए, वो हमारे बड़े खिलाड़ियो में से एक है। अगर उन्हें आईपीएल के बीच में कोई मेडिकल प्रोब्लम है तो मेडिकल टीम ने उन्हें सलाह दी होगी। इसको इस तरीके से ना देखा जाए की विराट आईपीएल के लिए फिट है और इंडिया खेलने के लिए अनफिट"। लेखक- दीपांकर लहीरी, अनुवादक- मयंक महता

Edited by Staff Editor