COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

ENG v IND: मैनचेस्टर में मात देने के बाद अब टीम इंडिया की नज़र है कार्डिफ़ में कमाल करने पर

Sheen Naqwi
ANALYST
18   //    06 Jul 2018, 15:00 IST

भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड दौरे की शुरुआत मैनचेस्टर में रिकॉर्ड जीत के साथ करेगी, इसका अंदाज़ा शायद ही किसी ने लगाया होगा। लेकिन कोहली एंड कंपनी के इरादे कुछ और हैं, जिसकी तो बस अभी शुरुआत है। 3 मैचों की टी20 सीरीज़ के पहले मुक़ाबले में इंग्लैंड को 8 विकेट से काररी शिकस्त देने के बाद अब भारतीय शेर आ पहुंचे हैं कार्डिफ़, जहां आज रात 10 बजे से खेला जाएगा दूसरा टी20 मुक़ाबला।

 

कुलदीप के ख़ौफ़ के बाद इंग्लैंड ने ली ‘मर्लिन’ की मदद




 

मैनचेस्टर में कुलदीप यादव की फिरकी के सामने अंग्रेज़ों ने पूरी तरह से घुटने टेक दिए थे, कुलदीप की कौन सी गेंद अंदर आ रही है कौन सी बाहर जा रही है इसका अंदाज़ा लगा पाना अंग्रेज़ों के बस से बाहर था। स्पिन के ख़िलाफ़ इंग्लिश बल्लेबाज़ों का ये हाल देखकर पूरे क्रिकेट जगत में उनकी किरकिरी हुई है, जिसके बाद कार्डिफ़ के मुक़ाबले से पहले उन्होंने मर्लिन की मदद ली है। मर्लिन एक बॉलिंग मशीन है जिसमें जिस तरह की गेंदबाज़ी फ़ीड कर दी जाए, बल्लेबाज़ को अभ्यास के लिए वही गेंद आती है। लेकिन सवाल ये है कि नेट्स पर बॉलिंग मशीन में चाइनामैन गेंदबाज़ी खेल लेने से पिच पर कुलदीप को समझने में क़ामयाब हो जाएंगे मेज़बान बल्लेबाज़ ?

 

क्या नंबर-4 की समस्या पर लग गया विराम ?




 

केएल राहुल ने लगातार दो अंतर्राष्ट्रीय टी20 पारियों में 50+ का आंकड़ा पार किया है, मैनचेस्टर में राहुल ने शतक लगा डाला। आयरलैंड के ख़िलाफ़ डबलिन में तो राहुल ने सलामी बल्लेबाज़ की भूमिका निभाई थी, लेकिन मैनेचेस्टर में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ उन्हें नंबर-3 पर मौक़ा मिला जिसपर उन्होंने चौका ही नहीं कई छक्का भी लगाया। इसके बाद अब ये साफ़ हो गया है कि कुछ समय तक को इस स्थान पर राहुल ही आएंगे और उनके लिए कप्तान विराट कोहली ने अब ख़ुद को नंबर-4 पर ले जाएंगे। जिसका मतलब ये माना जा सकता है कि लंबे अर्से से चली आ रही नंबर-4 की समस्या पर अब विराम लग गया है।

 

सुरेश रैना या दिनेश कार्तिक ?




 

एक सवाल जो सभी को परेशान कर रहा है वह ये कि इन फ़ॉर्म दिनेश कार्तिक आख़िर प्लेइंग-XI का हिस्सा क्यों नहीं हैं। उनकी जगह पिछले मैच में भी सुरेश रैना को आज़माया गया और जब राहुल ने भी अपना स्थान पक्का कर लिया है तो फिर कार्तिक के लिए अंतिम-11 में आने का रास्ता सुरेश रैना को बाहर कर सकता है। हालांकि टीम मैनेजमेंट रैना पर ज़्यादा भरोसा जता रही है, उसकी वजह है रैना के रूप में छठा गेंदबाज़ी विकल्प। भारतीय टीम फ़िलहाल 4 विशेषज्ञ गेंदबाज़ और पांचवें गेंदबाज़ के रूप में हार्दिक पांड्या को अंतिम एकादश में रखती है, लेकिन अगर जिस दिन पांड्या या किसी एक गेंदबाज़ का दिन ख़राब हुआ तो फिर रैना को गेंदबाज़ी में आज़माया जा सकता है। यही वजह है कि कार्तिक के ऊपर फ़िलहाल रैना को तवज्जो मिल रहा है और उन्होंने भी आयरलैंड के ख़िलाफ़ अर्धशतकीय पारी खेलकर इसे सही साबित किया है।

 

कार्डिफ़ में अंग्रेज़ों के आंकड़ें हैं कमाल




 

भारत ने मैनचेस्टर में जीत दर्ज करते हुए तो एक इतिहास रच डाला था क्योंकि वह पहला मौक़ा था जब टीम इंडिया को इंग्लिश सरज़मीं पर टी20 अंतर्राष्ट्रीय में जीत मिली थी। और अब कार्डिफ़ में भी अगर कोहली एंड कंपनी कमाल करती है तो फिर इतिहास रचा जाएगा। कार्डिफ़ के इस मैदान पर अंग्रेज़ों ने अब तक 4 टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेले हैं और सभी में ही मेज़बानों को जीत मिली है। दूसरी तरफ़ टीम इंडिया भी पिछले 7 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों से लगातार जीतती आ रही है। वैसे एक आंकड़ा ये भी है कि रोहित शर्मा टी20 अंतर्राष्ट्रीय में 2000 रन पूरा करने से सिर्फ़ 19 रन पीछे हैं।

 

पिच का पेंच और मौसम का मिज़ाज




 

इंग्लैंड में मैच होता है तो एक चीज़ जो सबसे आम रहती है वह है बारिश और बादलों का साया। लेकिन फ़िलहाल इंग्लैंड में न बारिश की संभावना है और न ही मैच में बादलों का साया होगा, जिसका मतलब ये हुआ कि पिच सूखी है। और कार्डिफ़ की पिच ऐसे भी इंग्लैंड में सबसे ज़्यादा स्पिन फ़्रेंडली मानी जाती है, मतलब अपने ही घर में ‘’कुलचा’’ (कुलदीप और चहल) के सामने  अंग्रेज़ों की एक और परीक्षा।

 

इंग्लैंड और भारत की संभावित एकादश पर एक नज़र




 

भारत संभावित-XI: रोहित शर्मा, शिखर धवन, केएल राहुल, विराट कोहली, सुरेश रैना, एम एस धोनी, हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, उमेश यादव और युज़वेंद्र चहल

इंग्लैंड संभावित-XI: जोस बटलर, जेसन रॉय, एलेक्स हेल्स, जो रूट, जॉनी बेयरस्टो, इयोन मोर्गन, मोइन अली, डेविड विली, क्रिस जोर्डन, लियाम प्लंकेट और आदिल राशिद

 

Sheen Naqwi
ANALYST
खेल और फ़िल्म का कीड़ा...
Advertisement
Fetching more content...