Create
Notifications

3 खिलाड़ी जो चौथे टेस्ट में अजिंक्य रहाणे को रिप्लेस कर सकते हैं 

अजिंक्य रहाणे का पिछले कुछ टेस्ट मैचों में निराशाजनक प्रदर्शन रहा है
अजिंक्य रहाणे का पिछले कुछ टेस्ट मैचों में निराशाजनक प्रदर्शन रहा है
ANALYST

हेडिंग्ले टेस्ट (ENG vs IND) में इंग्लैंड के खिलाफ मिली करारी हार के बाद भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के कई खिलाड़ी सवालों के घेरे में आ गए हैं और उन खिलाड़ियों में भारतीय टेस्ट उप कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) का भी नाम शामिल है। भारत के उप कप्तान की जिम्मेदारी निभाने वाले अजिंक्य रहाणे का बल्ला पिछले काफी समय से खामोश रहा है। रहाणे ने अपनी आखिरी शतकीय पारी मेलबर्न टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली थी। इसके बाद से उनके बल्ले से महज दो अर्धशतक देखने को मिले हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा सीरीज के तीन मैचों में रहाणे ने महज 19 की औसत से 95 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने मात्र एक अर्धशतक लगाया है जो कि लॉर्ड्स टेस्ट की तीसरी पारी में आया था। हेडिंग्ले टेस्ट के चौथे दिन भारत को अपने अनुभवी बल्लेबाज से शानदार बल्लेबाजी की उम्मीद थी लेकिन रहाणे ने सभी को निराश करते हुए महज 10 रन बनाए और जेम्स एंडरसन का शिकार बने।

देखा जाए तो रहाणे पिछले काफी समय से भारतीय टीम के साथ बने हुए हैं और उन्हें लगातार मौके भी मिल रहे हैं लेकिन वह इन मौकों को भुना नहीं पा रहे हैं। ऐसे में भारतीय स्क्वॉड में शामिल अन्य खिलाड़ियों पर नजर डालें तो कई बल्लेबाज ऐसे हैं जो अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं और खुद को साबित करना चाहते हैं। ऐसे में इस आर्टिकल में हम उन तीन खिलाड़ियों का जिक्र करने जा रहे हैं, जिन्हें अजिंक्य रहाणे की जगह ओवल टेस्ट में खिलाया जा सकता है।

3 खिलाड़ी जो चौथे टेस्ट में अजिंक्य रहाणे को रिप्लेस कर सकते हैं

#3 मयंक अग्रवाल

मयंक अग्रवाल मौजूदा सीरीज के शुरू होने से पहले चोटिल हो गए थे
मयंक अग्रवाल मौजूदा सीरीज के शुरू होने से पहले चोटिल हो गए थे

मयंक अग्रवाल वैसे तो भारतीय टेस्ट टीम में ओपनिंग के लिए जाने जाते हैं और इंग्लैंड दौरे पर भी वह बतौर ओपनर ही शामिल किये गए थे लेकिन अभ्यास सत्र के दौरान उनको चोट लग गई। इसके बाद उनकी जगह प्लेइंग XI में केएल राहुल को मौका मिल गया। केएल राहुल ने बतौर ओपनर जबरदस्त प्रदर्शन किया और मयंक अग्रवाल की वापसी को मुश्किल बना दिया।

ऐसे में अगर टीम इंडिया चाहे तो अग्रवाल जैसे प्रतिभाशाली बल्लेबाज को मध्यक्रम में खिलाकर मौका दे सकती है। मयंक अग्रवाल ने अपने टेस्ट करियर में अभी तक केवल दो ही बार मध्यक्रम में बल्लेबाजी की है लेकिन अगर उन्हें मध्यक्रम में मौका दिया जाए तो वह अच्छा करने की काबिलियत रखते हैं।

1 / 2 NEXT
Edited by Prashant Kumar
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now