एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय का सबसे बड़ा स्कोर बनाने के बाद इंग्लैंड ने तीसरे एकदिवसीय में पाकिस्तान को दी मात

ट्रेंट ब्रिज में खेले गए तीसरे एकदिवसीय में इंग्लैंड ने पाकिस्तान को 169 रनों से बुरी तरह हरा दिया। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आज एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का सबसे बड़ा स्कोर खड़ा किया था और श्रीलंका के 443 रनों के रिकॉर्ड को तोड़ा। एलेक्स हेल्स के बेहतरीन 171 रनों की बदौलत इंग्लैंड ने 444/3 का स्कोर बनाया, जिसके जवाब में पाकिस्तान सिर्फ 275 रन ही बना सकी। एलेक्स हेल्स इंग्लैंड की तरफ से एकदिवसीय में सर्वाधिक स्कोर बनाने वाले बल्लेबाज बन गये हैं और उन्होंने 1993 में रॉबिन स्मिथ द्वारा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाये गए 167 रनों के रिकॉर्ड को तोड़ा। हेल्स को मैन ऑफ़ द मैच भी चुना गया। टॉस जीतकर आज इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया और उसके बाद पकिस्तान के लिए कुछ भी सही नहीं हुआ। हालाँकि छठे ओवर में जेसन रॉय 15 रन बनाकर हसन अली की गेंद पर आउट हो गए लेकिन उसके बाद एलेक्स हेल्स ने जो रूट के साथ दूसरे विकेट के लिए 248 रन जोड़ डाले। इस बीच हेल्स ने अपना शतक पूरा किया और रूट ने भी अर्धशतक पूरा किया। इन दोनों की जबरदस्त बल्लेबाजी का पाकिस्तानी गेंदबाजों के पास कोई जवाब नहीं था और खासकर हेल्स ने तो गेंदबाजी की धज्जियां उड़ा दी। वैसे हेल्स अभाग्यशाली रहे कि अपना दोहरा शतक नहीं बना पाए। जब वो 171 रन बनाकर आउट हुए तब इंग्लैंड की पारी के 13 ओवर बाकी थे। उनके आउट होने के दो रन बाद ही जो रूट भी 85 रन बनाकर आउट हो गए। यहाँ से लगा कि पाकिस्तान वापसी कर सकती है लेकिन अभी उनके लिए राहत का कोई सवाल ही नहीं था। जोस बटलर ने कप्तान ओइन मॉर्गन के साथ धुआंधार 161 रनों की साझेदारी की और पहले इंग्लैंड को 400 के पार, फिर इंग्लैंड में सबसे बड़े स्कोर और उसके बाद एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय के सबसे बड़े स्कोर तक पहुंचा दिया। बटलर ने 51 गेंदों में 90 और कप्तान मॉर्गन ने 27 गेंदों में 57 रन बनाये। इंग्लैंड की पारी में कुल 16 छक्के लगे। एक समय इंग्लैंड 450 का आंकड़ा छूते हुए दिख रही थी। पाकिस्तान की तरफ से वहाब रियाज़ ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ते हुए 10 ओवर में 110 रन दे डाले और एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड से सिर्फ तीन रन दूर रह गए। पाकिस्तान के तीनों स्पिनर - यासिर शाह, शोएब मलिक और अजहर अली ने मिलकर 10 ओवरों में 112 रन दे डाले। हसन अली ने दो और मोहम्मद नवाज़ ने एक विकेट लिया। इतने बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान शुरुआत से ही दबाव में दिखी। सामी असलम 8, अजहर अली 13 और बाबर आज़म 9 रन बनाकर आउट हुए। शरजील खान ने 30 गेंदों में 58 रन की तेज़ तर्रार पारी खेलकर पाकिस्तान के रन रेट को बनाये रखा लेकिन 10वें ओवर में उनके भी आउट होते पाकिस्तान की उम्मीदें भी खत्म हो गई। इसके बाद शोएब मलिक भी सिर्फ 1 रन बनाकर चलते बने। सरफ़राज़ अहमद ने 38 और मोहम्मद नवाज़ ने 34 रनों की पारी खेलकर विकट गिरने के सिलसिले को रोका। लेकिन इन दोनों के और हसन अली के सिर्फ 4 रन पर आउट होते ही पाकिस्तान का स्कोर 180/8 हो गया। वहाब रियाज़ भी 14 रन बनाकर पवेलियन लौट गए और पाकिस्तान का स्कोर 36वें ओवर में 199/9 था। यहाँ से मोहम्मद आमिर ने एक बहुत ही बेहतरीन पारी खेली और यासिर शाह के साथ 10वें विकेट के लिए 76 रन जोड़ डाले। हालाँकि इससे मैच के परिणाम पर कोई फर्क नहीं पड़ा लेकिन आमिर ने 11वें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए अर्धशतक लगाया। उन्होंने 28 गेंद पर पांच चौके और चार छक्के की बदौलत 58 रन बनाये। 11वें नंबर पर ये किसी भी बल्लेबाज का सबसे बड़ा स्कोर है और इससे पहले ये रिकॉर्ड शोएब अख्तर के नाम था जिन्होंने 2003 विश्व कप में इंग्लैंड के ही खिलाफ 43 रन बनाये थे। इंग्लैंड की तरफ से क्रिस वोक्स ने फिर से बढ़िया गेंदबाजी की और 4 विकेट लिए। आदिल रशीद ने 2 विकेट लिए। इसके अलावा मार्क वुड, लियम प्लंकेट, बेन स्टोक्स और मोइन अली ने एक-एक विकेट लिया। दोनों टीमों के बीच चौथा एकदिवसीय 1 सितम्बर को लीड्स में खेला जाएगा। स्कोरकार्ड: इंग्लैंड: 444/3 (हेल्स 171, बटलर 90*, रूट 85, मॉर्गन 57*) पाकिस्तान: 275 (आमिर 58, शरजील 58, वोक्स 4/41)

Edited by Staff Editor