Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

एलिस्टेयर कुक का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास, भारत के खिलाफ ओवल टेस्ट होगा आखिरी मैच

FEATURED WRITER
103   //    03 Sep 2018, 17:02 IST

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज एलिस्टेयर कुक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने और सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वाले 33 वर्षीय कुक ने खराब फॉर्म के कारण इतना बड़ा फैसला लिया है। भारत के खिलाफ ओवल में होने वाला पांचवां टेस्ट उनके करियर का आखिरी मैच होगा। गौरतलब है कि टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों में कुक विश्व में छठे और सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने के मामले में सातवें स्थान पर हैं।

मार्च 2006 में नागपुर में भारत के ख़िलाफ अपना टेस्ट डेब्यू करने वाले एलिस्टेयर कुक ने पहले ही मैच में शतक लगाने के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा और 160 टेस्ट मैचों में 32 शतक और 56 अर्धशतक के साथ रिकॉर्ड 12254 रन बनाये। कुक ने इसके अलावा 294 के सर्वाधिक स्कोर के साथ पांच दोहरे शतक भी लगाए।

भारत के खिलाफ ओवल टेस्ट उनका 161वां और आखिरी टेस्ट होगा। इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने और रन बनाने के अलावा कुक के नाम इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा शतक भी दर्ज़ है। भारत के खिलाफ कुक ने इशांत शर्मा के रूप में टेस्ट क्रिकेट में एक विकेट भी हासिल किया है।

160 टेस्ट के अलावा कुक ने इंग्लैंड के लिए 92 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में 5 शतक और 19 अर्धशतकों की मदद से 3204 और चार टी20 अंतरराष्ट्रीय में 61 रन बनाये।

एलिस्टेयर कुक ने रिकॉर्ड 59 टेस्ट मैचों में इंग्लैंड की कप्तानी भी की। इसके अलावा उन्होंने 69 एकिदवसीय अंतरराष्ट्रीय और एक टी20 अंतरराष्ट्रीय में भी इंग्लैंड की कप्तानी की।

एलिस्टेयर कुक ने संन्यास को लेकर बयान जारी करते हुए कहा," पिछले कुछ महीनों से काफी सोच विचार करने के बाद आख़िरकार मैंने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला लिया है। मेरे लिए ये काफी दुखद दिन है लेकिन मैंने जितना सोचा था, उससे ज्यादा उपलब्धि हासिल की और इसके लिए मुझे काफी ख़ुशी है। मैंने काफी महान खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर किया और उस ड्रेसिंग रूम को छोड़ने का फैसला सबसे मुश्किल रहा।"

"मैंने अपनी पूरी ज़िन्दगी में क्रिकेट से बेहद प्यार किया। बचपन से लेकर इंग्लैंड के लिए खेलने तक क्रिकेट मेरे लिए सबकुछ रहा। मैं काफी लोगों का शुक्रिया अदा करना चाहता हूँ और उसमें बार्मी आर्मी एवं ग्राहम गूच का जिक्र जरूर करूंगा। मेरे परिवार ने 12 साल के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मेरा काफी साथ दिया है। परिवार के अलावा मैं एसेक्स काउंट क्रिकेट क्लब को भी धन्यवाद देना चाहता हूँ और 2019 से मैं पूरी तरह से वहां समय दे पाउँगा।"

"अंत में मैं इंग्लिश क्रिकेट टीम को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देना चाहता हूँ"।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...