ENG vs IND: टेस्ट सीरीज़ के लिए संभावित 17 सदस्यीय भारतीय दल

भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैचों की सीरीज 1 अगस्त से एजबेस्टन शुरू हो रही है। इस सीरीज में वर्ल्ड क्रिकेट की दो सबसे मजबूत टीमों के बीच टेस्ट क्रिकेट के वर्चस्व की लड़ाई होगी।

इस सीरीज में भारतीय टीम के पास 2011 और 2014 में मिली हार का बदला लेना होगा जहां टीम को 4-0 और 3-1 से सीरीज गंवानी पड़ी थी। इस बार टीम पिछली बार से ज्यादा बेहतर दिख रही है और कोहली सेना के पास सीरीज जीतने का अच्छा मौका है।

इस सीरीज के लिए टीम की घोषणा अभी तक नहीं हुई है और चयनकर्ता कभी भी इसकी घोषणा कर सकते हैं। आज हम आपको उन्हीं 17 खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें टीम में जगह मिल सकती है:

सलामी बल्लेबाज़- शिखर धवन, मुरली विजय, केएल राहुल

सलामी बल्लेबाजी एक ऐसा विभाग है जहाँ सभी को पता है कि किन बल्लेबाजों का चयन होगा। यहां तीन बल्लेबाजों के बीच दो स्थान के लिए जंग होगी। जिसमें शिखर धवन, मुरली विजय और केएल राहुल शामिल हैं।

टीम के लिए टेस्ट मैचों के विशेषज्ञ मुरली विजय विदेशी जमीन पर टीम के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं और प्लेइंग इलेवन में उनका खेलना लगभग तय माना जा रहा है। वहीं दूसरे सलामी बल्लेबाज के लिए राहुल और धवन के बीच मुकाबला रहेगा।

राहुल और धवन ने पिछले कुछ समय में टीम के लिए कई उपयोगी पारियां खेली है और दोनों में से किसी को बाहर बैठाना उनके खिलाफ नाइंसाफी होगी लेकिन मजबूरी में टीम प्रबंधन को एक खिलाड़ी को बाहर बैठाना पड़ेगा।

मध्यक्रम- चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, करुण नायर

चेतेश्वर पुजारा पिछले कुछ समय से इंग्लैंड में ही थे जहां वह यॉर्कशायर के लिए काउंटी क्रिकेट खेल रहे थे। इसके बावजूद प्लेइंग में उनका स्थान पक्का नहीं दिखता क्योंकि काउंटी मैचों में उन्होंने बल्ले से कुछ खास खेल नहीं दिखाया है।

कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे का टीम में जगह तय ही है। इनके अलावा केएल राहुल को भी मध्यक्रम में आजमाया जा सकता है जैसा अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच में हुआ था।

इसके साथ ही अगर टीम में एक एक्सट्रा मध्यक्रम के बल्लेबाज को जगह मिलती है तो उसके लिए करुण नायर और रोहित शर्मा के बीच जंग होगी। इसमें नायर के सेलेक्ट होने के ज्यादा चांस हैं क्योंकि रोहित अफगानिस्तान के खिलाफ भी टीम का हिस्सा नहीं थे।

विकेटकीपर- ऋद्धिमान साहा और दिनेश कार्तिक

यह बात सभी को पता है कि टीम इंडिया विदेशी दौरे पर दो विकेटकीपर के साथ जाती है। इंग्लैंड दौरे के लिए वो दो विकेटकीपर रिद्धिमान साहा और दिनेश कार्तिक हो सकते हैं।

पिछले एक साल में साहा टेस्ट क्रिकेट में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर रहे हैं। उन्होंने विकेट के पीछे शानदार खेल दिखाया है और उनसे शायद ही कोई गलती हुई है। दक्षिण अफ्रीका दौरे तक वह टीम के मुख्य विकेटकीपर थे लेकिन चोट की वजह से दक्षिण अफ्रीका सीरीज के अंतिम मैच और अफगानिस्तान के खिलाफ मैच नहीं खेल पाने की वजह से उनके स्थान को खतरा हो गया है।

दिनेश कार्तिक के हालिया फॉर्म को देखते हुए प्लेइंग इलेवन में उनकी दावेदारी भी मजबूत है। प्लेइंग में कोई भी रहे लेकिन एक बात पक्की है कि दौरे के लिए इन दोनों का जाना तय लग रहा है।

ऑलराउंडर- हार्दिक पांड्या

पिछले काफी समय से टीम इंडिया को एक ऐसे ऑलराउंडर की तलाश रही है जो गेंद और बल्ले से एक जैसा प्रदर्शन करे। कई स्पिन गेंदबाजों ने ऑलराउंडर के रूप में बेहतरीन खेल दिखाया है लेकिन फ़ास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर आते हैं और कुछ समय मे गायब हो जाते हैं।

इंग्लैंड में किसी भी टीम को फ़ास्ट बॉलिंग ऑल राउंडर की जरूरत पड़ती है और भारतीय टीम खुदक़िस्मत है कि उनके पास हार्दिक पांड्या जैसा ऑलराउंडर है। पांड्या ने दिखाया है कि वह टेस्ट मैचों में अच्छे रन बना सकते हैं। वहीं गेंदबाजी में भी वह पांचवें गेंदबाजी की भूमिका अच्छी तरह निभा रहे हैं।

स्पिनर- रविचंद्रन अश्विन और कुलदीप यादव

पिछले चार सालों में टेस्ट मैचों में जिस तरह का प्रदर्शन किया है उसमें टीम के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा का काफी अहम योगदान है। दोनों गेंदबाज लगातार बल्लेबाजों को परेशान कर टीम को विकेट दिलाते आए हैं।

सभी सोच रहे हैं कि दोनों ही गेंदबाज टीम के साथ इंग्लैंड जाएंगे लेकिन कुलदीप यादव की वजह से जडेजा की राह मुश्किल लग रही है। इंग्लैंड बल्लेबाजों को कलाई के गेंदबाज को समझने में काफी दिक्कत होती है और इसी वजह से इस चाइनामैन गेंदबाजी की दावेदारी मजबूत होती है।

टीम में अश्विन का स्थान तो पक्का है लेकिन जडेजा की जगह कुलदीप को मौका मिला तो ज्यादा हैरानी नहीं होनी चाहिए।

तेज गेंदबाज- भुवनेश्वर कुमार, इशांत शर्मा, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी

भारतीय टीम इस बार अब तक के सबसे बेहतरीन तेज गेंदबाजों के साथ इंग्लैंड दौरे पर जाएगी। इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका में हुए टेस्ट सीरीज में तेज गेंदबाजों ने दिखा दिया था कि कंडीशन मददगार हो तो वह कैसी गेंदबाजी कर सकते हैं। सभी गेंदबाज इंग्लैंड में भी उसी प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे।

टीम की गेंदबाजी की कमान भुवनेश्वर कुमार के हाथों में होगी जबकि उनका साथ निभाने के लिए होंगे काउंटी मैचों में ससेक्स के लिए शानदार प्रदर्शन करने वाले इशांत शर्मा, उमेश यादव, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह।

बुमराह ने पिछले सप्ताह ही उंगली की सर्जरी करवाई है और उम्मीद है कि अगले महीने तक फिट हो जाएंगे और नहीं हुए तो उनकी जगह शार्दुल ठाकुर को मौका मिल सकता है।

लेखक- निखिल गुप्ता अनुवादक- ऋषिकेश सिंह

App download animated image Get the free App now