Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

England vs India, 3rd Test: भारत की बेहतरीन जीत, प्रमुख आंकड़ों पर एक नज़र

EXPERT COLUMNIST
Modified 22 Aug 2018, 17:23 IST
Advertisement
भारत ने ट्रेंट ब्रिज में खेले गए तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड को 203 रनों के बड़े अंतर से हराकर सीरीज में मेजबानों की बढ़त को कम कर दिया है। पहले दो टेस्ट हारने के बाद भारतीय टीम ने तीसरे टेस्ट में शानदार वापसी और इसके पीछे मैन ऑफ़ द मैच विराट कोहली (97 एवं 103) की बेहतरीन कप्तानी पारियों का अहम योगदान रहा। कोहली के अलावा भारत की तरफ से इस मैच में हार्दिक पांड्या (6 विकेट एवं 70 रन) ने भी बेहतरीन ऑलराउंड प्रदर्शन किया। आइये नज़र डालते हैं चौथे और पांचवें दिन बने सभी आंकड़ों पर: # भारत ने इंग्लैंड को 203 रनों से हराया और यह रनों के मामले में एशिया से बाहर की पांचवीं सबसे बड़ी जीत है। रिकॉर्ड 279 रनों का है, जब भारत ने 1986 में इंग्लैंड को ही लीड्स में हराया था। # भारत ने सिर्फ आठवीं बार एक साल में एशिया से बाहर 2 या उससे ज्यादा टेस्ट जीते हैं। 1971 (वेस्टइंडीज़ और इंग्लैंड), 1976 (न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज), 1986 (इंग्लैंड), 2002 (वेस्टइंडीज और इंग्लैंड), 2006 (वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका) और 2016 (वेस्टइंडीज) में भारत ने एक साल में दो-दो और 1968 (न्यूजीलैंड) में भारत ने एशिया से बाहर एक साल में तीन टेस्ट जीतने का रिकॉर्ड बनाया था। 2018 में भारत ने अभी तक एशिया से बाहर दो टेस्ट (दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड) जीते हैं। # अपने पिछले टेस्ट में पारी के अंतर से हारने के बाद भारत ने इस टेस्ट में जीत हासिल की। इससे पहले ऐसा सिर्फ 6 बार हुआ था जब किसी टीम को पिछले मैच में पारी के अंतर से हार मिली और उन्होंने अगला टेस्ट जीता। भारत ने इससे पहले 2008 में श्रीलंका के खिलाफ यह रिकॉर्ड बनाया था। # विराट कोहली ने 38वें टेस्ट में 22वीं जीत हासिल की और सौरव गांगुली (21 जीत, 49 मैच) का रिकॉर्ड तोड़ा। इस मामले में भारतीय रिकॉर्ड महेंद्र सिंह धोनी (27 जीत, 60 मैच) के नाम दर्ज़ है। # विराट कोहली ने कप्तान के तौर पर मैन ऑफ़ द मैच का खिताब जीता। एशिया से बाहर भारत की तरफ से यह रिकॉर्ड आखिरी बार राहुल द्रविड़ (2006 vs वेस्टइंडीज) ने बनाया था। # भारत ने पांचवीं बार किसी टेस्ट सीरीज के पहले दो मैच हारने के बाद तीसरे टेस्ट में जीत दर्ज़ की। 2018 की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी भारत ने पहले दो मैच हारने के बाद तीसरे टेस्ट में जीत हासिल की थी। # टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में पहली बार एक ही टीम के दो खिलाड़ियों ने एक मैच में 6-6 कैच लिए। ट्रेंट ब्रिज टेस्ट में ऋषभ पंत और केएल राहुल ने यह रिकॉर्ड बनाया। पंत ने इसके बाद मैच में सातवां कैच भी लिया और डेब्यू टेस्ट में किसी भी भारतीय विकेटकीपर के सबसे ज्यादा शिकार का नया रिकॉर्ड बनाया। # ट्रेंट ब्रिज टेस्ट में भारतीय तेज़ गेंदबाजों ने 19 विकेट लिए। एक टेस्ट में भारतीय तेज़ गेंदबाजों द्वारा सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड 20 है, जो उन्होंने 2018 में ही जोहान्सबर्ग टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया था। # इशांत शर्मा ने एलिस्टेयर कुक को टेस्ट क्रिकेट में 11वीं बार आउट किया। इस मामले में रिकॉर्ड कपिल देव के नाम है, जिन्होंने पाकिस्तान के मुदस्सर नज़र को 12 बार आउट किया था। इसके अलावा कपिल देव ने इंग्लैंड के ग्राहम गूच को भी 11 बार आउट किया था। # जोस बटलर (106) ने 8 अर्धशतक लगाने के बाद अपना पहला शतक लगाया। इससे पहले उनका सर्वाधिक स्कोर 85 था, जो उन्होंने भारत के खिलाफ ही 2014 में बनाया था। # 70 से ऊपर के 5 स्कोर बनाने के बाद पहला टेस्ट शतक बनाने के मामले में जोस बटलर ने इंग्लैंड की तरफ से ग्राहम गूच और जैक हॉब्स का रिकॉर्ड बराबर किया। गौरतलब है कि ग्राहम गूच ने अपने टेस्ट करियर में 20 और जैक हॉब्स ने 15 शतक लगाए थे। # टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आज तक सिर्फ एक ही बार कोई टीम पांच मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ने के बाद 3-2 से सीरीज जीतने में कामयाब रही है। यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया ने 1936-1937 एशेज में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था। Published 22 Aug 2018, 17:23 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit