COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

England vs India: ओवल में भारत के सामने है प्रतिष्ठा की लड़ाई, इंग्लैंड कुक को देना चाहेगा यादगार विदाई

Sheen Naqwi
ANALYST
39   //    07 Sep 2018, 10:00 IST

इंग्लिश सरज़मीं पर आज भारत इस दौरे का आख़िरी मुक़ाबला खेलने उतरेगा, जो लंदन के ओवल में अगले 5 दिनों तक खेला जाएगा। टेस्ट की बेस्ट टीम इंडिया ने ये बिल्कुल उम्मीद नहीं की होगी कि पांचवें और आख़िरी टेस्ट से पहले ही उन्हें 1-3 से सीरीज़ में हार मिल जाएगी। अब भारतीय फ़ैंस और विराट कोहली की नज़र बस यही है कि सीरीज़ को 1-4 से नहीं बल्कि 2-3 के आंकड़ें के साथ ख़त्म किया जाए। हालांकि ये इतना आसान नहीं होने वाला क्योंकि लंदन के ओवल में भारतीय समयनुसार दोपहर 3.30 बजे शुरू होने वाले इस मुक़ाबले में आंकड़े और परिस्थिति दोनों ही मेज़बान टीम के साथ जाते दिखाई दे रहे हैं।

कोहली एंड कंपनी के पास हारने के लिए अब कुछ नहीं




 

इसमें कोई शक़ नहीं है कि लॉर्ड्स को छोड़ दिया जाए तो एजबैस्टन में खेले गए पहले और साउथैंप्टन में खेले गए चौथे टेस्ट में भले ही नतीजा भारत के ख़िलाफ़ गया हो, लेकिन इन दोनों ही टेस्ट मैचों में टीम इंडिया ज़्यादातर सत्र में मेहमान टीम से आगे रही थी। अगर एजबैस्टन और साउथैंप्टन में भारतीय बल्लेबाज़ों ने एक ही ग़लती कई बार नहीं दोहराई होती तो शायद इस समय टीम इंडिया 1-3 से पीछे नहीं बल्कि 3-1 से आगे होती। अब जो हो गया सो हो गया, अब न तो विराट कोहली पीछे जाकर नतीजा बदल सकते हैं और न ही इस सीरीज़ का परिणाम बदला जा सकता है। हां, कोहली एंड कंपनी हार के अंतर को 1-4 या 1-3 की जगह 2-3 ज़रूर कर सकती है। क्योंकि अब उन पर सीरीज़ हार का दबाव नहीं है ऐसे में सभी खिलाड़ी चाहेंगे कि इस दौरे को जीत के साथ ख़त्म किया जाए। कोहली को जाना भी जाता है आख़िरी दम तक लड़ने के लिए, लिहाज़ा किसी भी परिस्थिति में टीम इंडिया इस मैच को हल्के में नहीं लेगी।

 

इंग्लिश खिलाड़ियों की नज़र कुक को यादगार विदाई देने पर


 



 

इंग्लिश क्रिकेट इतिहास के अब तक के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में से एक, और इंग्लैंड के लिए टेस्ट में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले एलेस्टेयर कुक ओवल टेस्ट के बाद दोबारा इंग्लैंड के लिए बल्लेबाज़ी करते हुए नज़र नहीं आएंगे। कुक ने साउथैंप्टन टेस्ट के बाद क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी थी, ऐसे में इस दिग्गज बल्लेबाज़ को सभी खिलाड़ी और इंग्लिश बोर्ड भी एक बेहतरीन विदाई देने के लिए बेक़रार है। हालांकि कुक का बल्ला इस सीरीज़ में काफ़ी शांत रहा है और अब तक उनका उच्चतम स्कोर 29 रन ही रहा है, ऐसे में सभी को ये उम्मीद होगी कि ये तूफ़ान से पहली की शांति हो और कुक एक अच्छे स्कोर के साथ साथ इंग्लैंड की जीत में अहम भूमिका निभाएं। कुक और उनके फ़ैंस के लिए इससे अच्छी विदाई और कुछ नहीं हो सकती, इंग्लिश टीम भी अपने इस बल्लेबाज़ को जीत का तोहफ़ा देने के लिए कोई कोर क़सर नहीं छोड़ेगी।

 

ओवल के आंकड़े हैं मेज़बान के साथ, कोहली बना सकते हैं बड़ा रिकॉर्ड




 

मेज़बान टीम का रिकॉर्ड इस मैदान पर शानदार रहा है, अब तक इंग्लैंड ने ओवल में 100 मुक़ाबले खेले हैं जिनमें से उनके नाम 41 जीत है जबकि 37 मुक़ाबले ड्रॉ रहे हैं और सिर्फ़ 22 बार उन्हें हार झेलनी पड़ी है। पिछली बार इसी मैदान पर इंग्लैंड ने दक्षिण अफ़्रीका को भी शिकस्त दी थी। इसके ठीक उलट भारत ने ओवल पर 12 मुक़ाबले खेले हैं जहां टीम इंडिया को 4 मैचों में हार का सामना करना पड़ा है, 7 मुक़ाबले ड्रॉ रहे हैं। और सिर्फ़ एक बार भारतीय क्रिकेट टीम ने ओवल के मैदान पर जीत हासिल की है जो उन्हें 1971 में मिली थी। यानी क़रीब 47 सालों से ओवल में भारतीय टीम ने जीत का स्वाद नहीं चखा है, टीम इंडिया को इस मैदान पर आख़िरी दो मुक़ाबलों में पारी की हार का सामना करना पड़ा है।

ऐसे में मैच शुरू होने से पहले ही मनोबल मेज़बान टीम का ऊंचा है, लेकिन एक चीज़ है जिसपर भारतीय क्रिकेट फ़ैन्स गर्व कर सकते हैं और वह ये है कि विराट कोहली अगर 59 रन और बना लेते हैं तो वह इंग्लिश सरज़मीं पर राहुल द्रविड़ के 602 रनों को पीछे छोड़ देंगे। जो किसी भी भारतीय बल्लेबाज़ का एक टेस्ट सीरीज़ में इंग्लैंड में सबसे ज़्यादा रनों का रिकॉर्ड है। इन सबके साथ साथ एक और अजीबो ग़रीब रिकॉर्ड ये भी है कि 5 या उससे ज़्यादा मैचों की टेस्ट सीरीज़ में ये पहला मौक़ा है जब दोनों ही टीमों की तरफ़ से किसी भी सलामी बल्लेबाज़ ने 50 का स्कोर नहीं छुआ हो। इस सीरीज़ में अब तक खेले गए 4 टेस्ट मैचों में भारत और इंग्लैंड दोनों ही टीमों के सलामी बल्लेबाज़ों के द्वारा कुल 30 पारियां खेली गई हैं और इसमें शिखर धवन के नाम सर्वाधिक 44 रन का स्कोर है।

 

पिच का पेंच और मौसम का मिज़ाज




 

लंदन के ओवल मैदान की पिच और साउथैंप्टन की पिच कमोबेश एक ही तरह की है, दोनों में जो एक बड़ा फ़र्क़ है वह बस ये कि ओवल में पहले दिन तेज़ गेंदबाज़ों को ज़्यादा मदद मिलती है। लेकिन दूसरे और तीसरे दिन ये पिच बल्लेबाज़ों के लिए जन्नत है और फिर चौथे दिन से स्पिनर्स के लिए मददगार साबित होती है। ऐसे में टॉस जीतने वाले कप्तान की नज़र इस पिच पर गेंदबाज़ी करने की होगी, हालांकि टॉस के मामले में कोहली की क़िस्मत फ़िलहाल उनके साथ नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार अगले पांच दिनों तक बारिश की संभावना ऐसी नहीं है कि मैच पर असर पड़े, हां आसमान में बादल आते रहेंगे जो तेज़ गेंदबाज़ों के लिए अच्छी ख़बर है।

 

इंग्लैंड की टीम में बदलाव नहीं, टीम इंडिया कर सकती है दो परिवर्तन




 

ओवल टेस्ट के लिए इंग्लैंड ने अपनी अंतिम-11 घोषित कर दी है, जिसमें कोई भी बदलाव नहीं किया गया है। मोईन अली एक बार फिर नंबर-3 पर बल्लेबाज़ी करने उतरेंगे जबकि चोट से पूरी तरह उबर चुके जॉनी बेयरस्टो इस टेस्ट में दोबारा दस्तानों के साथ विकेट के पीछे नज़र आएंगे। दूसरी तरफ़ टीम इंडिया साउथैंप्टन में अनफ़िट और निराशाजनक प्रदर्शन करने वाले आर अश्विन की जगह इस मैच में रविंद्र जडेजा को आख़िरी एकादश में उतार सकती है। जबकि हार्दिक पांड्या की जगह युवा हनुमा विहारी का भी डेब्यू हो सकता है। उम्मीद थी कि केएल राहुल की जगह युवा पृथ्वी शॉ को शिखर धवन का नया सलामी जोड़ीदार बनाया जाएगा लेकिन नेट्स पर जिस तरह से केएल राहुल लगातार प्रैक्टिस करते हुए नज़र आए हैं उससे ये बात ख़ारिज होती दिख रही है।

इंग्लैंड प्लेइंग-XI: एलेस्टेयर कुक, कीटन जेनिंग्स, मोईन अली, जो रूट, जॉनी बेयरस्टो, बेन स्टोक्स, जोस बटलर, सैम करन, आदिल रशीद, स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन

भारत संभावित-XI: शिखर धवन, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह

 

 

Sheen Naqwi
ANALYST
खेल और फ़िल्म का कीड़ा...
Advertisement
Fetching more content...