क्रिकेट न्यूज: किसान के बेटे मकरंद पाटिल ने एक ओवर में जड़ दिए लगातार 6 छक्के

Enter caption

बदलते जमाने के तेज होते क्रिकेट में खिलाड़ियों की बेहतरीन पौध निकलकर सामने आ रही है। हाल ही में एक बल्लेबाज ने वो कारनामा कर दिखाया, जो अब तक भारत की अंतरराष्ट्रीय टीम का कोई खिलाड़ी नहीं कर पाया है। 23 साल के नौजवान बल्लेबाज मकरंद पाटिल ने एक ओवर में एक के बाद एक लगातार 6 छक्के जड़कर अनोखा कारनामा कर दिखाया। खास बात है कि वह एक किसान के बेटे हैं और विवा सुपरमार्केट्स में सेल्समैन हैं। उन्होंने मुंबई के सचिन तेंदुलकर जिमखाना स्टेडियम में महिंद्रा लॉजिस्टिक्स को मात देकर एफ डिवीजन टाइम्स शील्ड टूर्नामेंट का खिताब अपनी टीम की झोली में डलवाया।

इससे पहले युवराज सिंह ने 2007 के टी-20 विश्वकप के दौरान इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड की छह गेंदों पर लगातार छह छक्के जड़े थे। मकरंद पाटिल टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए थे। उन्होंने 26 गेंदों पर 84 रन बनाए। इस कारनामे को करने के बाद उनके पास लगातार बधाई देने के लिए फोन आ रहे हैं। मकरंद ने कहा कि मैंने जब चार लगातार छक्के मारे, तब सोचा नहीं था कि एक ओवर की सभी गेंदों पर छक्के लगा पाऊंगा। मैंने पांचवां छक्का लगाया तो मैदान से खिलाड़ियों के मुझे प्रोत्साहित करने की आवाजें आने लगीं। उसके बाद छठी गेंद का सामना किया तो मैंने उस पर भी छक्का लगा दिया। मुझे एक दिन के लिए स्टार बनकर अच्छा महसूस हो रहा है। आपको बता दें कि मकरंद ने अगले ओवर में जब गेंद खेली तो उस पर भी छक्का लगा दिया और इस तरह से उन्होंने 7 गेंद पर लगातार 7 छक्के जड़े।

क्रिकेट में यह कारनामा करने वाले मकरंद पाटिल बहुत ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनकी जिंदगी संघर्षों से भरी है। उनके परिवार की आय का साधन सिर्फ किसानी है। वह खेत में पिता की मदद करने की वजह से कई मुकाबलों में हिस्सा नहीं ले पाते हैं। मकरंद कहते हैं कि इसके बाद मुझे और ज्यादा मेहनत करनी होगी। मेरा लक्ष्य मुंबई टीम में जगह बनाना होगा। एक दिन ऐसा आएगा, जब दुनिया मेरे हुनर को पहचानेगी। खैर, मकरंद की इस उपलब्धि पर कंपनी ने उन्हें एक दिन की छुट्टी भी दी, ताकि वह इसका जश्न मना सकें।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Edited by सावन गुप्ता