Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

टेस्ट क्रिकेट इतिहास में रनों के लिहाज़ से 5 सबसे बड़ी हार

  • टेस्ट इतिहास की सभी 5 बड़ी हारों में रही है ऑस्ट्रेलिया की संलिप्ता, 2 में हारे हैं और 3 में हराया है
Syed Hussain
ANALYST
Modified 20 Dec 2019, 18:37 IST
दक्षिण अफ़्रीका के तेज़ गेंदबाज़ वर्नर फ़िलैंडर के घातक प्रदर्शन की बदौलत मेज़बान टीम ने जोहांसबर्ग टेस्ट जीतकर ऑस्ट्रेलिया को रिकॉर्ड 492 रनों से शिकस्त दी। इस जीत के साथ ही दक्षिण अफ़्रीका ने अपने घर में 1970 के बाद पहली बार ऑस्ट्रेलिया पर टेस्ट सीरीज़ जीत दर्ज की है। 1992 में विश्व क्रिकेट में वापसी के बाद दक्षिण अफ़्रीका की अपने घर में कंगारुओं पर ये पहली टेस्ट सीरीज़ जीत है। रनों के लिहाज़ से टेस्ट क्रिकेट इतिहास में दक्षिण अफ़्रीका की ये सबसे बड़ी जीत है, और विश्व क्रिकेट में ये अब तक की सबसे बड़ी चौथी हार के रूप में भी दर्ज हो गई है। एक नज़र डालते हैं विश्व क्रिकेट इतिहास में रनों के लिहाज़ से अब तक की 5 बड़ी टेस्ट हार पर।

#5 ऑस्ट्रेलिया vs पाकिस्तान, 491 रन, पर्थ 2004


  16 दिसंबर 2004 को पर्थ में ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच खेले गए इस टेस्ट मैच में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फ़ैसला किया था। तेज़ और उछाल भरी पिच पर शोएब अख़्तर (5/99) ने कप्तान इंज़माम उल हक़ के फ़ैसले को सही भी साबित किया था जब उनकी रफ़्तार के सामने कंगारुओं की आधी टीम 78 रनों पर पैवेलियन लौट गई थी। लेकिन जस्टिन लैंगर ने लाजवाब 191 रनों की पारी खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया को 381 रनों तक पहुंचा दिया था। जवाब में माइकल कैस्प्रोविच (5/30) ने पाकिस्तानी टीम को 179 रनों पर ही ऑलआउट कर दिया था, हालांकि ऑस्ट्रेलिया ने फ़ॉलोऑन नहीं दिया और दूसरी पारी 361/5 रनों पर घोषित कर दी। इस पारी में भी जस्टिन लैंगर ने 97 रन बनाए,जबकि डेमियन मार्टिन 100 रनों पर नाबाद रहे। पाकिस्तान के सामने 564 रनों का पहाड़ जैसा लक्ष्य था, इस लक्ष्य का दवाब और ग्लेन मैक्ग्रॉ (8/24) की क़हर बरपाती गेंदबाज़ी के सामने पूरी टीम 72 रनों पर ढेर हो गई और ऑस्ट्रेलिया ने 491 रनों से मैच अपने नाम कर लिया।
1 / 5 NEXT
Published 03 Apr 2018, 16:52 IST
Advertisement
Fetching more content...