Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

दक्षिण अफ्रीका के रिटायर्ड स्पिनर रॉबिन पीटरसन के बारे में 5 रोचक बातें

SENIOR ANALYST
Modified 11 Nov 2016, 21:28 IST
Advertisement

रॉबिन पीटरसन के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद उनके एक लंबे क्रिकेट करियर का अंत हो गया | उनके पक्ष में जो सबसे बड़ी बात जाती थी वो ये थे कि दक्षिण अफ्रीका के पास अच्छे स्पिनर नहीं थे, ऐसे में उनके जैसा लेफ्ट ऑर्म स्पिनर जो स्पिन बॉलिंग के साथ निचले क्रम में आक्रामक बल्लेबाजी भी करे , प्रोटियाज के लिए हीरे की तरह था | पीटरसन ने 1998 में दक्षिण अफ्रीका के लिए अंडर-19 वर्ल्ड कप खेला, जल्द ही वो दक्षिण अफ्रीका के नेशनल टीम में भी चुन लिए गए | साउथ अफ्रीका की टीम मैनेजमेंट निकी बोए का विकल्प ढूंढ रही थी, ऐसे में पीटरसन उनको सबसे ज्यादा मुफीद लगे, उनकी फील्डिंग उनके लिए  प्लस प्वाइंट थी | हालांकि वो टेस्ट टीम में नियमित जगह नहीं बना सके, लेकिन छोटे फॉर्मेट में वो नियमित सदस्य रहे | 2004 में उन्होंने वॉरियर के साथ कॉन्ट्रैक्ट किया 5 साल तक टीम से जुड़े रहने के बाद उन्होंने 2009 में उन्होंने केप कोबराज को ज्वॉइन कर लिया | इसी साल उन्होंने नाइट्स की टीम को ज्वॉइन किया और सन फ्वॉइल सीरीज के पांचों मैच उन्होंने खेले | लेकिन बुधवार को अचानक उन्होंने संन्यास का फैसला कर सबको चौंका दिया | उन्होंने ट्विटर पर लिखा -  

"  आप सभी के सहयोग के लिए शुक्रिया, मैंने अपने करियर के हर पल का खूब आनंद उठाया और आगे के लिए इससे ज्यादा की उम्मीद करता हूं ' उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए 15 टेस्ट मैचों में 38, 79 वनडे मैचों में 75 और 21 टी-20 मैच में 24 विकेट लिए | वहीं निचले क्रम में उन्होंने कुछ उपयोगी पारियां भी खेली | उन्होंने कोल्पक के साथ कॉन्ट्रैक्ट करने के लिए नेशनल टीम के चयन के लिए खुद को अनुपलब्ध बताया | हालांकि 2011 वर्ल्ड कप में विवादास्पद चयन के बाद उन्होंने अपना इरादा बदल दिया और 2014 तक टीम के लिए खेले |उनके करियर में काफी उतार-चढ़ाव आए | आइए जानते हैं उनके करियर के बारे में कुछ दिलचस्प बातें: 5. IPL में धमाकेदार प्रदर्शन rp 2012 में इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस ने उन्हें नीलामी में खरीदा | आईपीएल में ये उनका पहला और आखिरी साल था | हालांकि उन्होंने इस सीजन में धमाकेदार प्रदर्शन किया, किंग्स इलेवन के खिलाफ मैच में मुंबई इंडियंस को 2 ओवर में जीत के लिए 32 रन चाहिए थे, पीटरसन ने अंबाती रायडू के साथ मिलकर आईपीएल के सफल गेंदबाजों में से एक पीयूष चावला पर आक्रामक रुख अख्तियार किया | पीयूष चावला के उस ओवर में 27 रन बने, पीटरसन ने पहले 4 गेंदों पर 15 रन बनाए, वहीं अगली 2 गेदों पर रायडू ने 2 शानदार छक्के जड़े | मुंबई को उस मैच में अप्रत्याशित रुप से जीत मिली |
1 / 5 NEXT
Published 11 Nov 2016, 21:28 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit