अफगानिस्तान T20I सीरीज के लिए भारतीय टीम से ड्रॉप होने को लेकर श्रेयस अय्यर ने दी प्रतिक्रिया, इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैचों का किया जिक्र

India v Australia - T20I Series: Game 5
India v Australia - T20I Series: Game 5

श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) को अफगानिस्तान के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज (IND vs AFG) के लिए भारतीय टीम (Indian Cricket Team) में जगह नहीं मिली थी और कई क्रिकेट एक्सपर्ट्स का मानना है कि दाएं हाथ के बल्लेबाज को ड्रॉप किया गया है। हालाँकि, अय्यर इस बात को लेकर परेशान नहीं हैं और उन्होंने कहा कि उनका पूरा ध्यान वर्तमान पर है।

मुंबई के बल्लेबाज ने भारत के लिए पिछले साल वनडे वर्ल्ड कप में जबरदस्त प्रदर्शन किया था और मध्यक्रम में खेलने के बावजूद 530 रन बनाने में कामयाब रहे थे। इसके बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज के आखिरी दो मुकाबलों के लिए उपकप्तान बनाया गया था। उस सीरीज के पांचवें मैच में श्रेयस अय्यर ने बेहतरीन अर्धशतकीय पारी भी खेली थी। हालाँकि, दक्षिण अफ्रीका में स्क्वाड में होने के बावजूद उन्हें एक भी टी20 मुकाबला नहीं खिलाया।

जून में वेस्टइंडीज और अमेरिका में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप से पहले भारत के पास सिर्फ अगानिस्तान सीरीज ही थी लेकिन इसमें श्रेयस अय्यर को मौका नहीं मिला। ऐसे में आगामी आईसीसी टूर्नामेंट में उनके चुने जाने की दावेदारी थोड़ी कमजोर हो गई है। इसके बावजूद श्रेयस टीम से बाहर किए जाने को लेकर शांत नजर आए।

रणजी ट्रॉफी में मुंबई के लिए खेलने के बाद क्रिकइन्फो से बात करते हुए, श्रेयस अय्यर ने कहा कि वह किसी ऐसी चीज पर ध्यान केंद्रित नहीं करने जा रहे हैं जो उनके नियंत्रण में नहीं है। उन्होंने कहा,

देखिए, अभी मैं वर्तमान में हूं। मैंने वह मैच पूरा कर लिया है जिसे मुझे खेलने के लिए कहा गया था, मैं आया और मैंने उस पर अमल किया, इसलिए मैं जो कर रहा हूं उससे खुश हूं। कुछ ऐसा जो मेरे नियंत्रण में नहीं है, मैं उस पर ध्यान केंद्रित नहीं कर सकता। यहां आकर मैच जीतना मेरा ध्यान था और आज हमने यही किया।

29 वर्षीय बल्लेबाज को इंग्लैंड के खिलाफ 25 जनवरी से शुरू होने वाली पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले दो मुकाबलों के लिए भारतीय स्क्वाड में जगह मिली है और अय्यर आगे की ना सोचते हुए, उन दोनों ही मैचों में अच्छा करने पर ध्यान लगा रहे हैं। श्रेयस ने कहा,

एक समय में एक मैच लेना महत्वपूर्ण है, पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के बारे में नहीं सोचना। टीम केवल पहले दो मैचों के लिए है। आदर्श चीज पहले दो मैचों में प्रदर्शन करना होगा और फिर बाकी मैचों के लिए सोचना होगा।

गौरतलब हो कि दक्षिण अफ्रीका में 1-1 से ड्रॉ हुई दो मैचों की टेस्ट सीरीज में श्रेयस अय्यर का प्रदर्शन साधारण रहा था। उन्होंने चार पारियों में सिर्फ 41 रन बनाये थे। इसके बावजूद उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो मुकाबलों के लिए चुना गया है। अय्यर अपने ऊपर दिखाए गए भरोसे को अपने बल्ले से रन बनाकर सही साबित करना चाहेंगे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar