दुर्घटना के बाद पूर्व भारतीय क्रिकेटर जैकब मार्टिन वेंटिलेटर पर, इलाज के लिए आई वित्तीय समस्या

Enter caption

पूर्व भारतीय बल्लेबाज जैकब मार्टिन की स्थिति पिछले महीने सड़क दुर्घटना के बाद से ही नाजुक बनी हुई है। आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण मार्टिन अपने इलाज के लिए धनराशि जुटाने में भी संघर्ष कर रहे हैं। अब मार्टिन के परिवारीजनों ने क्रिकेट समुदाय से इलाज का खर्चा वहन करने की गुहार लगाई है।

जैकब मार्टिन जिन्होंने 2001 में बड़ोदा को रणजी ट्रॉफी का खिताब जीतने में मदद की थी, 28 दिसंबर को एक सड़क दुर्घटना में घायल हो गए। खबरों के अनुसार गुर्दे और फेंफड़ों में आई कई चोटें के बाद से मार्टिन को वेंटिलेटर पर रखा गया है। बीसीसीआई ने मार्टिन को 5 लाख रुपये की मदद मुहैया कराई है तो वहीं बड़ौदा क्रिकेट संघ ने उन्हें 3 लाख प्रदान किये हैं। बीसीसीआई और बड़ौदा क्रिकेट संघ के पूर्व सेक्रेटरी संजय पटेल ने भी उनके इलाज के लिये अपना हाथ आगे बढाया है।

एक बंगाली अखबार को संजय पटेल ने जानकारी देते हुए कहा कि जैसे ही मुझे जैकब की हालत के बारे में पता चला, मैंने तुरंत उनकी हर संभव मदद करने की कोशिश की है। मैंने उनके और भी शुभचिंतकों से बात की है, बीसीसीआई और बड़ौदा क्रिकेट संघ के समरजीत सिंह ने 1 लाख दिए हैं और इलाज के लिए 5 लाख रुपये जमा इकट्ठे किये हैं।

हॉस्पिटल का खर्चा पहले ही 11 लाख के पार पहुंच गया है और एक वक्त पर तो अस्पताल ने दवा देना भी बंद कर दिया था। उसके बाद बीसीसीआई ने इलाज की रकम अदा की और उनका इलाज जारी रखा।

गौरतलब है कि जैकब मार्टिन ने 1999 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना एकदिवसीय पर्दापण किया था। उन्होंने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में 10 वनडे मैच खेले। उन्होंने साथ ही 138 प्रथम श्रेणी मैच भी खेले, जिनमें उन्होंने 47 के औसत से 9192 रन बनाए।

Get Cricket News In Hindi Here.

Quick Links

App download animated image Get the free App now