Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेटर वसंत रायजी का हुआ निधन

  • वसंत रायजी ने आजादी से पहले प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला था
  • हाल ही में वसंत रायजी का सौवां जन्मदिन सचिन तेंदुलकर और स्टीव वॉ ने मनाया था
Naveen Sharma
FEATURED WRITER
न्यूज़
Modified 13 Jun 2020, 16:11 IST

 वसंत रायजी के साथ सचिन तेंदुलकर
वसंत रायजी के साथ सचिन तेंदुलकर

भारत के सबसे पुराने प्रथम श्रेणी क्रिकेटर वसंत रायजी का मुंबई स्थित घर में शनिवार को निधन हो गया। वसंत रायजी 100 वर्ष के थे। न्यूज एजेंसी पीटीआई ने वसंत रायजी के बारे में जानकारी दी। वसंत रायजी के परिवार में उनके अलावा पत्नी और दो बेटियां हैं।

पीटीआई के अनुसार वसंत रायजी के दामाद ने बताया कि रात 2 बजकर 20 मिनट पर सोते हुए उन्होंने अंतिम सांस ली। उनकी मृत्यु का कारण ज्यादा उम्र होना बताया गया है।

यह भी पढ़ें: टेस्ट क्रिकेट में ग्यारहवें नम्बर पर बल्लेबाजी कर अर्धशतक जड़ने वाले 3 खिलाड़ी

वसंत रायजी का प्रथम श्रेणी करियर था छोटा

चार्टर अकाउंटेड वसंत रायजी का करियर ज्यादा लम्बा नहीं रहा। हालांकि क्रिकेट के प्रति प्यार के कारण ही वे इस खेल से जुड़े थे। मुंबई और बड़ौदा के लिए 9 प्रथम श्रेणी मैचों में उन्होंने 277 रन बनाए थे। इस दौरान 68 रन उनका सर्वाधिक स्कोर रहा। 1940 के दशक में उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला था।

रणजी ट्रॉफी में उन्होंने किसी अन्य टीम की तरफ से डेब्यू किया। क्रिकेट क्लब ऑफ़ इंडिया यानि सीसीआई की ओर से वसंत रायजी ने रणजी डेब्यू किया। हालांकि उनका रणजी डेब्यू ज्यादा अच्छा नहीं रहा। पहली पारी में जीरो रन बनाने के बाद दूसरी पारी में भी उन्होंने महज एक रन बनाया। यह 1939 में हुआ था। इसके बाद उन्होंने 1941 में मुंबई के लिए डेब्यू किया। वेस्टर्न इंडिया के खिलाफ वसंत रायजी ने मुंबई की तरफ से विजय मर्चेंट की कप्तानी में रणजी खेला। हाल ही पूर्व भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर, ऑस्ट्रेलिया के स्टीव वॉ, भारत के पूर्व खिलाड़ी सुनील गावस्कर आदि खिलाड़ी उनके सौवें जन्मदिन की शुभकामनाएं देने उनके घर गए थे। सचिन तेंदुलकर ने उनके जन्मदिन मनाने का वीडियो भी ट्विटर पर शेयर किया था।

Advertisement

भारतीय क्रिकेट में कई ऐसे सितारे पैदा हुए हैं जिन्होंने अपनी अलग छाप छोड़ी है। हालांकि वसंत रायजी ने ज्याद मैच नहीं खेले और वे भारतीय टीम में भी नहीं आए लेकिन सब उनको खेल के प्रति प्यार के कारण जानते थे। वसंत रायजी उन खिलाड़ियों में से थे जिन्होंने आजादी से पहले और बाद में आए बदलाव को देखा था और दर्शक के रूप में भी भरपूर आनन्द उठाया।

Published 13 Jun 2020, 16:11 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit