Create
Notifications

मुझे नहीं लगता कि भारत और पाकिस्तान के बीच जल्द ही द्विपक्षीय श्रृंखला का आयोजन होगा: शहरयार खान

Rahul
visit

भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय श्रृंखला को लेकर पिछले कुछ समय से बहुत सी चर्चाएं देखने और सुनने को मिली है। कभी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड आईसीसी को भारतीय क्रिकेट बोर्ड के साथ हुए करार पर गुहार लगाता नजर आता है, तो कभी बीसीसीआई इस मुद्दे पर दोनों देशों के बीच राजनितिक सम्बन्ध ठीक होने का इंतजार करती हुई नजर आती है। इन सभी के बीच नुकसान भारत और पकिस्तान के बीच कड़ा मुकाबला देखने वाले दर्शकों का हो रहा है। एक बार फिर से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज को लेकर पीसीबी के पूर्व चेयरमैन शहरयार खान ने बयान दिया है। शहरयार खान ने दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज को लेकर कोई उम्मीद न जताते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय श्रृंखला न होने का सबसे बड़ा कारण राजनीतीक रिश्तों का खराब होना है। इसमें पीसीबी और बीसीसीआई कुछ नहीं कर सकती। मौजूदा राजनीती रिश्तों को देखा जाए तो मुझे नहीं लगता कि दोनों देशों के बीच आने वाले समय में किसी भी प्रकार की सीरीज होना तय है। मुझे पता है कि बीसीसीआई ने बहुत बार भारत सरकार को इस सीरीज को करवाने की गुहार की है लेकिन जब तक दोनों देशों के बीच राजनीतीक रिश्ते सही नहीं होंगे, तब तक भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय सीरीज का आयोजन नहीं किया जा सकता। साल 2008 में भारत के मुंबई शहर में हुए आतंकवादी हमले के बाद से दोनों देशों के बीच राजीनीतिक रिश्तों में दुरियां देखने को मिली और इसका असर क्रिकेट खेल पर भी जाहिर तौर पर देखा जा सकता है। साल 2009 में भारत का पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया गया था और दोनों देशों के बीच इससे पहले पूर्ण श्रृंखला 2007 में खेली गई थी लेकिन सीमित ओवरों की सीरीज के लिए पाकिस्तान ने साल 2012 में भारत का दौरा किया था। उसके बाद से ही दोनों देशों के बीच केवल आईसीसी टूर्नामेंट में ही मैच देखे गए। साल 2014 में हुए एक एमओयु के तहत दोनों देश साल 2015 से 2023 तक 6 द्विपक्षीय सीरीज खेलने वाली थी, जिसमें दो भारत और चार सीरीज पाकिस्तान में आयोजित होनी थी लेकिन राजीनीतिक रिश्तों में दूरियों के कारण यह अभी तक नहीं हो पाया है। आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में आखिरी बार भारत और पाकिस्तान एक दूसरे के खिलाफ मैदान पर उतरे थे।


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now