Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

बीसीसीआई चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के नाम पर लोगों को ठगने वाला पूर्व रणजी खिलाड़ी गिरफ्तार

Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
Modified 20 Dec 2019, 22:55 IST

Enter caption

भारत में कुछ ऐसी भी प्रतिभाएं हैं, जिन्होंने पहले नाम कमाया और फिर उसी नाम का गलत कामों में प्रयोग करना शुरू कर दिया। अब गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवाने वाले आंध्र प्रदेश के बी नागराजू को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद की शिकायत के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। कहा जा रहा है कि एमएसके प्रसाद के नाम पर वह लोगों से ठगी करता था। बी नागराजू ने विशाखापट्टनम के एएस राजा कॉलेज ग्राउंड में 82 घंटे तक लगातार क्रिकेट खेलने का रिकॉर्ड बनाया था। उन्होंने पुणे के क्रिकेटर विराग मारे के 50 घंटे तक क्रिकेट खेलने का रिकॉर्ड तोड़ा था। इसके बाद उन्हें काफी प्रसिद्धि मिली थी। 

एमएसके प्रसाद ने अपनी शिकायत में कहा था कि नागराजू ने कई उद्योगपतियों को धोखा देने में उनके नाम का प्रयोग किया है। चयनकर्ता ने बताया कि उनकी आरोपी से मुलाकात एक पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान हुई थी। उसके बाद से वह मेरी आवाज निकालकर लोगों को ठग रहा है। पुलिस ने आरोपी को गन्नवरम हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया। उसके पास से एक बाइक और 1.8 लाख रुपये नकद बरामद हुए। एमएसके प्रसाद ने विजयवाड़ा साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में नागराजू के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा दी है। 

नागराजू पूर्व रणजी खिलाड़ी भी रह चुके हैं। उन्होंने 2014 में आंध्र प्रदेश की टीम के लिए रणजी मैच खेले हैं। प्रसाद का आरोप है कि नागराजू ने ट्रू कॉलर में अपना नाम एसएसके प्रसाद रखकर अब तक करीब पांच लाख रुपये ठगे हैं। वैसे जानकारी के लिए बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब नागराजू ठगी के मामले में गिरफ्तार किए गए हैं। 2014 में उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के नाम पर क्रिकेट अकैडमी खोलने का झांसा दिया था। इसके बदले उन्होंने व्यापारी से 22300 रुपये ठगे थे। शिकायत पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था। बाद में नागराजू को जमानत पर छोड़ दिया गया था। 

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Published 04 May 2019, 16:20 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...