Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

भारत के लिए क्रिकेट खेलने वाली 4 सबसे लोकप्रिय पिता पुत्र की जोड़ी

12 Jun 2018, 12:50 IST

दुनिया भर में भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों के लिए कुछ वाकई रोमांचक खबर यह है कि हमारे अपने "लिटिल मास्टर" सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को अगले महीने होने वाले श्रीलंका के दौरे के लिए भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम में नामित किया गया है। 18 वर्षीय तेज गेंदबाज ऑलराउंडर को चार दिवसीय मैचों के लिए चुना गया है जो भारत उपमहाद्वीप राष्ट्र के खिलाफ खेलेंगे।

इस छोटी सी खबर का मतलब है कि वह दिन भी दूर नहीं है जब अपने पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए वह टीम इंडिया में अपनी जगह सुनिश्चित कर सकते हैं, जिसे पहले से ही एक आने वाले सुपरस्टार के रूप में प्रस्तुत किया जा चुका है।

आइए आज हम कुछ ऐसे अन्य पिता-बेटे की जोड़ी की चर्चा करते हैं जिन्होंने भारत के लिए क्रिकेट खेला है।

#1 लाला अमरनाथ और बेटे सुरिंदर व मोहिंदर अमरनाथ



 

1933 में भारत ने बॉम्बे जिमखाना में घरेलू सरजमीं पर अपना पहला टेस्ट मैच खेला। यह मैच दोनों देश के साथ-साथ बल्लेबाज नानिक 'लाला' अमरनाथ के लिए भी ऐतिहासिक था, जिन्होंने पहले टेस्ट मैच में किसी भारतीय द्वारा पहला शतक बनाया था। उन्होंने प्रसिद्ध अंग्रेजी गेंदबाजों की खबर लेते हुए 117 मिनट में शतक जड़ डाला।

वे भारत के पहले आलराउंडर थे जिन्होंने बल्ले के अलावा गेंद से भी अपने विरोधियों की नाक में दम किया। उनके प्रभावशाली करियर और इससे ज्यादा व्यापक रूप से भारतीय क्रिकेट के मार्गदर्शक के रूप में से एक माना जाता है।

लाला के बड़े बेटे सुरेंन्द्र ने भी अपने पिता का अनुकरण करते हुए अपने पहले  टेस्ट में शतक लगा डाला। सुरेन्द्र अमरनाथ का प्रथम श्रेणी का करियर बहुत ही शानदार रहा, उन्होंने 15 साल की उम्र में अपना पहला मैच खेला था। वहीं उनके एक अन्य बेटे मोहिंदर का राष्ट्रीय करियर बेहतरीन रहा।


मोहिंदर ने अपने 18 साल के करियर में 69 टेस्ट मैच खेले। उन्हें भारतीय क्रिकेट में कमबैक खिलाड़ी के रूप में जाना जाता है, मोहिंदर पाकिस्तान और वेस्टइंडीज की मजबूत तेज गेंदबाजी के खिलाफ भारत के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियो में से एक थे।
1 / 4 NEXT
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...