Create
Notifications

IPL: अब तक के इतिहास में 4 टीमों के 4 रोचक तथ्य

आशीष कुमार

भारत में गर्मियों का मौसम मुख्य रूप से बढ़ते तापमान और बरसते छक्कों की बारिश के लिए जाना जाता है। क्योंकि पिछले दस सालों से भारतीय प्रशंसक इंडियन प्रीमियर लीग नामक कार्निवल का आनन्द ले रहे हैं। दुनिया की सबसे कठिन टी 20 लीग का रोमांच आज भी वैसा ही है जैसा दस साल पहले था। आईपीएल इतिहास में अब तक 13 टीमों ने हिस्सा लिया है जिनमें से पांच अब मौजूद नहीं हैं। आइए आईपीएल इतिहास के असामान्य टीम तथ्यों पर एक नज़र डालें।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर- उच्चतम और निम्नतम टीम स्कोर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर निःसंदेह आईपीएल में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों की टीम है। उनके खिलाड़ियों ने लगभग हर आईपीएल सत्र में बल्लेबाजी के रिकॉर्ड तोड़े हैं, तीन मौकों पर उन्होंने बल्लेबाजी चार्ट (2011 और 2016 में क्रिस गेल, 2016 में विराट कोहली), का नेतृत्व किया है जो आईपीएल के पहले दशक में किसी भी फ्रैंचाइजी द्वारा सबसे ज्यादा बार है। मुख्य रूप से गेल, कोहली और एबी डीविलियर्स जैसे बल्लेबाज़ों के टीम में रहते हुए वे आईपीएल के इतिहास में सर्वोच्च टीम स्कोर बनाने वाली फ्रैंचाइजी है। उन्होंने इस रिकॉर्ड को 23 अप्रैल, 2013 (छठे संस्करण) को पुणे वॉरियर्स इंडिया के खिलाफ बनाया था। चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए उस मैच में गेल की तूफानी बल्लेबाज़ी की बदौलत उन्होंने 20 ओवरों में 263 रन बनाए थे। गेल ने 66 गेंदों में 173 रन बनाकर ब्रेंडन मैकुलम का 73 गेंदों में 158 रन का रिकॉर्ड तोड़ इतिहास रच दिया था। हालांकि, आरसीबी ने पिछले सीजन में ईडन गार्डन्स के मैदान पर कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ एक अवांछित रिकॉर्ड भी बनाया था। जीत के लिए मामूली 132 रनों का पीछा करते हुए, उनकी पूरी टीम 9.4 ओवरों में केवल 49 रनों पर ढेर हो गई और इस प्रकार आईपीएल इतिहास में सबसे कम टीम स्कोर का रिकॉर्ड भी उनके नाम दर्ज हो गया। एक दिलचस्प बात यह है कि आरसीबी ने 23 अप्रैल, 2017 को सबसे कम आईपीएल स्कोर बनाया उससे ठीक चार साल पहले उन्होंने सर्वाधिक टीम स्कोर बनाया था।

कोच्चि टस्कर्स केरल- केवल एक आईपीएल सीज़न में लिया हिस्सा

कोच्चि टीम का स्वामित्व रेंडेवस स्पोर्ट्स वर्ल्ड के पास था और उन्होंने कोच्चि के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम से ही आईपीएल में पर्दापण किया था। वे दो नई टीमों में से एक थे जिन्हें आईपीएल सीज़न 2011 में आईपीएल में शामिल किया गया। टीम में ब्रेंडन मैकुलम, ब्रैड हॉज, मुथैया मुरलीधरन और स्टीव स्मिथ जैसे कई स्टार खिलाड़ी थे और श्रीलंका के दिग्गज खिलाड़ी महेला जयवर्धने ने टीम का नेतृत्व किया और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जैफ लॉसन उनके कोच थे। आईपीएल 2011 में खेले गए 14 मैचों में, उन्होंने 6 जीते और 8 मैचों में हार गए जिससे लीग चरणों के बाद वह 10 टीमों की फ़ेहरिस्त में आठवें स्थान पर रहे। सितंबर 2011 में बीसीसीआई ने कोच्चि फ्रेंचाइजी को समाप्त कर दिया क्योंकि वे कुल फ़्रैंचाइज़ी शुल्क का भुगतान करने में असफल रहे। इस तरह से कोच्चि टस्कर्स केरल आईपीएल इतिहास में केवल एक ही सीज़न खेलने वाली टीम बन कर रह गई।

दिल्ली डेयरडेविल्स- ग्यारह सत्रों में कभी भी आईपीएल के फाइनल में नहीं पहुंचे

वीरेंदर सहवाग से केविन पीटरसन तक, विश्व क्रिकेट के कई बड़े नाम आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के साथ जुड़े रहे हैं लेकिन आईपीएल इतिहास में दिल्ली का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा है। हालांकि डेयरडेविल्स ग्यारह सत्रों में तीन बार (2008, 200 9 और 2012) नॉकआउट तक पहुंचे हैं, लेकिन वे उन तीन मौकों को भुनाने में नाकाम रहे और तीनों बार आईपीएल का सफर सिर्फ सेमीफाइनलिस्ट के रूप में खत्म किया। आईपीएल के पहले सीज़न में वह ख़िताब विजेता टीम राजस्थान रॉयल्स से सेमीफाइनल में हार गए। 2009 में, वे सेंचुरियन में महान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट की अगुवाई वाली डेक्कन चार्जर्स से हार गए। आईपीएल सीज़न 2012 में, पांचवें संस्करण में, लीग चरणों में टेबल टॉपर्स होने के बावजूद, कोलकाता नाइट राइडर्स (क्वालिफायर -1) और चेन्नई सुपर किंग्स (क्वालीफायर -2) से हारने के बाद फाइनल में क्वालीफाई करने में नाकाम रहे। और वर्तमान सीज़न में भी उनकी किस्मत नहीं बदली क्योंकि वे एक बार फिर प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकाम रहे। इस तरह से दिल्ली डेयरडेविल्स आईपीएल के इतिहास में एकमात्र ऐसी टीम है जिसने कभी भी आईपीएल के फाइनल में जगह नहीं बनाई।

डेक्कन चार्जर्स- पिछले सीज़न में तालिका के सबसे नीचे रहने के बाद अगले सीज़न में जीता ख़िताब

आईपीएल के पहले संस्करण में डेक्कन चार्जर्स सबसे मजबूत टीमों में से एक थे, जिसमें एडम गिलक्रिस्ट, हर्शेल गिब्स, एंड्रयू साइमंड्स और शाहिद आफरीदी जैसे धुरंधर खिलाड़ी शामिल थे। उन्होंने उस वर्ष कुछ यादगार प्रदर्शन किए लेकिन परिणाम उनके पक्ष में नहीं रहा और उन्होंने अपने 14 लीग मैचों में केवल 2 मैच जीते। इस प्रकार हैदराबाद की यह टीम 8 टीमों की फेहरिस्त में सबसे निचले स्थान पर रही। हालांकि, दक्षिण अफ्रीका में खेले गए आईपीएल के दूसरे सत्र में उन्होंने गिलक्रिस्ट के नेतृत्व में जोहान्सबर्ग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को हराकर खिताब जीतकर सबको हैरान कर दिया था। इस तरह से पिछले सीज़न में अंक तालिका में सबसे नीचे रहने वाले डेक्कन चार्जर्स ने अगले सीज़न में ख़िताब पर कब्ज़ा जमाया। लेखक: अश्वन राव अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...