Create
Notifications

क्रिकेट के लिए टी20 प्रारूप जरुरी: सौरव गांगुली

Naveen Sharma

क्रिकेट के तीसरे प्रारूप यानि कि टी20 को लगातार आलोचनाओं का शिकार होना ही पड़ा है। पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने इसका पक्ष लिया है। गांगुली ने कहा कि क्रिकेट के लिए टी20 जरुरी है। गांगुली के अनुसार यह छोटा प्रारूप दर्शकों को भी काफी पसंद आता है। इसके अलावा गांगुली ने भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका में प्रदर्शन की भी सराहना की। प्रेस वार्ता में उन्होंने ये बातें कही। कई भारतीय युवा खिलाड़ियों के टीम में आने को लेकर बात करते हुए गांगुली ने चयन समिति को पारदर्शी बताते हुए अपने समय को भी याद किया और कहा कि उस समय भी ऐसा ही था। इसके अलावा गांगुली ने महेंद्र सिंह धोनी और हार्दिक पांड्या के बारे में भी प्रतिक्रिया दी, दादा ने कहा कि धोनी का प्रदर्शन सम्मान करने लायक है। टी20 क्रिकेट को आज की जरुरत बताने के अलावा गांगुली ने लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने में आने वाली समस्याओं के बारे में बताया कि उन्होंने बोर्ड को इस बारे में पत्र लिखा है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि राज्य और बीसीसीआई के नियमों में संशोधन के लिए सुप्रीम कोर्ट को संबोधित करते हुए समस्याओं से अवगत कराया जाएगा। गांगुली ने कहा कि समय की कमी के चलते सिफारिशें लागू करने में देरी हुई है। सौरव गांगुली ने दक्षिण अफ्रीका में भारतीय टीम के अब तक के प्रदर्शन के बारे में कहा कि यह सबसे शानदार प्रदर्शन दक्षिण अफ्रीका में टीम इंडिया ने किया है। उन्होंने इस दौरे को बेहद शानदार करार दिया। सौरव गांगुली की नजरें सभी तरह की क्रिकेट पर रहती है। यही कारण है कि उन्होंने भारतीय महिला खिलाड़ी हरमनप्रीत कौर के छक्कों की तारीफ़ करते हुए कहा कि ऐसा किसी को करते हुए नहीं देखा। गौरतलब है कि गांगुली क्रिकेट से जुड़े हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखते आए हैं और इस बार भी उन्होंने ठीक वैसा ही किया है।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...