Create

"मैं कहूंगा कि ट्विटर के बजाय फोकस करें और प्रदर्शन करें" - राहुल तेवतिया को मिली बड़ी सलाह 

राहुल तेवतिया ने भारतीय टीम में ना चुने पर निराशा जताई थी
राहुल तेवतिया ने भारतीय टीम में ना चुने पर निराशा जताई थी

गुजरात टाइटंस (GT) के ऑलराउंडर राहुल तेवतिया (Rahul Tewatia) ने आईपीएल 2022 (IPL 2022) में जबरदस्त प्रदर्शन किया और उन्होंने अपने बल्ले के दम पर कई मैच अपनी टीम को जिताये थे। बाएं हाथ के बल्लेबाज ने 16 मैचों में 147.61 के जबरदस्त स्ट्राइक रेट से 217 रन बनाये। पंजाब किंग्स के खिलाफ 20वें ओवर की आखिरी दो गेंदों पर लगातार दो छक्के लगाकर दिलाई गई जीत को कौन भूल सकता है। आईपीएल में अच्छा करने की वजह से पिछले साल तेवतिया को इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टी20 सीरीज के लिए चुना गया था लेकिन उन्हें मौका नहीं मिला था। इस बार भी तेवतिया को उम्मीद थी कि आईपीएल 2022 में किये गए प्रदर्शन के आधार पर उन्हें आयरलैंड दौरे (IRE vs IND) के लिए चुना जायेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

भारतीय स्क्वाड में ना चुने जाने के बाद राहुल तेवतिया ने एक रहस्मयी ट्वीट करते हुए अपनी निराशा जाहिर की थी। उन्होंने ट्वीट में लिखा था,

उम्मीदें दुख देती हैं
Expectations hurts 😒😒

उनके इस ट्वीट को लेकर दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने भी प्रतिक्रिया दी है। स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए, स्मिथ ने समझाया कि चयनकर्ताओं, कोचों और कप्तानों को ऑस्ट्रेलिया की परिस्थितियों को देखना चाहिए और उसी के अनुसार अपनी टीम का चयन करना चाहिए। उन्होंने तेवतिया को सलाह दी कि वे अपने प्रदर्शन को चर्चा में आने दें।

उन्होंने कहा,

भारत में यह बहुत मुश्किल है क्योंकि आप लोगों के पास इतनी प्रतिभा है। और कोच राहुल द्रविड़, और कप्तान रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलिया की परिस्थितियों को देखते हुए अपने अधिकांश लोगों को चुना होगा। मैं कहूंगा कि ट्विटर के बजाय, फोकस करें, प्रदर्शन करें और अगली बार जब आपका समय आए तो सुनिश्चित करें कि कोई आपको छोड़ नहीं सकता।

राहुल तेवतिया को मिलनी चाहिए थी टीम में जगह - सुनील गावस्कर

स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत के दौरान सुनील गावस्कर ने राहुल तेवतिया को लेकर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा,

राहुल तेवतिया को आयरलैंड सीरीज के लिए टीम में जरूर होना चाहिए था। उनका सेलेक्शन टीम में किया जाना चाहिए था। आईपीएल में उनका परफॉर्मेंस जबरदस्त रहा था। पूरे टूर्नामेंट के दौरान उन्होंने काफी चतुराई से बल्लेबाजी की थी। जिस तरह का टेंपरामेंट उन्होंने आईपीएल के दौरान दिखाया था, उसे देखते हुए उन्हें कम से कम टीम का 16वां खिलाड़ी जरूर होना चाहिए था। कम से कम उनके मेहनत का फल उन्हें जरूर मिलना चाहिए था

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment