Create

दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेट इतिहास की महानतम वनडे ड्रीम टीम पर एक नज़र

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda

साउथ अफ़्रीका की टीम को अकसर ‘चोकर’ कहा जाता है क्योंकि वर्ल्ड कप जैसे बड़े मुक़ाबले में वो आख़िरी मौक़ों पर हार जाती है। हांलाकि बड़े टूर्नामेंट में उनकी किस्मत अकसर धोखा दे जाती है, लेकिन वो हमेशा विश्व की टॉप वनडे टीम में शामिल रही है। प्रोटियास टीम लगातार बेहतर प्रदर्शन करने के लिए जानी जाती रही है। इस लेख में हम साउथ अफ़्रीका के उन महान क्रिकेटर्स को मिलाकर एक टीम तैयार कर रहे हैं जो अगर हक़ीकत में तैयार हो पाती तो दुनिया के किसी भी टीम को हरा सकती। हम यहां लंबे वक़्त तक टीम में शामिल क्रिकेटर्स को ही शामिल कर रहे हैं। इसके अलावा उन खिलाड़ियों को शामिल किया गया है जो विश्व के अलग-अलग मैदानों पर संतुलित प्रदर्शन के लिए जाने जाते थे। इस अलावा उन खिलाड़ियों का ख़ास ध्यान रखा गया है जो मज़बूत विपक्षी टीम के ख़िलाफ़ शानदार प्रदर्शन करते थे। (नोट: ये सभी आंकड़े 12 फ़रवरी 2018 तक के हैं)

सलामी बल्लेबाज़

हाशिम अमला ने साल 2008 में अपने वनडे करियर की शुरुआत की थी। तब से लेकर अब तक उन्होंने साउथ अफ़्रीका को हमेशा मज़बूती दी है। वो अब अपनी टीम के लिए रन मशीन बन चुके हैं। अमला ने अब तक 162 मैच खेले हैं और 50.36 की औसत से 7454 रन बनाए हैं। इनमें 26 शतक और 34 अर्धशतक शामिल हैं। अमला ने वनडे इतिहास में सबसे तेज़ 2000, 3000, 4000, 5000, 6000 और 7000 रन पूरे करने का रिकॉर्ड बनाया है। हांलाकि प्रोटियास टीम में और भी महान बल्लेबाज़ हुए हैं, लेकिन ग्रीम स्मिथ जैसा तोहफ़ा साउथ अफ़्रीकी क्रिकेट को पहले कभी नहीं मिला। साल 2002 और 2013 के बीच उन्होंने 197 वनडे मैचों में 37.98 की औसत और 80.81 के स्ट्राइक रेट से 6989 रन बनाए हैं। इनमें 10 शतक और 47 अर्धशतक शामिल हैं। साउथ अफ़्रीकी टीम को स्मिथ से बेहतर कप्तान आज तक कोई नहीं हुआ। हमने स्मिथ को इस ड्रीम टीम का कप्तान बनाया है।

मध्य क्रम

जिस रक्षात्मक तरीके और एकाग्रता के साथ जैक्स कालिस रन बनाते थे हर कोई उनका दीवाना हो जाता था। वो टीम में नंबर 3 के लिए सबसे बेहतर बल्लेबाज़ थे। वो साउथ अफ़्रीका के सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं। उन्होंने 328 वनडे में 44.36 की औसत और 72.89 की स्ट्राइक रेट से 11,579 रन बनाए हैं। इनमें 17 शतक और 86 अर्धशतक शामिल हैं। उन्होंने 4.84 की इकॉनमी रेट से 273 विकेट हासिल किए हैं। बिना किसी शक के ये कहा जा सकता है कि एबी डीविलियर्स वनडे में साउथ अफ़्रीका के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज़ों में से एक हैं। उन्होंने 226 वनडे में 53.90 की औसत और 101.15 की स्ट्राइक रेट से 9541 रन बनाए हैं। इनमें 25 शतक और 53 अर्धशतक शामिल हैं। वो वनडे में कई बार विकेटकीपिंग भी करते हुए नज़र आए हैं। 3 विकेट गिरने के बाद अगर 5वें नंबर के लिए सबसे बेहतर बल्लेबाज़ कोई है तो वो है फ़ॉफ़ डू प्लेसी। वो जब भी पिच पर उतरते हैं तो स्कोरबोर्ड की रन संख्या को बढ़ाते रहते हैं। डुप्लेसी ने 117 वनडे में 44.68 की औसत और 88.30 के स्ट्राइक रेट से 4379 रन बनाए हैं। छठे नंबर पर टीम में एक ऐसे बल्लेबाज़ की ज़रूरत होती है जो जल्दी से रन बना सके। जॉन्टी रोड्स विकेटों की बीच में तेज़ी से दौड़ लगाने के लिए जाने जाते थे। हांलाकि क्रिकेट की दुनिया में वो एक बेहतरीन फ़ील्डर के तौर पर मशहूर हैं लेकिन वो बल्लेबाज़ी में भी किसी से कम नहीं थे। उन्होंने 245 मैच में 35.11 की औसत और 80.90 की स्ट्राइक रेट से 5935 रन बनाए हैं। इनमें 2 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं।

ऑलराउंडर

लांस क्लूज़नर ने वर्ल्ड कप 1999 में जैसा प्रदर्शन किया था वो विश्व कप के इतिहास के सबसे यादगार पलों में से एक है। वो गेंद को बाउंड्री के पार पहुंचाने में माहिर थे और फ़ील्डिंग में उनका कोई जवाब नहीं था। 171 वनडे मैचों में उन्होंने 41.10 की औसत और 89.91 के स्ट्राइक रेट से 3576 रन बनाए थे। गेंदबाज़ी की बात करें तो उन्होंने वनडे में 4.70 की औसत से 192 विकेट हासिल किए थे। शॉन पोलॉक ऐसे बल्लेबाज़ हैं जिनमें हुनर की कोई कमी नहीं है। उन्होंने टीम में कप्तान की भी भूमिका निभाई थी। इस तेज़ गेंदबाज़ ने 303 वनडे मैच में 24.50 की औसत से 393 विकेट हासिल किए थे। एक बल्लेबाज़ के तौर पर वो ज़रूरी रन बनाने में माहिर थे उन्होंने वनडे में 86.69 की औसत से 3519 रन बनाए हैं।

गेंदबाज़

स्पिन गेंदबाज़ के तौर पर इमरान ताहिर कामयाब गेंदबाज़ों में से एक हैं। ताहिर का जन्म पाकिस्तान के लाहौर में हुआ था, लेकिन किसे पता था कि वो एक दिन प्रोटियास टीम की शान बनेंगे। इस लेग स्पिनर ने 84 वनडे मैच में 24.51 की औसत और 4.67 की इकॉनमी रेट से 139 विकेट हासिल किए हैं। वो ज़रूरत पड़ने पर टीम के लिए अच्छी बल्लेबाज़ी भी करते हैं। यही वजह है कि आज वो प्रोटियास टीम के अहम खिलाड़ी हैं। मखाया एंटनी भले ही हमे मुस्कुराते और हंसते नज़र आते हैं लेकिन जब वो पिच पर गेंदबाज़ी करने आते हैं तो बल्लेबाज़ों के दिलों में ख़ौफ़ पैदा कर देते थे। उनकी जानलेवा गेंद से अच्छे अच्छों के हौंसले पस्त हो जाते थे। उन्होने 173 वनडे मैच में 24.65 की औसत और 4.35 की इकॉनमी रेट से 266 विकेट हासिल किए हैं। उन्होंने 4 बार एक मैच में 5 विकेट हासिल किए हैं। तेज़ गेंदबाज़ एलन डॉनल्ड किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। वो जब से साउथ अफ़्रीकी टीम में आए हैं उनकी टीम ने नई ऊंचाइयों को छुआ है। उन्होंने 164 वनडे मैच में 21.78 की औसत 4.15 की इकॉनमी रेट से 272 विकेट हासिल किए हैं।

12वां खिलाड़ी और पूरी टीम

ये देखना ताज्जुब की बात है कि डेल स्टेन को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा गया है। हांलाकि टेस्ट करियर में उन्होंने शानदार खेल दिखाया है लेकिन वो वनडे टीम में आते-जाते रहे हैं। उन्होंने 116 वनडे मैचों मॆ 26.62 और 4.94 की इकॉनमी रेट से 180 विकेट हासिल किए हैं। वो तेज़ गेंदबाज़ी करने में भी माहिर हैं। कई खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्हें भले ही प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिल पाई हो लेकिन 16 की टीम में रखा गया है। गैरी कर्स्टन एक वैकल्पिक ओपनर की भूमिका निभा सकते हैं। दूसरे विकेटकीपर के लिए क्विंटन डी कॉक का नाम शामिल किया गया है। मध्य क्रम में शानदार बल्लेबाज़ी और बेहतरीन कप्तानी को देखते हुए हैंसी क्रोनिए को 16 की लिस्ट में शामिल किया गया है। मैच फ़िक्सिंग में उनका नाम आने से पहले वो प्रोटियाज़ टीम की जान थे। इस लिस्ट में सबसे आख़िरी नाम मॉर्ने मॉर्कल का है जो बाउंसर फेंकने में माहिर हैं।

साउथ अफ़्रीका की वनडे ड्रीम टीम

हाशिम अमला, ग्रीम स्मिथ (कप्तान), जैक्स कालिस, एबी डीविलियर्स(विकेटकीपर), फ़ॉफ़ डू प्लेसी, जॉन्टी रोड्स, लांस क्लूज़नर, शॉन पोलॉक, इमरान ताहिर, मखाया एंटनी और एलन डॉनल्ड

16 खिलाड़ियों की टीम के बाक़ी खिलाड़ी

डेल स्टेन(12वां खिलाड़ी), गैरी कर्स्टन, क्विंटन डी कॉक, हंसी क्रोनिए और मॉर्ने मॉर्केल लेखक – राम कुमार अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...