हनुमा विहारी ने प्रमुख टूर्नामेंट के बीच में ही छोड़ी कप्तानी, बड़ी वजह आई सामने 

हनुमा विहारी ने बंगाल के खिलाफ कमान संभाली थी
हनुमा विहारी ने बंगाल के खिलाफ कमान संभाली थी

भारत में लाल गेंद के प्रमुख घरेलू टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) की शुरुआत 5 जनवरी से हो चुकी है और आज से इसके दूसरे राउंड की शुरुआत हुई। इस बीच हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) ने एक बड़ा फैसला लिया और उन्होंने शेष सीजन के लिए आंध्रा की कप्तानी छोड़ दी है। उनकी जगह अब रिकी भुई (Ricky Bhui) कप्तानी का जिम्मा संभालेंगे, जो पहले भी कई मौकों पर टीम का नेतृत्व कर चुके हैं। विहारी ने पहले राउंड में बंगाल के खिलाफ खेले गए मैच में कमान संभाली थी लेकिन आज से मुंबई के खिलाफ शुरू हुए मुकाबले में एक खिलाड़ी के तौर पर प्लेइंग XI का हिस्सा हैं।

30 वर्षीय बल्लेबाज अपनी बल्लेबाजी पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं, इसी वजह से उन्होंने अब कप्तानी नहीं करने का फैसला लिया है। उन्होंने बंगाल के खिलाफ 51 रनों की पारी खेली थी। वहीं, भुई ने बेहतरीन शतक जड़ते हुए 175 रन बनाये थे और अपनी टीम को बढ़त दिलाई थी, जिसकी वजह से मुकाबले के ड्रॉ होने के बावजूद उनकी टीम को तीन अंक मिल गए थे।

रिकी भुई ने हनुमा विहारी के कप्तानी छोड़ने के पुष्टि की लेकिन एक बल्लेबाज के तौर पर उनकी जमकर सराहना भी की। उन्होंने कहा,

उन्होंने (विहारी) निजी कारणों से पद छोड़ा है। वह अपनी बल्लेबाजी पर ज्यादा ध्यान देना चाहते थे। उन्हें पिछले मैच में भी अच्छी शुरुआत मिली थी लेकिन वह इसे जारी नहीं रख पाए थे। हम जानते हैं कि वह बड़े शतक बनाने में सक्षम हैं, यह एक पारी की बात है (इससे पहले) कि वह बड़े शतक बनाने का आत्मविश्वास वापस हासिल करें। मुझे यकीन है कि वह उस लय में वापस आ जाएंगे।

गौरतलब हो कि हनुमा विहारी एक समय भारतीय टेस्ट टीम का भी अहम हिस्सा बन गए थे और उन्होंने साल 2021 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी एक यादगार पारी खेली थी। उस मुकाबले में उन्होंने 161 गेंदों में नाबाद 23 रन बनाये थे और चोटिल होने के बावजूद भारत के लिए मैच बचाया था। हालाँकि, पिछले कुछ समय से वह टीम में जगह नहीं बना पाए हैं। रणजी ट्रॉफी के मौजूदा सीजन में अच्छे प्रदर्शन के दम पर विहारी एक बार अपनी दावेदारी पेश करना चाहेंगे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar