Create

ऑस्ट्रेलिया को 3 ओवर में 30 रन चाहिए थे, मैंने धोनी से कहा कि मुझे गेंद दो - पूर्व दिग्गज ने सेमीफाइनल मैच को किया याद

India v Pakistan - ICC Twenty20 World Championship
हरभजन सिंह ने सेमीफाइनल मैच को किया याद

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2007 में खेला गया टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) का सेमीफाइनल मुकाबला काफी रोमांचक रहा था। पूर्व भारतीय ऑफ स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने बताया कि कैसे उस मैच में टीम इंडिया ने जीत हासिल की थी और क्यों उन्होंने एम एस धोनी से कहा था कि उन्हें गेंदबाजी पर लगाया जाए।

दरअसल 2007 के टी20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में भारत ने पहले खेलते हुए 188 रनों का विशाल स्कोर बनाया था। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने भी मैथ्यू हेडन की जबरदस्त पारी की बदौलत बखूबी रनों का पीछा किया। हेडन ने सिर्फ 47 गेंद पर 62 रनों की पारी खेली थी। ऑस्ट्रेलिया को आखिरी 3 ओवर में सिर्फ 30 ही रन चाहिए थे। एम एस धोनी को अब एक मुश्किल फैसला करना था कि वो किससे गेंदबाजी कराएं। उनके तीसरे तेज गेंदबाज जोगिंदर शर्मा ने 2 ओवरों में 31 रन दे दिए थे।

हरभजन सिंह ने एम एस धोनी से कहा कि मुझे गेंदबाजी पर लगाओ

इसके बाद हरभजन सिंह ने कहा कि उन्हें गेंदबाजी पर लगाया जाए। धोनी ने उनकी बात सुनी और हरभजन को गेंदबाजी पर लगा दिया। स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत के दौरान हरभजन ने अपने उस ओवर को याद किया। उन्होंने कहा,

मैंने धोनी से कहा, कि मुझे गेंद दो। ऑस्ट्रेलिया को अभी भी 3 ओवरों में 30 रन चाहिए थे। मैंने वो ओवर डाला और माइकल क्लार्क का विकेट चटकाया। इससे हमें काफी फायदा हुआ।

आपको बता दें कि हरभजन सिंह ने उस ओवर में केवल 3 रन ही दिए थे और माइकल क्लार्क का विकेट भी लिया था। आखिर में टीम इंडिया ने 15 रनों से जीत हासिल कर फाइनल में जगह बना ली थी। इसके बाद फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को हराकर वर्ल्ड कप की ट्रॉफी अपने नाम की थी। भारत को टी20 वर्ल्ड कप जीते हुए 15 साल हो गए हैं।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
3 comments