Create
Notifications

हार्दिक पांड्या के जन्मदिन पर उनसे जुड़ी कुछ बातों पर एक नज़र

E
E
Modified 11 Oct 2018
न्यूज़

टीम इंडिया के स्टाइलिश और स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या गुरुवार को अपना 25वां जन्मदिन मना रहे हैं।आइये आज इस मौके पर उनसे जुड़ी कुछ बातों पर नज़र डालते हैं -

Enter caption

भारतीय टीम के स्टार ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या का जन्म गुजरात के सूरत जिले के चौरयासी गांव में हुआ था। उनका पूरा नाम हार्दिक हिमांशु पांड्या है। दरअसल हार्दिक अपने पिता हिमांशु पांड्या का नाम मध्य नाम के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। उनके पिता का सूरत में मोटर फाइनेंस का व्यापार करते थे।

हार्दिक पांड्या के पिता अपने दोनों बेटों का क्रिकेट के प्रति रुझान देखते हुए वड़ोदरा के लिए पलायन किया, जहां हार्दिक और उनके बड़े भाई क्रुणाल पांड्या ने पूर्व क्रिकेटर किरण मोरे की क्रिकेट अकादमी से प्रशिक्षण लिया।

बचपन में हार्दिक पांड्या के परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद खराब थी। उनके पिता को तीन दिल दौरे पड़ने की वजह से अपना व्यापार छोड़ना पड़ा। मगर फिर भी हार्दिक के पिता ने अपने बेटों के भारतीय टीम में खेलने के सपने को सच करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

हार्दिक पांड्या ने क्रिकेट पर ध्यान देने के लिए नौंवी कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी।

उनके पिता के अनुसार 18 वर्ष की उम्र तक हार्दिक लेग स्पिन गेंदबाजी किया करते थे मगर एक बार एक घरेलू मैच में उनकी टीम को एक तेज़ गेंदबाज की आवश्यकता थी। ऐसे में उनके कोच सनथ कुमार ने उन्हें तेज़ गेंदबाजी करने की सलाह दी जिसमें उन्होंने उम्मीद से बढ़कर प्रदर्शन किया। उसके बाद से ही हार्दिक मध्यम गति के तेज़ गेंदबाज बन गए।

हार्दिक पांड्या को मुंबई इंडियंस के कोच जॉन राइट ने पहली बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के वेस्ट ज़ोन मैच में खेलते हुए देखा था। चयन के लिए आयोजित ट्रायल में उनसे हर कोई प्रभावित नज़र आया था।

Enter caption

आईपीएल 2015 की नीलामी से पहले रिकी पोंटिंग ने लगभग 50 और खिलाड़ियों की वीडियो देखकर उनको चुना था। उन्हें सबसे पहले 10 लाख के बेस प्राइस पर मुंबई इंडियंस के साथ जोड़ा गया था।

आईपीएल के आठवें सीज़न में हार्दिक उस समय लोगों के चहेते बन गए थे जब उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ महज़ 8 गेंदों में 21 रन की ताबड़तोड़ पारी खेल कर मुंबई को जीत दिलाई थी। जिस पर सचिन तेंदुलकर ने आकर उनसे कहा था ' अगले 18 महीनों में तुम भारतीय टीम के लिए खेलोगे।' सचिन की ये बात सच साबित हुई और उन्हें एक साल के अंदर ही एशिया कप और 2016 टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम में शामिल कर लिया गया।

हार्दिक ने 26 जनवरी 2016 को पहला अंतर्राष्ट्रीय टी20 मैच खेला था , वहीं उसी साल अक्टूबर में एकदिवसीय क्रिकेट में भी पर्दापण किया। 

10 टेस्ट मैच खेल चुके हार्दिक अब तक 1 शतक लगा चुके हैं वहीं एकदिवसीय क्रिकेट में तीन अर्धशतक उनके नाम दर्ज हैं।

Published 11 Oct 2018
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now