Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

SAvIND: बल्लेबाजी के दौरान हार्दिक पांड्या का गै़र ज़िम्मेदाराना रवैया

ऋषि
ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 20:25 IST
Advertisement

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रहे दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की लापरवाही वाली हरकत से शायद भारतीय टीम पहली पारी में अच्छी बढ़त बनाने से चूक जाये। कप्तान विराट कोहली ने अपने टेस्ट करियर का 21वां शतक पूरा किया और लग रहा था कि पांड्या के साथ मिलकर वह भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचा देंगे लेकिन उसी समय पांड्या से इतनी बड़ी गलती हो गयी जिसके लिए माफ़ी भी नहीं मिल सकती।    

कोहली के शतक पूरा होने के ठीक अगले ओवर में पांड्या ने कगिसो रबाडा की गेंद पर मिड-ऑन की तरफ खेला और रन लेने के लिए बाहर निकले लेकिन कोहली ने रन लेने से मना कर दिया। उस समय तक पांड्या के पास क्रीज में वापस लौटने का पूरा मौका था। इसी बीच वर्नन फिलैंडर ने गेंद पांड्या की छोर की तरफ़ फेंका और गेंद सीधे विकेट पर जाकर लग गई। दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ियों ने धीमी अपील की लेकिन अंपायर माईकल गौग ने तीसरे अंपायर के पास जाना मिनासिब समझा। जहाँ रिप्ले में साफ दिख रहा था कि जब गेंद विकेट पर लगी उस समय पांड्या का पैर और बल्ला दोनों ही हवा में था और उन्हें रन आउट घोषित कर दिया गया। क्रिकेट में हमेशा बल्लेबाजों को सिखाया जाता है कि जमीन पर घसीटते हुए बल्ला क्रीज में ले जाना चाहिए लेकिन यहाँ पांड्या ने लापरवाही कर दी और उन्हें अपना विकेट गंवाना पड़ा। पांड्या के विकेट पर प्रतिक्रिया देते हुए कमेन्ट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने कहा “इस गलती के लिए माफ़ी नहीं मिल सकती”। हार्दिक पांड्या बल्ले से अच्छे फॉर्म में थे और पहले मैच की पहली पारी में उन्होंने मुश्किल वक्त में शानदार 93 रनों की पारी खेली थी, इसी वजह से उनका इस तरीके से आउट होने भारतीय टीम पर भारी पड़ सकता है। इस आउट के बाद पांड्या को यह सबक जरुर मिल गया होगा कि बल्लेबाजी समय हमेशा सचेत रहना चाहिए।   Published 15 Jan 2018, 15:00 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit