COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

दुनिया के महान ऑलराउंडरों की तुलना में पहले 10 टेस्ट मैच के बाद हार्दिक पांड्या के प्रदर्शन पर एक नज़र

12   //    27 Aug 2018, 12:52 IST

साल 2017 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में कदम रखने वाले स्टार खिलाड़ी हार्दिक पांड्या आज टीम के अहम खिलाड़ी के रूप में अपनी जगह बना चुके हैं। उन्होंने अपने पहले ही टेस्ट मैच में अर्धशतक जमा कर क्रिकेट के इस प्रारूप की सफल शुरुआत की थी। साउथ अफ्रीका के खिलाफ भी उनका प्रदर्शन संतोषजनक रहा।

वहीं इस समय वो इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में शानदार बल्लेबाजी और गेंदबाजी कर अपनी उपयोगिता साबित कर रहे हैं। पांड्या उन दो बल्लेबाजों में से एक बन गए हैं जिन्होंने टेस्ट प्रारूप में अब तक खेली हर पारी में कम से कम दस रन जरूर बनाए हैं। पांड्या ने अब तक खेले दस टेस्ट मैचों में 538 रन बनाए हैं और उनका औसत 35.2 रहा है। इस दौरान उन्होंने एक शतक लगाया जबकि चार अर्धशतक भी लगाए। गेंदबाजी में 27.69 की औसत से 16 विकेट भी चटकाए। उन्होंने औसतन हर 52वीं गेंद पर विकेट लिया है। हार्दिक का करियर अच्छी लय में है और ऐसे में हम यहां तुलना करने की कोशिश करेंगे कि भारत का यह स्टार खिलाड़ी पूर्व दिग्गज ऑलराउंडरों के समक्ष दस टेस्ट मैचों के बाद कहां खड़ा होता है  -


कपिल देव



 

कपिल देव ने 1978 में पाकिस्तान के खिलाफ अपने टेस्ट कैरियर की शुरुआत की थी और भारत के बेस्ट ऑलराउंडर खिलाड़ी के रूप में टीम को अलविदा कहा। कपिल देव ने अपने शुरुआती दस टेस्ट मैच में 39 की औसत से 29 विकेट हासिल किए। इस दौरान उन्होंने औसतन हर 66.3 गेंद पर विकेट हासिल किया। उन्होंने एक बार सात विकेट भी हासिल किए। बल्लेबाजी में कपिल ने 42.5 की औसत से 510 रन बनाए और एक शतक भी जमाया। भारत के इस स्टार खिलाड़ी ने 131 मैचों के बाद संन्यास ले लिया। इस दौरान उन्होंने 5248 रन बनाए और औसत रहा 31.5 का। 29.64 की औसत से 434 विकेट भी अपने नाम दर्ज किए।

 
1 / 4 NEXT
ANALYST
write interesting cricket stuff
Fetching more content...