Create
Notifications

अपने खराब फॉर्म को लेकर चिंतित नहीं हैं चेतेश्वर पुजारा

Abhishek Tiwary

भारतीय टीम में विशेषकर तीसरे क्रम को लेकर बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बावजूद चेतेश्वर पुजारा अपने खराब फॉर्म को लेकर चिंतित नहीं है और उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ शनिवार से जमैका में शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट में बेहतर प्रदर्शन करने का पूरा विश्वास है। दाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा कि कोच अनिल कुंबले को उन पर विश्वास है और उनका ध्यान टीम को विश्व की नंबर-1 टीम बनाने पर लगा है। पुजारा ने कहा, 'मैंने कुंबले से बात की थी, उन्होंने मुझे कुछ बातें बताई जो यहां नहीं उजागर कर सकता। मैं जिस तरह बल्लेबाजी कर रहा हूं और टीम के लिए योगदान दे रहा हूं, वह उसे लेकर काफी सकारात्मक हैं। वह मेरी बल्लेबाजी से खुश भी हैं। चीजें साधारण ही रख रहा हूं। मुझे हमेशा योगदान देना होगा और जिम्मेदारी के साथ खेलना होगा। मैं ऐसा ही कर रहा हूं और अपने खेल पर ध्यान दे रहा हूं। और मुझे नहीं लगता कि ज्यादा चिंता करने की जरुरत है क्योंकि मुझे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। भारतीय टीम ने दूसरे टेस्ट से पहले हल्का अभ्यास सत्र आयोजित किया, जिसमें सौराष्ट्र के बल्लेबाज ने अधिक समय तक बल्लेबाजी की। उन्होंने इसकी वजह बताई, 'मेरे ख्याल से मुझे थोड़ा अधिक अभ्यास करने करने की जरुरत है क्योंकि पहले टेस्ट में रन नहीं बना पाया था, इसलिए ज्यादा शॉट लगाए। मुझे कड़ी मेहनत करना पसंद है। जब भी अभ्यास करने का मौका मिलता है, मेरी हमेशा वही प्राथमिकता रहती है। मुझे वैकल्पिक दिन भी कड़ी मेहनत वाला अभ्यास करना पसंद है।' पिछले टेस्ट में खराब शॉट खेलकर आउट हुआ : पुजारा लोकेश राहुल मौके के इंतजार में है और पुजारा को इस बात का अंदाजा है कि अपनी जगह पक्की करने के लिए उन्हें बड़ी पारी खेलने की जरुरत है। हालांकि वह इसे लेकर जरा भी चिंतित नहीं है। उन्होंने कहा, 'चिंतित नहीं हूं, मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में चुनौतीपूर्ण पिचों पर अच्छे रन बनाए और बल्लेबाजी की। इसलिए आपको कुछ समय वास्तविक रहकर टीम के लिए योगदान देना होता है, बिना यह सोचे कि बड़े स्कोर बनाना हैं। यह हमेशा ही टीम की सफलता के लिए योगदान देने से जुड़ा मामला है।' पुजारा ने ड्रेसिंग रूम के माहौल को शानदार बताते हुए उम्मीद जताई कि विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया में टेस्ट में शीर्ष पर पहुंचने की क्षमता है। उन्होंने कहा, 'ड्रेसिंग रूम में माहौल अच्छा है। जब टीम अच्छा प्रदर्शन नहीं करती है तो लोगों को लगता है कि ड्रेसिंग रूम में सकारात्मकता नहीं होगी। मगर पहले औ अब सभी समय ड्रेसिंग रूम का माहौल अच्छा है।' बकौल पुजारा, 'सबसे अच्छी बात यह है कि हम सभी युवा हैं और एक दूसरे को अच्छे से जानते हैं। हमने अंडर-19 से लेकर भारत ए के लिए काफी क्रिकेट साथ खेला है, और ऐसे कई सत्र आयोजित किए जा चुके हैं, जिसमें हम एक-दूसरे को बेहतर तरीके से जान सके। इसलिए यह अच्छी गतिविधि है जहां हम एक-दूसरे की सोच को मान सके। हमारा आसान लक्ष्य है, हम जीतना चाहते हैं। फिलहाल यही हमारा लक्ष्य है और दूसरे टेस्ट में हमारा मकसद जीतना है। आगे चलकर हम विश्व की नंबर-1 टेस्ट टीम बनना चाहते हैं।'


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...