Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

अफ़ग़ानिस्तान की टीम टेस्ट क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन कैसे कर सकती है?

Modified 17 Jul 2018, 11:30 IST
Advertisement
अफ़ग़ानिस्तान टीम के फ़ैंस की संख्या में काफ़ी इज़ाफ़ा हो रहा है। हाल में ही इस टीम ने अपना पहला टेस्ट मैच टीम इंडिया के ख़िलाफ़ खेला था। इस मैच में अफ़ग़ानिस्तान का प्रदर्शन काफ़ी बुरा रहा था। वेस्टइंडीज़ ने अपना पहला टेस्ट इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेला था और उसे पारी की हार का सामना करना पड़ा था। इसी तरह पाकिस्तान ने अपना पहला टेस्ट मैच टीम इंडिया के ख़िलाफ़ खेला था, उसे भी पारी की हार नसीब हुई थी। अफ़ग़ान टीम ने अपने पहले टेस्ट मैच में कुल 212 रन बनाए थे, जो पाकिस्तान और वेस्टइंडीज़ से भी बुरा प्रदर्शन है। ऑस्ट्रेलिया और ज़िम्बाब्वे को छोड़कर सभी टीम को अपने पहले टेस्ट मैच में हार का सामना करना पड़ा था। कई टीम ऐसी भी हैं जिन्होंने अपने पहले टेस्ट मैच में विपक्षी टीम को कड़ी चुनौती दी है। इंग्लैंड ने अपना पहला टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेला था और उसे 45 रन की हार नसीब हुई थी। ज़िम्बाब्वे ने अपना पहला टेस्ट मैच भारत के ख़िलाफ़ खेला था और पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 456 रन का स्कोर खड़ा किया था। उस मैच को ज़िम्बाब्वे की टीम ड्रॉ करने में सफल रही थी। हाल में आयरलैंड ने अपने पहले टेस्ट मैच में फ़ॉलोऑन के बाद पाकिस्तान को कड़ी टक्कर दी थी। हांलाकि आयरिश टीम ये मैच 5 विकेट से हार गई थी, लेकिन उसने हर किसी का दिल जीत लिया था। अफ़ग़ानिस्तान की टीम के लिए ज़रूरी है कि वो विश्लेषण करे कि ग़लती कहां हो रही है। हम यहां उन 4 उपायों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जिनके ज़रिए अफ़ग़ानिस्तान की टीम टेस्ट क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन कर सकती है। #1 – ज़्यादा से ज़्यादा टेस्ट मैच खेला जाए अफ़ग़ान टीम के लिए ये बेहद ज़रूरी है कि वो अधिक संख्या में टेस्ट मैच खेले जिससे टीम के खेल में सुधार हो सके। ये टीम अपने देश में टेस्ट मैच नहीं खेल सकती, ऐसे में उसे विदेशी सरज़मीं पर सफ़ेद जर्सी पहननी होगी। इससे उन्हें ज़्यादा से ज़्यादा तजुर्बा हासिल हो सकेगा। भारत के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच हारने के बाद अफ़ग़ानिस्तान टीम के कप्तान असगर स्टानिकज़ई ने कहा था कि उनके साथी क्रिकेटर्स ने इससे पहले कभी भी टेस्ट मैच नहीं खेला था, इसलिए वो दबाव को झेलने मे नाकाम रहे। अगर वो ज़्यादा टेस्ट मैच खेलेंगे तो उन्हें दबाव में खेलने की आदत हो जाएगी और हालात के हिसाब से खेलने में परेशानी नहीं होगी।
1 / 4 NEXT
Published 17 Jul 2018, 11:30 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit