Create

ब्रिसबेन टेस्ट में 8 अतिरिक्त ओवर करने को लेकर स्टीव स्मिथ और अंपायरों के बीच कन्फ्यूजन

ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच गाबा मैदान पर खेले गए पहले टेस्ट के चौथे शाम 8 अतिरिक्त ओवर डालने को लेकर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और अंपायरों के बीच कुछ कन्फ्यूजन हुआ। स्मिथ ने बाद में कहा कि वो चाहते थे कि खेल अपने निर्धारित समय पर खत्म हो ताकि उनके गेंदबाजों को थोड़ा आराम मिल सके। लेकिन बाद में पता चला कि अंपायरों ने निर्धारित समय से ज्यादा खेल कराने का फैसला किया और इस बारे में उनकी स्टीव स्मिथ से बात हो चुकी थी। टेस्ट मैचों में आईसीसी के नियम के मुताबिक ' टेस्ट मैच के अंतिम दिन अंपायर अतिरिक्त 30 मिनट का खेल बढ़ सकते हैं। लेकिन ऐसा तभी संभव है जब दूसरी टीम के कप्तान की सहमति हो और अंपायर को लगे कि मैच का रिजल्ट इस अतिरिक्त समय में आ सकता है।' हालांकि ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने अंपायर रिचर्ड लिंगवर्थ और इयान गोल्ड से इस बारे में अफिशियल रुप से कोई बात नहीं की थी। लेकिन खेल के निर्धारित समय से खत्म होने से पहले स्मिथ ने अंपायरों से इस बारे में कुछ बात की थी, जिससे अंपायरों को लगा कि स्मिथ अतिरिक्त समय का खेल चाहते हैं। लेकिन ये पूरी तरह से अंपायर के ऊपर निर्भर होता है। अंपायर चाहें तो खेल को आगे बढ़ा सकते हैं या फिर नहीं। आईसीसी के मुताबिक अंपायर ऐसा फैसला तभी लेते हैं जब बल्लेबाजी करने वाली टीम के 7 विकेट गिर चुके हों। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में बल्लेबाजी करते हुए रात 9:30 बजे तक पाकिस्तानी टीम के 7 विकेट गिर चुके थे। इससे पहले बारिश के कारण मैच का कुछ समय बर्बाद भी हुआ था। स्मिथ ने कहा कि ' मुझे ये जानकर खुशी हुई कि अगर हमें जरुरत पड़ी तो हमारे पास अतिरिक्त आधा घंटा है'। बाद में अंपायरों ने मैच में रिजल्ट लाने के लिए खेल को अतिरिक्त समय तक ले जाने का फैसला किया। स्मिथ ने कहा कि अंपायरों ने सोचा कि खेल को अतिरिक्त समय तक ले जाने से खेल का नतीजा आ जाएगा। हम लोगों ने उस फैसले का सम्मान किया। लेकिन उस समय मैं खेल को निर्धारित समय पर ही खत्म करने के पक्ष में था, क्योंकि मैं अपने गेंदबाजों को आराम देना चाहता था। स्मिथ ने कहा कि हमारे गेंदबाजों ने पूरे दिन काफी मेहनत की और जब वो थक गए तो पाकिस्तानी बल्लेबाज उन्हें आसानी से खेलने लगे। स्मिथ ने कहा कि भले ही मैं निर्धारित समय पर ही खेल को खत्म किए जाने के पक्ष में था, लेकिन ये फैसला पूरी तरह से अंपायर का होता है कि वे क्या चाहते हैं, और उस फैसले का आपको सम्मान करना पड़ता है। खबरों के अनुसार ये सब तब शुरु हुआ जब दिन के खेल में 6 ओवर बचे थे, इसी दौरान स्मिथ ने अतिरिक्त समय के बारे में पूछा। अंपायर ने कहा कि विपक्षी टीम के 7 विकेट गिरने पर खेल अतिरिक्त समय तक जा सकता है, स्मिथ ने जवाब दिया कि वो पहले ही पाकिस्तानी टीम के 7 विकेट निकाल चुके हैं। बाद में स्टंप के समय स्मिथ स्लिप में खड़े होकर फील्डिंग कर रहे थे, उन्होंने पूरा निर्णय अंपायर के फैसले के ऊपर छोड़ दिया, जबकि अंपायरों को लगा कि स्मिथ अतिरिक्त समय का खेल चाहते हैं। उस समय रात करीब 9:30 बजे स्मिथ और अंपायरों के बीच अतिरिक्त समय को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई। ये अतिरिक्त 8 ओवर मैच के पूरे नतीजे को पलट सकते थे, लेकिन इससे पहले मेजबान ऑस्ट्रेलिया 27 ओवरों में महज 1 ही विकेट निकाल पाई थी। ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज पूरी तरह थक चुके थे और पाकिस्तान के बल्लेबाज उन्हें आसानी से खेल रहे थे। आधे घंटे के अतिरिक्त समय में पाकिस्तानी टीम ने 51 रन जोड़े और दिन के आखिरी ओवर में एक विकेट भी गंवाया। खेल रात 10:09 बजे तक चला। पाकिस्तानी कप्तान मिस्बाह-उल-हक भी 8 अतिरिक्त ओवर को लेकर चिंतित थे पाकिस्तानी कप्तान मिस्बाह-अल-हक ने कहा कि उनकी टीम 490 रनों का पीछा करते हुए ठीक-ठाक रन बना चुकी थी, लेकिन फिर भी 8 अतिरिक्त ओवर को लेकर वो चिंतित थे। मिस्बाह ने कहा कि 'दोनों चीजें हो सकती थी। ब्रिस्बेन में जहां दूधिया रोशनी में बल्लेबाजी करना काफी मुश्किल होता है वहां डे-नाइट टेस्ट मैच मे बल्लेबाजी आसान काम नहीं है। मिस्बाह ने कहा कि ' अतिरिक्त समय को लेकर हम थोड़े चिंतित जरुर थे लेकिन इस बात से खुश भी थे कि जिस समय अतिरिक्त समय लिया गया उस समय ऑस्ट्रेलिया के मुख्य तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क अपना स्पेल पूरा चुके थे'। मिस्बाह ने कहा कि ' हम यही उम्मीद कर रहे थे कि स्टार्क अब गेंदबाजी नहीं करेंगे और दूसरे छोर से शायद नाथन लियान गेंदबाजी करें, क्योंकि उस समय पिच पर नमी आ चुकी थी जिसकी वजह से गेंद को उतना स्विंग और टर्न नहीं मिलता'। मैंने सोचा कि 'अतिरिक्त समय में अगर हम 40 रन और बनाने में कामयाब रहे तो अगले दिन हमें इसका फायदा मिलेगा। ऐसा हुआ भी, हमने उस अतिरिक्त समय में 50 रन और जोड़े जिससे हम लक्ष्य के और करीब आ गए।' जिस समय ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अतिरिक्त समय लिया उस समय पाकिस्तानी तेज गेंदबाज वहाब रियाज बल्लेबाज असद शफीक के साथ क्रीज पर डटे हुए थे। वहाब रियाज ने बताया कि अतिरिक्त समय में उन्हें कोई दिक्कत नहीं हुई क्योंकि बल्लेबाजी के स्थिति तब अनुकूल थी। रियाज ने एबीसी रेडियो से कहा कि ' मैं इस बारे में नहीं सोच रहा था, लेकिन जब अंपायरों ने कहा कि आधे घंटे का खेल और होगा तब मैं खुश हुआ क्योंकि बल्ले पर तब गेंद आसानी से आ रही थी और असद भी काफी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। इसलिए मैं चाहता था कि वो उस अतिरिक्त समय में अपना शतक पूरा करें। हालांकि खेल के अंतिम दिन पाकिस्तान महज 39 रनों से मैच हार गया।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment