Create

5 खिलाड़ी जिन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज में मौका नहीं मिल सका

shami

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेली जाने वाली तीन मैचों की टी -20 श्रृंखला के लिए टीम इंडिया के लिए संभावित खिलाड़ियों की सूची में स्टार खिलाड़ियों को आराम दिए जाने की बात कही जा रही थी और युवाओं को मौका दिए जाने की बात कही जा रही थी। हालांकि टीम में बहुत कुछ बदलाव ना करते हुए कुछ आश्चर्यजनक नामों को टीम में शामिल किया गया है। श्रेयस अय्यर और मोहम्मद सिराज के रूप में कुछ अप्रत्याशित नाम टीम में शामिल हैं, लेकिन अधिकांश टीम को एक समान ही रखा गया है। न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 टीम इस प्रकार है- विराट कोहली(कप्तान), रोहित शर्मा(उप कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, मनीष पांडे, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, दिनेश कार्तिक, आशीष नेहरा, हार्दिक पंड्या, जसप्रीत बुमराह, श्रेयस अय्यर और मोहम्मद सिराज। हालांकि कुछ नाम ऐसे भी थे जिन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 में जगह दिये जाने की उम्मीद की जा रही थी लेकिन उनका चयन नहीं हुआ। आइए जानते हैं ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में: मोहम्मद शमी श्रीलंका के खिलाफ पहले दो टेस्ट के लिए मोहम्मद शमी टीम में शामिल है, लेकिन टी -20 टीम में उनको शामिल नहीं किया गया है। भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह ने जिस तरह से तेज गेंदबाजी जोड़ी के रूप में सीमित ओवरों में खुद को पहली पसंद के रूप में स्थापित कर लिया है ऐसे में शमी के लिए यहां अपने लिए जगह तलाशना मुश्किल हो रहा है। रणजी ट्रॉफी के आखिरी दौर में छत्तीसगढ़ के खिलाफ छह विकेट लेना यह सबूत है कि वह फिट हैं और खेल के प्रति उनकी तैयारी पूरी हैं। वह श्रीलंका में तीनों टेस्ट खेले थे और ऐसे में उसी विरोधियों के खिलाफ खेलने के लिए वह फिर से तैयार हैं। श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज से पहले कुछ अंतरराष्ट्रीय मैच खेल कर वह अपनी बेहतरीन तैयारी कर सकते थे जबकि ऐसे में भुवनेश्वर कुमार को आराम दिया जा सकता था, जो लंबे समय से बिना रूके क्रिकेट खेल रहे हैं। सिद्धार्थ कौल

kaul

मोहम्मद सिराज को टीम में शामिल करना कोई बुरा निर्णय नहीं था लेकिन सनराइर्जस हैदराबाद के उनके साथी सिद्धार्थ कौल टीम में बुलाये ना जाने पर खुद को दुर्भाग्यशाली मान सकते हैं। आईपीएल में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले इस 27 वर्षीय खिलाड़ी को इंडिया ए की तरफ से बुलाया गया। तब से कौल का प्रदर्शन शानदार से कुछ कम नहीं रहा है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में भारत की विजयी त्रिकोणीय सीरीज में चार मैचों में 8 विकेट लिए और न्यूजीलैंड ए के खिलाफ श्रृंखला में खेले गए दो मैचों में उन्होंने 6 विकेट चटकाए। भारत ए के लिए उनकी अंतिम छह ए श्रेणी के मैचों में लिए गए 14 विकेट उनके फॉर्म से परिचित कराने के लिए काफी हैं। इसलिए न्यूजीलैंड के खिलाफ टी -20 सीरीज के लिए इस 27 वर्षीय खिलाड़ी की जगह सिराज को शामिल करने का चयनकर्ताओं का फैसला आश्चर्यजनक लगता है। क्रुनाल पांड्या

krunal

क्रुनाल पांड्या ने इस महीने अपने भाई हार्दिक के दिल छूने वाले जन्मदिन बधाई संदेश के कारण सुर्खियां बंटोरी, जो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपने प्रदर्शन से तूफान ला चुके हैं। वह न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए भारतीय टीम में चयन की उम्मीद कर रहे थे लेकिन उनकी जगह ऑलराउंर अक्षर पटेल को तरजीद ही गई। क्रुनाल ने मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल के आखिरी दो संस्करणों में बेहतरीन प्रदर्शन किया, इस साल जिसकी शुरूआत उन्होंने टूर्नामेंट जीतने के साथ की थी, इस वजह से वह एक बार फिर से टीम इंडिया में दस्तक देने के लिए तैयार थे। उनमें बॉल को मैदान से दूर पहुंचाने की गति के साथ ही साथ अच्छे इकोनॉमी के साथ गेंदबाजी करने की क्षमता है, उनके पास इस कौशल का एक दुर्लभ संयोजन है। हालांकि चयनकर्ता ने पहले से ही परखे जा चुके अक्षर पटेल पर ही अपना विश्वास कायम रखा, जिन्होंने इस साल प्राप्त हुए अवसरों पर बेहतरीन प्रदर्शन किया है। विजय शंकर

vijayshankar

भारत ए में निरतंर जगह बनाने का मतलब है कि इस बल्लेबाज ने तमिलनाडु के लिए लगातार बेहतरीन प्रदर्शन किया है। पिछली दो सीरीज में इस 26 वर्षीय खिलाड़ी ने काफी अच्छा खेल दिखाया है और वह मध्यक्रम में फिट बैठते हैं। इसके साथ ही वो टीम इंडिया में मिडिल ऑर्डर को लेकर पैदा हुई समस्या को भी हल कर सकते हैं। तमिलनाडु के ऑलराउंडर ने मध्य क्रम में बल्ले के साथ खुद को एक अविश्वसनीय निरंतर खिलाड़ी के रूप में साबित किया है और यह भी दिखाया है कि वह गेंद के साथ भी समय पर कमाल दिखा सकते हैं। हालांकि भारत की ऑलराउंडर के लिए खोज हार्दिक पांड्या पर खत्म हो गयी है लेकिन यह भी एक सोचने वाली बात है कि वह हमेशा ही हर सीरीज में खेल नहीं सकते हैं। आधुनिक अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी होने की कुछ मांगें हैं जिसमें कुछ ही खिलाड़ी बिना किसी चोट के सभी प्रारूपों में खेलने में सक्षम हैं। इसे ध्यान में रखते हुए और पूरे श्रीलंकाई दौरे को किनारे रखते हुए चयनकर्ता हार्दिक पंड्या को आराम दे सकते थे और टी -20 सीरीज में फॉर्म में चले रहे ऑलराउंडर को आजमा सकते थे। अजिंक्य रहाणे

rahane

अगर यहां पर एक खिलाड़ी है जो खुद को दुर्भाग्यशाली मान सकता है, तो उसे अजिंक्य रहाणे होना चाहिए। यह दाएं हाथ का बल्लेबाज चैंपियंस ट्रॉफी से लगातार फॉर्म में है और उन्हें विराट कोहली का विश्वास भी हासिल हुआ है। कोहली के बयानों और उनके शानदार फार्म के बावजूद रहाणे टीम में जगह नहीं बना सके और केएल राहुल, जो कि फॉर्म में आने के लिए संघर्ष कर रहे थे उन्हें चुना गया है। 29 वर्षीय खिलाड़ी ने कैरेबियन में वेस्टइंडीज के खिलाफ मैन ऑफ द सीरीज प्रदर्शन के साथ श्रृंखला समाप्त की, लेकिन भारत के श्रीलंका दौरे में सीमित ओवरों के दौरान केवल एक बार खेलने का मौका दिया गया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज में उन्होंने लगातार चार अर्धशतक जड़े लेकिन यह भी उनके लिए पर्याप्त नही हो सका क्योंकि वह केवल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ट्वेंटी-20 सीरीज में शामिल नहीं हुए थे बल्कि न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच के लिए भी नहीं चुना गया था और अब टी-20 टीम से भी बाहर कर दिया गया है। लेखक- श्रीहरि अनुवादक- सौम्या तिवारी

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment