Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 वजहों से दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम अब भी प्लेऑफ़ में जगह बना सकती है

Modified 08 May 2017, 19:48 IST
Advertisement
फिरोज शाह कोटला मैदान पर मुम्बई इंडियंस के खिलाफ मिली 146 रन की शर्मनाक हार के साथ ही दिल्ली की आईपीएल के इस सीजन की ये सातवीं हार हुई। मुम्बई के खिलाफ मिली इस हार ने जहां दिल्ली के लिए प्लेऑफ में पहुंचने की राह में मुश्किल खड़ी कर दी, वहीं इतने बड़े अंतर से मिली हार का असर दिल्ली के नेट रन रेट पर भी पड़ा है, जिससे आखिरी लीग मुकाबलों में प्लेऑफ में पहुंचने में दिल्ली को काफी दिक्कत हो सकती है। दिलचस्प बात ये है, कि दिल्ली के कप्तान जहीर खान काफी आशावादी दिखाई दे रहे हैं। मैच के बाद प्रेस वार्ता में जहीर ने कहा “ये सिर्फ मुकाबले जीतने की बात है, अभी भी प्लेऑफ मुमकिन है।” हालांकि, अंक तालिका पर नजर डालें, तो दिल्ली के फैंस के लिए भी दिल्ली का प्लेऑफ में पहुंचना किसी करिश्मे से कम नहीं होगा। लेकिन जैसा हमने आईपीएल के इतिहास में देखा है, यहां ऐसे कई कारनामे हुए हैं, जिसके बाद कहा जा सकता है कि दिल्ली के पास मौका है टॉप-4 में पहुंचने का। दिल्ली को प्लेऑफ में क्वॉलिफाई करने के लिए इन पांच बातों की भूमिका अहम है। दिल्ली डेयरडेविल्स को अपने बाकी सारे मुकाबले जीतने होंगे दिल्ली डेयरडेविल्स को आईपीएल में बने रहने के लिए अपने बाकी बचे सारे मुकाबले जीतने होंगे। क्योंकि अब दिल्ली के लिए हर मुकाबला नॉकआउट मैच की तरह ही होगा, एक हार दिल्ली को आईपीएल के इस सीजन से बाहर कर सकती है। 11 मुकाबलों के बाद, दिल्ली को सिर्फ चार मौचों की जीत हासिल हुई है जिससे अंक तालिका में दिल्ली 8 अंकों के साथ 7वें नम्बर पर है। 10 मई को दिल्ली को गुजरात के खिलाफ कानपुर में खेलना है। गुजरात पहले ही प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी है इसलिए रैना एंड कम्पनी बेखौफ होकर मैदान में उतरेगी क्योंकि अब उनके पास खोने के लिए कुछ नहीं बचा। इस मुकाबले में दिल्ली को गुजरात की ताकत यानि बल्लेबाजी को सीमित रनों पर रोकना होगा और दिल्ली के गेंदबाज ऐसा करिश्मा करने में काबिल हैं। 12 मई को दिल्ली अपने होम ग्राउंड में पुणे सुपरजायंट्स के खिलाफ भिड़ेगी। ये मुकाबला दिल्ली के लिए काफी अहम होगा क्योंकि पुणे इस वक्त अपने शानदार फॉर्म में है। पुणे के कई दिग्गज खिलाड़ी इस टूर्नामेंट में बेहद बेहतरीन फॉर्म में है और जिस तरह से पुणे ने दमदार प्रदर्शन किया है उसे देखने से लगता है कि वो आखिरी दो में अपनी जगह बनाएगी। वहीं दूसरी ओर दिल्ली के लिए आईपीएल का ये सीजन कोई खास कमाल नहीं कर पाया, हालांकि पुणे के खिलाफ दिल्ली के बल्लेबाज कमाल करने का माद्दा रखते हैं। 14 मई को दिल्ली का आखिरी मुकाबला रॉयल चैलेंजर बैंगलोर से होगा। आरसीबी के लिए ये आईपीएल किसी बुरे सपने से कम नहीं है। दिल्ली की मजबूत गेंदबाजी आरसीबी के बल्लेबाजी आक्रमण को रोकने में अहम भूमिका निभा सकती है क्योंकि इस समय आरसीबी के बल्लेबाज अपनी खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। अगले पांच दिनों में खेले जाने वाले दिल्ली के ये तीन मुकाबले किसी कड़ी परीक्षा से कम नहीं हैं लेकिन दिल्ली के पास ऐसे कई शानदार खिलाड़ी हैं जो ऐसे मुश्किल हालात में दिल्ली की किस्मत बदलने का साहस रखते हैं। दिल्ली अगर ये तीनों मुकाबले जीत जाती है, तो दिल्ली को 6 अंक मिलेंगे और अंक तालिका में दिल्ली के कुल 14 अंक हो जाएंगे। 14 अंकों के साथ, दिल्ली टॉप-4 में पहुंचने की प्रबल दावेदार हो जाएगी, बशर्ते बाकी टीमों के परिणाम भी उस अनुरूप आएं।
1 / 5 NEXT
Published 08 May 2017, 19:48 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit