Create
Notifications

SAvIND: नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए मैं परिपक्कव हो गया हूं - अंजिक्य रहाणे

सावन गुप्ता

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 6 मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला का दूसरा मैच आज खेला जाएगा। सेंचूरियन में दोपहर 1:30 बजे से दोनों टीमों के बीच ये मुकाबला शुरु होगा। भारतीय टीम डरबन में खेला गया पहला मैच जीतकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना चुकी है। पहले मैच में भारतीय टीम मैनेजमेंट ने अंजिक्य रहाणे को नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए उतारा था और ये मास्टर स्ट्रोक साबित हुआ था। रहाणे ने 79 रनों की जबरदस्त पारी खेली थी और कप्तान विराट कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 189 रनों की मैराथन साझेदारी की थी। रहाणे का इस बारे में कहना है कि नंबर 4 पर बल्लेबाजी को लेकर वो अब काफी परिपक्कव हो गए हैं। उन्होंने कहा कि नंबर 4 पर बल्लेबाजी कैसे की जाती है मैं ये पूरी तरह समझ चुका हूं। मैं अब इस नंबर पर बल्लेबाजी को लेकर काफी परिपक्क हो चुका हूं। मुझे पता है कि नंबर 4 पर पारी को कैसे बनाया जाता है। गौरतलब है रहाणे से पहले भारतीय टीम ने नंबर 4 के लिए कई बल्लेबाजों को आजमाया था। केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, हार्दिक पांड्या, मनीष पांडेय, केदार जाधव और दिनेश कार्तिक जैसे खिलाड़ियों को पहले इस पोजिशन पर आजमाया जा चुका था। लेकिन इनमें से कोई खिलाड़ी ज्यादा सफल नहीं हुआ था या उस तरह का विश्वास टीम मैनेजमेंट को नहीं दे पाया कि वो इस स्थान के लिए सबसे उपयुक्त है। सब बल्लेबाजों को परखने के बाद अंजिक्य रहाणे को पहले वनडे मैच में नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए उतारा गया और वे इस भरोसे पर पूरी तरह से खरे उतरे। उन्हें जोहान्सबर्ग में हुए तीसरे टेस्ट मैच में भी नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया था और इससे उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ गया। रहाणे ने कहा कि नंबर 4 पर बल्लेबाजी काफी अलग होती है और जब जोहान्सबर्ग टेस्ट में मैंने इस पोजिशन पर बैटिंग करते हुए 48 रन बनाए तो इससे मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ गया। हालांकि उस नंबर पर अच्छा करने के लिए मैं काफी लालायित था। 2015 के विश्व कप में भी मैंने इसी क्रम पर बल्लेबाजी की थी और उससे भी मुझे आत्मविश्वास मिला। दूसरे एकदिवसीय मैच से पहले पत्रकारों से बातचीत में रहाणे ने कहा कि मैं स्वभाविक तौर पर आक्रामक खिलाड़ी हूं और ये पिचें मेरी बल्लेबाजी को सूट करती हैं। यहां पर अच्छी गति और बाउंस होता है, इसलिए मुझे बल्लेबाजी करने में आसानी होती है। वहीं डरबन में अपनी पारी को लेकर उन्होंने कहा कि उन्हें पता था कि उस विकेट पर 270 के लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। हम क्रीज पर कुछ वक्त बिताना चाहते थे और मुझे अपनी काबिलियत पर पूरा भरोसा था। रहाणे ने कहा कि हमारे गेंदबाजों ने काफी अच्छी गेंदबाजी की थी। मुझे नंबर 4 पर बल्लेबाजी करके काफी मजा आया, मैं और भी बेहतर प्रदर्शन की कोशिश करुंगा। गौरतलब है भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच दूसरा वनडे मैच खेला जाएगा। सीरीज में भारतीय टीम 1-0 से आगे है। वहीं सीरीज के बाकी बचे मैचों के लिए एडेन मार्कराम को दक्षिण अफ्रीका का कप्तान चुना गया है। नियमित कप्तान फाफ डू प्लेसी चोट की वजह से सीरीज के बाकी बचे मैचों से बाहर हो गए हैं, इसलिए मार्कराम को टीम का कप्तान बनाया गया है। डरबन वनडे में 120 रन बनाने वाले दक्षिण अफ़्रीकी कप्तान फ़ाफ़ डू प्लेसी को फ़ील्डिंग के दौरान उंगली में चोट आई थी। जिसके बाद इस बात का ख़ुलासा हुआ कि फ़ाफ़ की उंगली में फ़्रैक्चर है और अब वह वनडे और टी20 सीरीज़ से बाहर हो गए हैं। पहले डीविलियर्स और अब डू प्लेसी के बाहर होने की वजह से दक्षिण अफ्रीका को करारा झटका लगा है। पहला मैच हारकर टीम पहले ही संकट से जूझ रही है और ऐसे में इन दो स्टार खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी से टीम के प्रदर्शन पर काफी असर पड़ेगा। चोटिल एबी डीविलियर्स चौथे मैच से वापसी कर सकते हैं।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...