मुझे रिकॉर्ड से मतलब नहीं मैं सिर्फ रन बनाना चाहता हूं: चेतेश्वर पुजारा

भारतीय टीम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा घरेलू क्रिकेट में लगातार रन बना रहे हैं और नई ऊंचाइयों को छू रहे हैं। गुरुवार को रणजी ट्रॉफी के एक मुकाबले में उन्होंने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट का 12वां दोहरा शतक जड़ा। पुजारा ने झारखंड टीम के खिलाफ 28 चौके लगाते हुए 204 रन बनाए। इस तरह से उन्होंने विजय मर्चेंट का लगभग 70 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया। इससे पहले विजय मर्चेंट के नाम प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे ज्यादा दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड था। उन्होंने 11 दोहरे शतक लगाए थे, वहीं सुनील गावस्कर और राहुल द्रविड़ के नाम 10-10 दोहरे शतक हैं। पुजारा ने अपने दोहरे शतक के रिकॉर्ड पर एक वेबसाइट से बातचीत में कहा है कि क्रिकेट के इतने बड़े दिग्गजों के रिकॉर्ड को तोड़ना काफी बड़ी उपलब्धि है लेकिन वो सिर्फ अपने खेल पर ही फोकस करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि महान खिलाड़ियों के रिकॉर्ड को तोड़ना व्यक्तिगत तौर पर बड़ी उपबल्धि है। लेकिन मैं सिर्फ क्रिकेट पर ही ध्यान लगाना चाहता हूं। मेरा ध्यान एक क्रिकेटर के तौर पर खुद में सुधार लाने और रन बनाने पर है। रिकॉर्ड बनेंगे और टूटेंगे भी लेकिन मैं सिर्फ रन बनाने पर ध्यान देना चाहता हूं। पुजारा ने कहा कि कभी आपके कम रन बनेंगे और कभी ज्यादा लेकिन मैं हर मैच के लिए तैयारी करता हूं, चाहे फिर वो घरेलू मैच हो या फिर अंतर्राष्ट्रीय मैच। पुजारा ने कहा कि मैं हर मैच में रन बनाने की कोशिश करता हूं। चाहे वो फिर क्लब मैच हो या फिर प्रथम श्रेणी मैच। मैं अपना विकेट सस्ते में नहीं गंवाना चाहता। मैं ये सुनिश्चित करता हूं कि मैं ज्यादा से ज्यादा रन बनाऊं। अगर आप नेट में पसीना बहाते हैं तो उसका आपको ईनाम मिलता है। मैं पूरी तरह से तैयारी करता हूं जिससे मुझे रन बनाने का पूरा भरोसा रहता है। गौरतलब है श्रीलंका के खिलाफ 3 मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए चेतेश्वर पुजारा को टीम में शामिल किया गया है। पहला मैच 16 नवंबर से खेला जाएगा।

Edited by Staff Editor