Create

मेरी जिंदगी गौतम गंभीर को समर्पित है: नवदीप सैनी

बंगाल के खिलाफ रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल मुकाबले में मैच के हीरो रहे नवदीन सैनी ने सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि उनका जीवन और सफलता पूरी तरह से गौतम गंभीर को समर्पित है। गौरतलब है नवदीप सैनी की खतरनाक गेंदबाजी के दम पर दिल्ली की टीम ने बंगाल को सेमीफाइनल मुकाबले में एक पारी और 26 रनों से हराकर रणजी ट्रॉफी के फाइनल में प्रवेश कर लिया। नवदीप सैनी ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन करते हुए मैच में 79 रन देकर 7 विकेट लिए और उन्हें मैन ऑफ द् मैच भी चुना गया। गौतम गंभीर ने ही सैनी को प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलने का मौका दिया था। मैच के बाद सैनी ने अपनी सफलता का पूरा श्रेय गौतम गंभीर को दिया और कहा कि मैं अपनी ये सफलता और ये जीवन पूरी तरह से गौतम गंभीर को समर्पित करता हूं। बिना गौतम भैय्या के मैं कुछ नहीं था, उन्होंने मेरे लिए सब कुछ किया। इससे पहले नवदीप सैनी को भारतीय टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाना था लेकिन उनकी जगह उत्तर प्रदेश के अंकित राजपूत को भेज दिया गया। इसके बाद गौतम गंभीर ने उन्हें रणजी ट्रॉफी का सेमीफाइनल मुकाबला खेलने को कहा। सैनी ने कहा कि मैं बहुत खुश था कि मैं भारतीय टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका जाउंगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बाद मैंने गौतम भैय्या (गौतम गंभीर) को कॉल किया और उन्होंने मुझसे कहा कि सेमीफाइनल मुकाबले के लिए दिल्ली को आपकी जरुरत है। उन्होंने कहा कि अगर तुम यहां अच्छा प्रदर्शन करोगे तो अपने आप ही भारतीय क्रिकेट टीम के ड्रेसिंग रुम में पहुंच जाओगे। सैनी ने कहा कि इसके बाद मैंने बिल्कुल भी नहीं सोचा।

गौरतलब है 2013-14 के सीजन में दिल्ली के पूर्व क्रिकेटर सुमित नरवाल ने करनाल के नवदीप सैनी को टेनिस बॉल टूर्नामेंट में लगातार यॉर्कर गेंद डालते देखा था। उस दौरान सैनी को प्रति मैच के हिसाब से 200 रुपए मिल रहे थे। उनको वहां पर इस तरह की गेंदबाजी करते देख सुमित नरवाल ने गौतम गंभीर को इस बारे में बताया और कहा कि वो नेट पर सैनी की गेंदबाजी को देखें। गंभीर उनकी गेंदबाजी से काफी प्रभावित हुए और तत्कालीन डीडीसीए के प्रेसिडेंट चेतन चौहान से उनकी इस बात को लेकर बहस भी हो गई कि हरियाणा के खिलाड़ी को दिल्ली की टीम में शामिल किया जाए। उस समय को याद करते हुए सैनी ने कहा कि गौतम भैय्या, आशीष भैय्या (नेहरा) और मिथुन मिन्हास ने मुझसे कहा कि जो हो चुका है उसे भूल जाओ तुम सिर्फ गेंदबाजी पर ध्यान दो।
Edited by Staff Editor
Be the first one to comment