पेशेवर खिलाड़‍ियों को टी10 क्रिकेट को बढ़ावा नहीं देना चाहिए, पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान ने दिया अहम सुझाव

इयान चैपल ने कहा कि पेशेवर क्रिकेटरों को टी10 प्रारूप को बढ़ावा नहीं देना चाहिए
इयान चैपल ने कहा कि पेशेवर क्रिकेटरों को टी10 प्रारूप को बढ़ावा नहीं देना चाहिए

ऑस्‍ट्रेलिया (Australia Cricket team) के पूर्व कप्‍तान इयान चैपल (Ian Chappell) ने क्रिकेट के प्रारूपों में बदलाव को लेकर क्रिकेट जगत को चेतावनी दी है। चैपल ने कहा कि क्रिकेट प्रारूप में बड़े बदलाव से पहले एक बार इतिहास पर नजर डालना सही रहेगा।

टी20 प्रारूप ने पिछले कुछ सालों में काफी लोकप्रियता हासिल की और विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के परिचय के बाद टेस्‍ट क्रिकेट प्रारूप के प्रति भी दिलचस्‍पी बढ़ी है। मगर 50 ओवर प्रारूप संघर्ष कर रहा है। कई विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि वनडे प्रारूप में बदलाव की जरूरत है।

पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान वसीम अकरम ने हाल ही में वनडे प्रारूप को खत्‍म करने की सलाह दी थी। वहीं शाहिद अफरीदी ने कहा था कि 10 ओवर घटाकर इसे 40 ओवर का कर देना चाहिए। टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच रवि शास्‍त्री ने अफरीदी की सलाह का समर्थन किया था।

दरअसल, इंग्‍लैंड के स्‍टार ऑलराउंडर बेन स्‍टोक्‍स ने हाल ही में वनडे क्रिकेट से संन्‍यास लेकर क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया था। दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर 50 ओवर प्रारूप को रद्द कर दिया, जबकि 2023 विश्‍व कप में उसका क्वालिफिकेशन इससे अटक सकता है। क्रिकेट साउथ अफ्रीका चाहता है कि वो नई घरेलू टी20 लीग का आयोजन करने जा रहा है, जिसमें उसके सभी प्रमुख खिलाड़ी मौजूद रहें।

इयान चैपल ने ईएसपीएनक्रिकइंफो में अपने कॉलम में लिखा, 'मौजूदा खिलाड़ी अधिकांश आईपीएल में दिलचस्‍पी दिखा रहे हैं या यूं कहें कि जब बात संतुष्टि की आती है तो टी20 क्रिकेट को टॉप पर रखा जा रहा है। यही वजह है कि खेल के भविष्‍य पर चिंतन की जरूरत है। इस बात का फैसला करने की जरूरत है कि क्रिकेट के लिए कितने खेलने वाले प्रारूप सर्वश्रेष्‍ठ है। एक बार यह फैसला हो जाए, तो फिर यह पुष्टि करने की जरूरत है कि कैसे प्रारूपों को आगे बढ़ाया जाएगा।'

चैपल का मानना है कि वनडे प्रारूप में स्थिरता के कारण टी20 क्रिकेट का उदय हुआ। मगर सवाल उठता है कि आगे क्‍या? उन्‍होंने कहा कि टी20 क्रिकेट युवाओं के लिए जंचता है क्‍योंकि उन्‍हें जरूरी शैली अपनाने में अन्‍य प्रारूप के मुकाबले कम समय लगता है। मगर पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी ने टी10 क्रिकेट के बढ़ावे पर चेतावनी दी है। उनका मानना है कि टी20 मैच पर्याप्‍त मनोरंजन उपलब्‍ध करा रहे हैं और पेशेवर क्रिकेटरों को टी10 प्रारूप को बढ़ावा नहीं देना चाहिए।

इयान चैपल ने कहा, 'टी20 क्रिकेट का उदय 50 ओवर क्रिकेट में स्थिरता के कारण बढ़ा है। यह सवाल उठने लगा कि अगर फैंस 20 ओवर क्रिकेट से बोर हुए तो फिर क्‍या किया जाएगा। क्रिकेट में टी10 लीग का परिचय हो चुका है और यह कल्‍पना करना मुश्किल नहीं कि इस प्रारूप को बढ़ावा मिलेगा। टी10 क्रिकेट को पेशेवर क्रिकेटरों को बढ़ावा नहीं देना चाहिए।'

Quick Links

App download animated image Get the free App now