ICC CT 2017: इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को डकवर्थ-लुईस नियम की मदद से 40 रनों से पराजित किया

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में शनिवार को खेले गए मुकाबले में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर 40 रनों से पराजित कर दिया। इसी के साथ मेजबान टीम ने कंगारुओं को टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता भी दिखाया। बेन स्टोक्स (102*) के शानदार शतक की बदौलत इंग्लैंड ने मेहमान टीम को आसानी से पराजित कर दिया। इसके अलावा इंग्लैंड ने अपने ग्रुप चरण को नंबर एक स्थान के साथ समाप्त किया। बेन स्टोक्स को उनकी शतकीय पारी की बदौलत मैन ऑफ़ द मैच चुना गया। ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड के सामने 50 ओवर में 278 रनों का लक्ष्य रखा, जिसके जवाब में इंग्लैंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही, वही कंगारू गेंदबाजों ने मेजबान टीम को शुरूआती झटके दिए। इंग्लैंड ने अपने तीन विकेट मात्र 35 के स्कोर पर ही गंवा दिए। तेज़ गेंदबाज़ मिचेल स्टार्क ने जेसन रॉय (4) के रूप में इंग्लैंड को पहला झटका दिया। इस समय टीम का स्कोर सिर्फ 4 रन था। इसके बाद एलेक्स हेल्स (0) भी जल्दी ही आउट होकर वापस पवेलियन चले गए। उनको तेज़ गेंदबाज़ जोश हेज़लवुड ने आरोन फिंच के हाथों की शोभा बनाया। इसके बाद जो रूट (15) भी जोश हेज़लवुड का ही शिकार बने। इस समय ऐसा लग रहा था जैसे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ इंग्लैंड की पारी को बहुत जल्दी समेट देंगे, लेकिन बेन स्टोक्स और कप्तान इयोन मॉर्गन ने चौथे विकेट के लिए मिलकर 159 रनों की अहम साझेदारी निभाई। खतरनाक होती दिख रही इस साझेदारी को एडम ज़म्पा ने इयोन मॉर्गन (87) को रन-आउट करके तोड़ा। उन्होंने अपनी इस पारी में 8 चौके और 5 छक्के जमाए। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे जॉस बटलर (29*) ने भी कुछ आक्रामक शॉट्स खेलकर मैदान में मौजूद दर्शकों का मनोरंजन किया। बेन स्टोक्स (102*) ने भी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की जमकर पिटाई लगाई, जिसकी बदौलत इंग्लैंड कंगारू टीम को हराने में कामयाब हो सका, वहीँ मैच में बारिश ने ख़लल डाल दिया, जिसके बाद खेल को अम्पायरों द्वारा बीच में ही रोक दिया गया। काफी देर बाद तक बारिश नहीं रुकने के कारण इंग्लैंड को डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर 40 रनों से विजयी घोषित किया गया। इस समय इंग्लैंड का स्कोर 40.2 ओवर में 240/4 था। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जोश हेज़लवुड को 2 और मिचेल स्टार्क को 1 विकेट हासिल हुआ। इन दोनों के अलावा मेहमान टीम का कोई भी गेंदबाज़ सफलता हासिल नहीं कर सका। इससे पहले इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले ऑस्ट्रेलिया को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया, जिसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड के सामने 50 ओवर में 277/9 का स्कोर खड़ा किया। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सलामी बल्लेबाज़ आरोन फिंच (68), कप्तान स्टीव स्मिथ (56) और ट्रेविस हेड (71*) ने अपनी टीम के लिए शानदार पारियां खेलीं, लेकिन वे अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके। इन सभी के अलावा सलामी बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर (21), मोईसिस हेंरिक्स (17) और ग्लेन मैक्सवेल (20) ने भी उपयोगी पारियां खेलीं, वहीँ विकेटकीपर बल्लेबाज़ मैथ्यू वेड (2), मिचेल स्टार्क (0), पैट कमिंस (4) और एडम ज़म्पा (0) अपनी टीम के लिए कुछ ख़ास नहीं कर सके और सस्ते में ही इंग्लैंड के गेंदबाजों का शिकार बने। इन सभी के अलावा जोश हेज़लवुड (1*) वापस नाबाद पवेलियन लौटे। इंग्लैंड की तरफ से तेज़ गेंदबाज़ मार्क वुड ने अपनी गेंदबाजी का कहर बरपाते हुए कंगारू टीम के 4 बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। इनके अलावा मेजबान टीम के स्पिनर आदिल रशीद ने भी घातक गेंदबाजी का नज़ारा पेश करते हुए ऑस्ट्रेलिया के 4 विकेट चटकाए। इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने भी विपक्षी टीम के 1 बल्लेबाज़ को अपना शिकार बनाया। बेन स्टोक्स को उनकी बेहतरीन शतकीय पारी की बदौलत मैन ऑफ़ द मैच के पुरस्कार से भी नवाज़ा गया। उन्होंने 109 गेंदों में 102 रनों की नाबाद शतकीय पारी खेली, जिसमें बाएं हाथ के खतरनाक बल्लेबाज़ ने 13 चौके और 2 गगनचुम्बी छक्के जमाए, उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को अपने विकेट के लिए तरसा दिया। इससे पहले इंग्लैंड ने बांग्लादेश और न्यूजीलैंड को ग्रुप ए के मुकाबलों में पराजित किया था, जिसके बाद अब ऑस्ट्रेलिया को हराकर टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखा दिया। ग्रुप ए से इंग्लैंड और बांग्लादेश की टीमें सेमी-फाइनल में अपनी-अपनी जगह सुनिश्चित कर चुकी हैं।

Edited by Staff Editor