Create
Notifications

आईसीसी जल्द लगा सकती है टेस्ट चैंपियनशिप पर मुहर: रिपोर्ट

Rahul

वर्तमान समय में क्रिकेट के सबसे बड़े प्रारूप टेस्ट क्रिकेट की महत्वता टी20 क्रिकेट के आगे कमजोर नजर आती है। टेस्ट क्रिकेट के महत्व को एक बार फिर से क्रिकेट में लाने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने अहम फैसला लिया है। आईसीसी ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के विचारों पर मुहर लगाने का फैसला किया है। ऑस्ट्रेलिया के एक निजी अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार 9 देशों के बीच टेस्ट चैंपियनशिप को आईसीसी ने पुनः विचार करके अमल में लाने का फैसला लिया है। ऑकलैंड में हुई आईसीसी की बैठक के दौरान इस फैसले को हरी झंडी दिखाई गई। इस चर्चा को लेकर आईसीसी ने कहा कि टेस्ट चैंपियनशिप का पहला दौर 2 साल के लिए होगा, जो टीमें 2 साल के अन्तराल में सबसे ऊपर रहेंगी, उन दो टीमों के बीच फाइनल मुकाबला 2019 में लॉर्ड्स के मैदान में खेला जायेगा। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के चीफ एग्जीक्यूटिव जेम्स सदरलैंड ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह चैंपियनशिप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में टेस्ट फॉर्मेट का दर्जा अब और ज्यादा बढ़ा देगी। इस चैंपियनशिप के महत्वता द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज पर निर्भर होगी और साथ ही यह चैंपियनशिप द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज से भी ज्यादा चर्चित होगी। इस तरह के फैसले क्रिकेट को हर फॉर्मेट में कायम करने के लिए उठाये जाते हैं क्योंकि यह सभी फॉर्मेट क्रिकेट का हिस्सा है और इनका रोमांच खत्म न हो इसलिए यह फैसला लिया गया है। टेस्ट क्रिकेट को फिर से जिंदा करने के लिए आईसीसी ने लगातार प्रयास किये हैं। इससे पहले डे-नाईट टेस्ट का प्रयोग और गुलाबी गेंद से टेस्ट मैचों का आयोजन आईसीसी द्वारा किये गए प्रयासों में से एक उदाहरण के रूप में है। विश्व में टी20 लीग का लगातार बढ़ना टेस्ट क्रिकेट के रोमांच को कम करने लगा था लेकिन आईसीसी के इस फैसले के बाद टेस्ट फॉर्मेट को एक नई ताकत मिलेगी।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...