Create

आईसीसी ने न्यूट्रल अंपायरों को फिर से लाने का किया ऐलान

आईसीसी जल्दी ही इस बारे एम् ऐलान कर सकती है
आईसीसी जल्दी ही इस बारे एम् ऐलान कर सकती है

आईसीसी (ICC) के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले ने खुलासा किया है कि वर्ल्ड गवर्निंग बॉडी अंतरराष्ट्रीय मैचों में तटस्थ अंपायरों को फिर से नियुक्त करने के लिए तैयार है। कोरोना महामारी की वजह से पिछले दो सालों से मेजबान देश के अम्पायर ही अंपायरिंग करते आ रहे हैं। आईसीसी एक बार फिर से न्यूट्रल अंपायरों को लाने पर विचार कर रही है।

एक रिपोर्ट के अनुसार बार्कले ने कहा है कि मुझे लगता है कि कोरोना के दिनों में घरेलू अंपायरों को टेस्ट अंपायरिंग के लिए खड़े होने का कुछ मौका मिला। इसने चीजों को थोड़ा बड़ा कर दिया। यदि आप आंकड़ों को देखें, तो आप देख सकते हैं कि तटस्थ अंपायरों की तुलना में टीमों के प्रदर्शन में काफी कुछ था। अब हम कोरोना की दूसरी साइड की तरफ हैं और तटस्थ अंपायरोंं को फिर से ला रहे हैं। दो सप्ताह पहले बोर्ड मीटिंग में यह फैसला लिया गया। हम तटस्थ अंपायरों को बैक अप लेते हुए फिर से काम करते हुए देखेंगे। परिचालन संबंधी समस्याओं के कारण मैं आपको तारीख नहीं बता सकता, लेकिन जल्द ही ऐसा होगा।

बार्कले ने वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के बारे में भी प्रतिक्रिया दी और कहा कि इससे लम्बे प्रारूप को बढ़ावा देने में मदद मिली है। उन्होंने कहा कि वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का पहला साइकल सफल रहा था और अब हम दूसरे साइकल में हैं। क्रिकेट परिदृश्य में टेस्ट क्रिकेट अब भी एक बड़ा हिस्सा है। सभी टीमों को खेलने का समान अवसर बनाने की रणनीति में टेस्ट क्रिकेट एक बड़ा हिस्सा है। हालांकि टी20 प्रोफाइल अभी सबसे ऊपर है।

गौरतलब है कि वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के पहले साइकल में न्यूजीलैंड और भारत के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया था। कीवी टीम ने इसमें जीत दर्ज करते हुए पहला संस्करण अपने नाम किया था।

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment