COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्डकप 2019 के लिए भारत के 3 संभावित बैकअप विकेटकीपर

25   //    26 Jul 2018, 11:59 IST

आईसीसी विश्वकप 2019 के लिए एक साल से भी कम समय बचा है और बीसीसीआई चयनकर्ताओं के साथ यह सुनिश्चित कर रही हैं कि सर्वश्रेष्ठ संभावित टीम को तैयार किया जाए ताकि भारतीय टीम तीसरी बार इस प्रतिष्ठित ट्रॉफी को उठाने में कामयाब हो सके। दुनिया भर में भारतीय प्रशंसक यह देखने के लिए उत्सुक है कि कैसे कोहली कप्तान के रूप में अपने पहले विश्व कप में इंग्लैंड और वेल्स की सरज़मीं पर टीम का नेतृत्व करते हैं।

चयनकर्ताओं को मौजूदा टीम के सामने हो रही बड़ी समस्याओं को हल करने की आवश्यकता है। छठा गेंदबाजी विकल्प कौन होगा? चौथे नंबर के बल्लेबाज के रूप में सबसे उपयुक्त विकल्प कौन रहेगा?

ये बात हम सभी को पता है कि एसएस धोनी अपने करियर के समाप्ति के पास हैं और ऐसे में प्रबंधन को उनके लिए एक उपयुक्त प्रतिस्थापन खोजने की जरूरत है। 37 की उम्र में धोनी अभी भी एक विकेटकीपर और रणनीतिकार के रूप में और मजबूत हो रहे हैं लेकिन उनकी बल्लेबाजी कौशल थोड़ा खराब हो गया है और शायद अब समय युवा विकेटकीपिंग-बल्लेबाज को बड़े स्तर पर मौका देने का आ गया है।

यहां तीन ऐसे खिलाड़ी हैं जो बैकअप विकेटकीपर के रूप में सबसे अच्छा विकल्प बन सकते हैं और यहां तक ​​कि आने वाले मौकों पर एमएस धोनी की जगह टीम के स्थिर विकेटकीपर हो सकते हैं-

विशेष उल्लेख- केएल राहुल और ईशान किशन


#3 संजू सैमसन


2013 में राजस्थान रॉयल्स के लिए इंडियन प्रीमियर लीग में अपने शानदार प्रदर्शन के साथ संजू सैमसन लाइमलाइटट में आए। 23 वर्षीय खिलाड़ी आईपीएल में 1000 रन बनाने वाले सबसे कम उम्र के बल्लेबाज बने हुए हैं। इसके अलावा, वह रणजी ट्रॉफी में केरल टीम का नेतृत्व करने वाले सबसे कम उम्र के कप्तान हैं।

2014 में संजू ने राष्ट्रीय टीम में कदम रख दिया लेकिन एमएस धोनी के बैकअप कीपर बने रहे। जुलाई 2015 में जिम्बाब्वे के खिलाफ अपने अंतरराष्ट्रीय टी-20 करियर की शुरूआत करने के बाद सैमसन आज तलाशे गये भारत के सबसे युवा बल्लेबाजों में से एक है।

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज शेन वॉर्न ने भी सैमसन की प्रशंसा का थीं-

वह सभी परिस्थितियों में गति और स्पिन के खिलाफ अच्छा है और मुझे लगता है कि वह भारतीय क्रिकेट का अगला सुपरस्टार बनने जा रहा है। वह नया रॉकस्टार है, संजू सैमसन जो निश्चित रूप से है। वह एक उत्कृष्ट खिलाड़ी है और वह एक गुणवत्ता वाला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर है। फिलहाल भारत इस समय कई प्रतिभावान खिलाड़ियों से भरा है, मुझे लगता है कि हमारा संजू सैमसन पंत के साथ बढ़िया है। मुझे लगता है कि वह दो लड़के शायद दो सर्वश्रेष्ठ युवा भारतीय बल्लेबाज़ हैं जिन्हें मैंने लंबे समय बाद देखा है।

संजू सैमसन के करियर ने एक और मोड़ लिया जब वह यो-यो टेस्ट में खराब प्रदर्शन के बाद इंग्लैंड दौरे के लिए भारत-ए टीम में शामिल होने में नाकाम रहे। राहुल द्रविड़ समेत भारतीय विशेषज्ञों द्वारा अत्यधिक प्रिय, सैमसन के पास अभी भी विश्व कप के लिए वरिष्ठ टीम में एक और मौका पाने के लिए अपनी फिटनेस पर काम करने का समय है। यो-यो टेस्ट में कम स्कोर निश्चित रूप से एक बार फिर से राष्ट्रीय पक्ष में जगह बनाने के लिए एक प्रेरणा के रूप में कार्य कर सकता है।
1 / 3 NEXT
Advertisement
Fetching more content...