Create
Notifications

जब आशीष नेहरा 36 साल की उम्र में वापसी कर सकते हैं, तो मैं 31 में क्यों नहीं: इरफ़ान पठान

Syed Hussain

भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे ऑलराउंडर इरफ़ान पठान ने अभी भी अपनी वापसी की उम्मीदें नहीं छोड़ी हैं। भारत को पहला वर्ल्ड टी20 चैंपियन बनाने में इस बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ का प्रदर्शन यादगार रहा था, पाकिस्तान के ख़िलाफ़ फ़ाइनल में पठान को ‘मैन ऑफ़ द मैच’ से नवाज़ा गया था। पठान लगातार टीम इंडिया से अंदर-बाहर होते रहे हैं, 31 वर्षीय इस खिलाड़ी ने भारत के लिए आख़िरी बार 2012 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ वनडे में नज़र आए थे। आप ये जानकर हैरान रह जाएंगे कि अपने आख़िरी अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैच में मैन ऑफ़ द मैच भी रहे थे। पठान ने उस मैच में बल्ले से 29 नाबाद रन बनाए थे और फिर गेंद से 5 विकेट भी झटके थे, लेकिन उसके बावजूद इरफ़ान पठान को दोबारा टीम इंडिया में जगह नहीं मिल पाई। हालांकि पठान घरेलू क्रिकेट में भी लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हैं, और यही वजह है कि बड़ौदा के इस तेज़ गेंदबाज़ को अपनी वापसी पर पूरा भरोसा है। ''पिछले सत्र में अपने प्रदर्शन से मैं बेहद उत्साहित हूं और उसी प्रदर्शन को इस बार भी दोहराने की पूरी कोशिश करूंगा। मेरा पहला लक्ष्य है बड़ौदा के लिए बेहतरीन खेल दिखाते हुए रणजी में उन्हें चैंपियन बनाना। जिसके लिए इस सीज़न की शुरुआत मैंने जेपी आत्रे में बेहतरीन प्रदर्शन के साथ की है, मैं ये मानता हूं कि टीम इंडिया के दरवाज़े मेरे लिए अभी बंद नहीं हुए हैं। जब आशीष नेहरा 36 साल की उम्र में टीम इंडिया में वापसी कर सकते हैं तो 31 साल का होते हुए मैं क्यों नहीं।'' :इरफ़ान पठान (साभार:हिन्दुस्तान टाइम्स) पठान के लिए आईपीएल का ये सीज़न भी अच्छा नहीं गया था, जहां वह महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में राइज़िंग पुणे सुपरजायंट्स का हिस्सा थे। जहां उन्हें बेहद कम मौक़े मिले थे और जो मिले भी थे उसमें पठान कुछ ख़ास नहीं कर पाए।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...