इमरान ख़ान ने बताया विराट कोहली को सचिन से इस चीज़ में बेहतर

हाल के दिनों में विराट कोहली के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए, अक्सर हमें उनकी और सचिन तेंदुलकर की तुलना देखने को मिलती हैं । हाल ही में इस लिस्ट में एक नाम और जुड़ा हैं और वो हैं पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इमरान खान का जिन्होने कुछ दिनों पहले इस मामले में अपनी चुप्पी तोड़ी हैं। इमरान खान ने हिंदुस्तान टाइम से बातचीत के दौरान कहा,"क्रिकेट में हमेशा अपने एरा रहे हैं। जैसे 80 के दशक में विव रिचर्ड्स, उसके बाद सचिन तेंदुलकर और ब्रायन लारा। विराट कोहली भी इस समय के कंप्लीट प्लेयर्स में से हैं, जिसे मैंने देखा हो। वो काफी वर्सटाइल हैं, खासकर वो मैदान के दोनों तरफ रन बना सकते हैं।" विराट का चेज़ करते हुए रिकॉर्ड शानदार हैं, उनके आंकड़े यह दिखाते हैं कि उनको प्रेशर में खेलना पसंद हैं। उनके कुछ शानदार पारियाँ रनों का पीछा करते हुए ही आई हैं और उनका हाल ही में खत्म हुए आईपीएल और आईसीसी वर्ल्ड टी-20 में भी उनका प्रदर्शन शानदार रहा। सचिन और कोहली में से कौन बेहतर हैं? अगर इन दोनों की बात करें तो इमरान ने कहा,"टैलंट और टेक्निक के अलावा विराट का टेमप्रामेंट सचिन से काफी अच्छा हैं। कोहली का प्रदर्शन प्रेशर में बेहतर हो जाता है और वो लगभग हर बार ही रन बनाते हैं, लेकिन सचिन कई बार मुश्किल स्थिति में रन बनाने से चूक जाते थे।" इमरान कोलकाता के ईडन गार्डेन स्टेडियम में मौजूद थे जब पाकिस्तान का सामना भारत से हुआ था, वो भी आईसीसी वर्ल्ड टी-20 में। हालांकि उस मैच में पाकिस्तान की टीम को भारत के हाथों वर्ल्ड कप में एक और करारी हार का सामना करना पड़ा था। कोहली ने उस मैच में 37 गेंदों पर शानदार 55 रन बनाए थे और भारत को आसान जीत दिलाई थी। इमरान ने उस पारी की काफी तारीफ की थी। इमरान ने कहा,"पाकिस्तान को हारते देखना निराशाजनक था, लेकिन कोहली ने उस मुक़ाबले में शानदार पारी खेली। मैं एक बल्लेबाज़ को एक गेंदबाज के नज़रिये से देखता हूं और यह सोचता हूं कि मैं उन्हें कैसे आउट करूंगा। लेकिन जिस तरह वो खेलते हैं, वो इस समय सबसे अच्छे बल्लेबाज़ हैं। आप उन्हें किसी भी मुक़ाबले में खिला सकते हैं।" भारत-पाकिस्तान सीरीज़ भारत और पाकिस्तान की टीमों ने काफी समय से एक साथ कोई सीरीज़ नहीं खेली हैं, जिसका क्रिकेट से कोई लेना देना नहीं हैं। इमरान को लगता हैं, इन दोनों देशों को एक साथ खेलना दोबारा शुरू करना चाहिए। उन्होने कहा कि मैंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी इसपर बात करने के लिए कहा हैं। इमरान ने कहा,"यह काफी गलत हैं, पाकिस्तान को उस जुर्म कि सज़ा मिल रही हैं। जिसमे उसका कोई हाथ ही नहीं हैं। हमने हमेशा ही मुंबई और पठनकोट पर हुए हमले की हैं। आपको पता होना चाहिए, हमसे ज्यादा कोई आतंक से पीड़ित नहीं हैं। तो अगर आप एक ऐसे देश को आतंक के लिए सज़ा दोगे, जो इससे सबसे ज्यादा पीड़ित हैं। तो यह काफी निराशाजंक फैसला हैं।" निश्चित ही यह दोनों देश आपस में दोबारा खेलना चाहेंगे। लेखक- पल्ल्ब चैटरजी, अनुवादक- मयंक महता

Edited by Staff Editor